पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

यादगार किरदार कैसे बनाएं

आप उनसे ख़ुद को जोड़ सकते हैं। वो आपको अपने अनुभवों में कम अकेला महसूस करवाते हैं। आप उनसे नफ़रत करते हैं, उन्हें प्यार करते हैं, और आपको उनसे नफ़रत करना अच्छा लगता है। ऐसा नहीं है कि आपके पसंदीदा किरदार गलती से वैसे बन जाते हैं, और आपके लिए यह अच्छी ख़बर है कि ऐसे जांचे-परखे फॉर्मूले मौजूद हैं, जो उतने ही - या फिर शायद उनसे भी ज़्यादा दिलचस्प किरदार बनाने में आपकी मदद कर सकते हैं।

अपनी जगह पर बने रहें! हम जल्दी ही, नए लोगों से लेकर पेशेवरों तक, सीमित संख्या में बीटा टेस्टरों के लिए SoCreate का पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर लॉन्च करने के बहुत करीब आ गए हैं। इस पेज से बाहर निकले बिना,

तो, बिना किसी देरी के, आइए मिलते हैं उन कुछ उल्लेखनीय किरदारों से जो वास्तविक जीवन में मनोरंजन उद्योग के पेशेवरों की भूमिका निभाते हैं! उन्होंने बड़ी ही विनम्रतापूर्वक अपने चरित्र विकास के सुझाव दिए हैं ताकि आप उनके चरित्र विकास के चार रहस्यों को जान सकें। इस ब्लॉग में नीचे इन पेशेवरों के बारे में ज़्यादा जानें।

यादगार किरदार कैसे बनाएं

1.  आप जिसे भी और जो भी जानते हैं उसके आधार पर लिखें

मोनिका पाइपर ने बताना शुरू किया, "मुझे लगता है लोग सबसे अच्छा उससे लिखते हैं जो वो जानते हैं। अपना नाटक लिखते समय, मैंने अपनी दादी के बारे में सोचा था। जैसे, वो कैसे गाड़ी चलाती थी? वो हमेशा अपने साथ बैठे लोगों के चेहरे के हाव-भाव देखा करती थी। मैं अपने किरदारों में किसी ऐसे व्यक्ति की सच्चाई और जानकारी मिलाती हूँ, जिन्हें मैं अच्छे से जानती हूँ - जैसे कोई हाज़िरजवाब दोस्त, रिश्तेदार, पड़ोसी। अपने आसपास के लोगों को देखें। कभी-कभी बस कहीं नोटबुक के साथ बैठ जाएँ और लोगों को देखते रहें।

अपने किरदार के लक्ष्यों, प्रेरणाओं, विचित्रताओं और शक्तियों की गहरी समझ पाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप उन्हें ऐसे लोगों या लोगों के तत्वों पर आधारित करें, जिन्हें आप पहले से जानते हैं। यही वो जगह है, जहाँ लेखन समूहों में "वो लिखें जो आप जानते हैं" वाले वाक्य पर चर्चा होती है। यह अच्छी सलाह है क्योंकि आप अपने जीवन की स्थितियों और लोगों को एक अनोखे तरीके से देखते हैं। वह दृष्टिकोण उन लोगों को समझ आएगा जो आपके जैसा सोचते हैं या आपसे बिल्कुल अलग सोचते हैं। यहीं से भावना पैदा होती है और दर्शकों को आपकी कहानी से जोड़े रखती है।

2. ख़ुद से और अपने किरदारों से ढेर सारे सवाल करें

रिकी रॉक्सबर्ग ने बताया, "मैं जो सबसे ज़रूरी चीज़ करता हूँ वो ये कि मैं ख़ुद से बहुत सारे सवाल पूछता हूँ। मेरे पास सवालों की एक सूची है जो मैं ख़ुद से पूछता हूँ। जैसे, यह किरदार ख़ुद को कैसे देखता है? अन्य किरदार इस व्यक्ति को कैसे देखते हैं?"

अपने आप से पूछे जाने वाले दूसरे सवालों को आपके किरदार की आंतरिक और बाहरी विशेषताओं में विभाजित किया जा सकता है: उनके बाहरी लक्ष्य क्या हैं? उन्हें आंतरिक रूप से कैसे बदलने की ज़रूरत है? उनके जीवन का अनुभव उनकी शारीरिक छवि पर कैसे दिखाई देता है? उन्हें किस चीज़ से डर लगता है?

मोनिका पाइपर के इन किरदार के विकास से जुड़े सवालों और अपनी पटकथा में लिखे जाने वाले हर किरदार से पूछने के लिए 20 सवालों की इस सूची के साथ अपने किरदार को अच्छी तरह जानने के लिए थोड़ा समय निकालें।

3. किरदारों को एक इकोसिस्टम की तरह सोचें

"आपको हर किरदार को अलग से सोचने की ज़रूरत नहीं है। आपको अपने किरदारों के पूरे समूह को एक इकोसिस्टम की तरह सोचने की ज़रूरत होती है और आपको यह जानना पड़ता है कि उनमें से हर एक दूसरे पर क्या दबाव डालता है," रॉस ब्राउन ने कहा। "आपको इसे किरदारों की सूची के बजाय, एक पहिये की तरह सोचना चाहिए जिसके बीच में आपका मुख्य किरदार होता है, और उसके छड़ आपकी कहानी के दूसरे किरदार होते हैं, उसके बाद ख़ुद से यह सवाल करें कि इनमें से प्रत्येक सहायक किरदार आपके मुख्य किरदार पर किस तरह से अलग-अलग चुनौती, दबाव, मांग, आदि डालता है, और उससे आपको अपने मुख्य किरदार और सहायक किरदारों दोनों को विकसित करने में मदद मिलेगी।"

रॉक्सबर्ग का तरीका भी ऐसा ही है।

"अनोखे किरदारों में कमियां और खूबियां होती हैं, और उनमें ग्रे शेड होते हैं। जब आपको एक ऐसा किरदार मिल जाता है, जिसमें कुछ ऐसी चीज़ें होती हैं, जो आपके मुख्य किरदार के लिए वास्तविक लगती हैं तो उसके बाद उन अन्य किरदारों को वहाँ से बनाया जा सकता है, जो आपके किरदार को उसके सहज क्षेत्र से बाहर निकालते हैं, उन्हें कोई ऐसी सच्चाई बताते हैं जो वो नहीं सुनना चाहते, और आपके किरदार की कमियों को बाहर लाते हैं। और फिर आप ख़ुद से उन किरदारों के बारे में भी वही सवाल पूछ सकते हैं और उनका निर्माण कर सकते हैं।"

किरदारों को विकसित करते समय, उन्हें अपनी पटकथा में अन्य किरदारों के साथ जोड़कर देखें। कहानी को आगे बढ़ाने या तनाव बढ़ाने के लिए कैसे वो एक-दूसरे के साथ काम करते हैं या एक-दूसरे के ख़िलाफ़ काम करते हैं? सहायक किरदार पैसे के मामले में बहुत अच्छा हो सकता है, जबकि नायक जुए का शौक़ीन हो सकता है। साथ ही, कोई दूसरा दोस्त एक लोन शार्क हो सकता है, जो नायक को अपने तरीके से फंसाए रखता है। हमेशा उस महत्वपूर्ण भूमिका पर विचार करें, जो प्रत्येक किरदार निभाता है।

4. तीन का नियम प्रयोग करें

"किरदार के विकास के बारे में महत्वपूर्ण बात यह है कि हमें यह दिखाने के लिए कुछ पलों की ज़रूरत होती है कि वो कहाँ से शुरुआत कर रहे हैं, और वो कैसे सीख रहे हैं, और फिर वो कैसे बढ़ रहे हैं, और ऐसा करने के लिए केवल तीन दृश्य लगते हैं, है ना?" ब्रायन यंग ने बताया। "मान लीजिये, वो कुत्तों से डरते हैं, है ना? पहले दृश्य में, आपको दिखाना होगा कि वो कुत्तों से डरते हैं। कहीं न कहीं फ़िल्म के बीच में, आपको यह दिखाना होगा कि ऐसा ज़रूरी नहीं है ... जैसे वो उसपर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वे निश्चित नहीं हैं। और फिर, आख़िरी में, उन्हें कुत्ते का सामना करना पड़ता है। वहाँ आपको किरदार के विकास की एक बहुत स्पष्ट रेखा मिल गयी है, क्योंकि इसे आपने एक कहानी के रूप में देखा है। किरदार के विकास में मदद करते समय तीन का यह नियम वास्तव में आपका साथी होता है।"

यंग का तीन का नियम आपके किरदार के लिए आर्क बनाने के बारे में बताता है, जो उनके अपना भावनात्मक सफ़र होता है जो आपकी कहानी के कथानक के अनुरूप होता है। यह पता लगाने के लिए कि आपके किरदार कहाँ फिट होते हैं, तीन मुख्य प्रकार के चरित्र आर्क के बारे में ज़्यादा जानें।

याद रखें, आपकी पटकथा के हर एक किरदार को, यहाँ तक कि आपके खलनायक को भी, इस प्रक्रिया के माध्यम से अच्छी तरह से जांचा-परखा जाना चाहिए। अगर आपकी सूची बढ़ती जा रही है तो इससे किरदारों को छांटने में भी मदद मिलेगी, किरदारों को ज़्यादा रोमांचक और असरदार बनाने के लिए उन्हें एक में जोड़ें, और ऐसे किरदारों को हटा दें जो आपकी कहानी के लिए कहीं से भी महत्वपूर्ण नहीं हैं।

और नाम भी मायने रखते हैं! हालाँकि, यहाँ पर हमने किरदार के नाम के महत्व का ज़िक्र नहीं किया है, लेकिन यहाँ पर हमने किरदार के नाम के बारे में गहन विचार किया है और पटकथाओं में कुछ सबसे लोकप्रिय नामों की सूची तैयार की है, जिनमें पुरुष, महिला और गैर-बाइनरी विकल्पों से लेकर विभिन्न शैलियों के लोकप्रिय नाम तक शामिल हैं।

अंत में ब्राउन ने कहा, "किरदार का विकास बहुत दिलचस्प होता है। कई तरीकों से, यह काफी मूलभूत लगता है। मैं किरदारों को मुझसे बात करने देता हूँ। मुझे पता है, यह थोड़ा रहस्यमयी लगता है।"

हम सब रहस्य के लिए तैयार हैं!

अंत में, अपने किरदारों में जान भरने के लिए, जो आप जानते हैं उसके आधार पर लिखें, कई सारे सवाल पूछें, अपने किरदार की सूची को एक इकोसिस्टम की तरह समझें, और तीन का नियम इस्तेमाल करें। पेशेवरों के इन उपायों के साथ, आपके किरदार इतने मजबूत होंगे कि आप उन्हें चाहे जिस भी परिस्थिति में डालें वो उन्हें पार कर लेंगे और आपके दर्शकों को उन्हें पसंद करने (या नापसंद करने) के लिए मजबूर कर देंगे।

विशेषज्ञों के बारे में:

  • रॉस ब्राउन एक अनुभवी टेलीविज़न लेखक, निर्माता और निर्देशक हैं, जिन्होंने "स्टेप बाई स्टेप," "द फैक्ट्स ऑफ़ लाइफ," और "नेशनल लैम्पून वेकेशन" जैसे हिट कार्यक्रमों के लिए काम किया है। वह वर्तमान में सांता बारबरा के एंटिओक विश्वविद्यालय में रचनात्मक लेखन में MFA प्रोग्राम के हेड हैं।

  • मोनिका पाइपर एक कॉमेडियन, नाटककार और टीवी लेखिका हैं, जिन्होंने "रगरैट्स," "मैड अबाउट यू," और "आह!!रियल मॉन्स्टर्स" जैसे कार्यक्रमों पर काम किया है। वह एक मोटिवेशनल कीनोट स्पीकर भी हैं।

  • रिकी रॉक्सबर्ग ड्रीमवर्क्स एनिमेशन में कहानी संपादक और डिज्नी टेलीविज़न एनिमेशन के पूर्व लेखक हैं। उनके टेलीविज़न क्रेडिट में "टैंगल्ड: द सीरीज़," "मिकी शॉर्ट्स," "मॉन्स्टर्स एट वर्क," और "बिग हीरो 6: द सीरीज़" शामिल हैं। उन्होंने एनिमेटेड फीचर, "सेविंग सांता" और आने वाली पर्यावरण एनिमेटेड फीचर, "ओज़ी" के लिए पटकथा भी लिखी है।

  • ब्रायन यंग एक पुरस्कार विजेता पटकथा लेखक, लेखक, पॉडकास्टर और पत्रकार हैं। वो StarWars.com, HowStuffWorks.com, SciFi.com और Slashfilm.com पर अपना नियमित योगदान करते हैं और दो पॉडकास्ट होस्ट करते हैं। वह राइटर्स डाइजेस्ट स्क्रीनराइटर यूनिवर्सिटी के लिए पाठ्यक्रम भी पढ़ाते हैं।

किरदार में रहें,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

कहें दृश्यात्मक रूप से कोई कहानी

दृश्यात्मक रूप से कोई कहानी कैसे कहें

पटकथा लिखने और किसी और चीज़ के बारे में लिखने में कुछ महत्वपूर्ण अंतर हैं। सबसे पहले, इसकी फॉर्मेटिंग बहुत अलग होती है और इसे जाने बिना (कम से कम, अभी के लिए) आप आगे नहीं बढ़ पाएंगे। पटकथाएं कला की दृश्यात्मक कृति के लिए ब्लूप्रिंट का काम करती हैं। पटकथाओं के लिए सहयोग की आवश्यकता होती है। ऐसी कहानी बनाने के लिए कई लोगों को एक साथ काम करने की ज़रुरत होती है जो स्क्रीन पर आती है। और इसका मतलब है कि आपकी पटकथा में दृश्यों के साथ एक आकर्षक कथानक, थीम और दृश्य होने चाहिए। मुश्किल लग रहा है? यह उपन्यास या कविता लिखने से अलग है, लेकिन हमारे पास कुछ ऐसे उपाय हैं...

डालें अपनी पटकथा में भावना

अपनी पटकथा में भावना कैसे डालें

क्या आपने कभी भी अपनी पटकथा पर काम करते हुए ख़ुद से यह पूछा है, "इसमें भावना कहाँ है?" "क्या फ़िल्म देखते वक़्त किसी को कुछ महसूस होगा?" ऐसा हममें से बहुत सारे लोगों के साथ होता है! जब आप संरचना पर, कथानक के बिंदु A से B पर जाने पर, और अपनी कहानी की सभी कार्यप्रणालियों के काम करने पर केंद्रित होते हैं तो आप पा सकते हैं कि आपकी पटकथा में कुछ भावनात्मक बीट्स गायब हो गए हैं। तो आज, मैं आपको कुछ ऐसी तकनीकों के बारे में बताने वाली हूँ, जिससे आप अपनी पटकथा में भावना डालना सीख सकते हैं! आप संघर्ष, क्रिया, संवाद और तुलना के माध्यम से...
How Do You Create Climactic Twists in Your Screenplay? Screenwriter Bryan Young Explains

अपनी पटकथा में रोमांचक मोड़ कैसे लिखें

मुझे मोड़ बहुत पसंद हैं! लेकिन दुर्भाग्य से, अक्सर ऐसे मोड़ का आसानी से अनुमान लगाया जा सकता है। मैं लगभग हमेशा पहले अंक में ही आने वाले मोड़ के बारे में बता सकती हूँ, और इसकी वजह से मेरे साथ फ़िल्म या टीवी देखने वाले लोग परेशान हो जाते हैं। इसलिए, अगर आप अपनी पटकथा में रोमांचक मोड़ लिखना चाहते हैं तो ऐसी कुछ जाँची-परखी हुई तकनीकें मौजूद हैं जो आपके दर्शकों को आगे आने वाले मोड़ के बारे में सोचने पर मजबूर कर देंगी। और, शायद आप मुझे भी इसका अंदाज़ा लगाने पर मजबूर कर दें! ब्रायन यंग एक फ़िल्म निर्माता, पटकथा लेखक, और कुछ शानदार वेबसाइटों के पत्रकार हैं, जिनमें StarWars.com...