पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

दृश्यात्मक रूप से कोई कहानी कैसे कहें

कहें दृश्यात्मक रूप से कोई कहानी

पटकथा लिखने और किसी और चीज़ के बारे में लिखने में कुछ महत्वपूर्ण अंतर हैं। सबसे पहले, इसकी फॉर्मेटिंग बहुत अलग होती है और इसे जाने बिना (कम से कम, अभी के लिए) आप आगे नहीं बढ़ पाएंगे। पटकथाएं कला की दृश्यात्मक कृति के लिए ब्लूप्रिंट का काम करती हैं। पटकथाओं के लिए सहयोग की आवश्यकता होती है। ऐसी कहानी बनाने के लिए कई लोगों को एक साथ काम करने की ज़रुरत होती है जो स्क्रीन पर आती है। और इसका मतलब है कि आपकी पटकथा में दृश्यों के साथ एक आकर्षक कथानक, थीम और दृश्य होने चाहिए। मुश्किल लग रहा है? यह उपन्यास या कविता लिखने से अलग है, लेकिन हमारे पास कुछ ऐसे उपाय हैं जिनसे आपको दृश्यात्मक कहानी कहने की कला सीखने में मदद मिलेगी, जिसकी आपको पटकथा लिखने के लिए ज़रुरत पड़ती है।

हमारे साथ बने रहिये! हम जल्दी ही सीमित संख्या में बीटा टेस्टरों के लिए SoCreate का पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर लॉन्च करने वाले हैं। इस पेज से बाहर निकले बिना,

किसी कहानी को दृश्यात्मक रूप से बताना सीखना एक ऐसी ज़रुरी सलाह है जो पटकथा लेखक रॉस ब्राउन चैपमैन विश्वविद्यालय में अपने छात्रों को देते हैं, जहाँ वह रचनात्मक लेखन में MFA प्रोग्राम के अध्यक्ष हैं। ब्राउन ने सालों टेलीविज़न के लिए लिखा है, जिनमें अन्य निर्माता और सहायक निर्देशक क्रेडिट्स सहित "स्टेप बाय स्टेप," "द फैक्ट्स ऑफ़ लाइफ," और "हूज़ द बॉस?" जैसे लोकप्रिय अमेरिकी शो शामिल हैं। वो अपने छात्रों को अपने पटकथा लेखन का सफर धीरे-धीरे शुरू करने की सलाह देते हैं – कम से कम तब जब उस पटकथा की लम्बाई की बात आती है जिसपर आप काम करने वाले हैं।

ब्राउन ने सलाह दी, "तो, मैं किसी ऐसे इंसान को क्या सलाह दूंगा जो पटकथा लेखक बनने का फैसला करता है? ... पहले एक शॉर्ट फ़िल्म लिखें। अगर कोई उपन्यास लिखना सीखना चाहता है, तो वो शायद पहले शॉर्ट स्टोरी से शुरुआत करेंगे - यही चीज़ पटकथाओं के ऊपर भी लागू होती है। सबसे पहले दस मिनट की फ़िल्म लिखने की कोशिश करें। कुछ गलतियाँ करें। उनसे सीखें। और फिर थोड़ी लम्बी पटकथा लिखने की कोशिश करें, और उसके बाद तीसरी बार में जाकर आप फ़िल्म लिखने की कोशिश कर सकते हैं।"

वो अपने छात्रों को यह समझने के लिए बहुत कुछ पढ़ने का भी सुझाव देते हैं कि कौन सी चीज़ उनकी पटकथा को पेज से स्क्रीन पर ले जाती है।

उन्होंने कहा, "आपको कुछ पटकथाएं पढ़नी चाहिए क्योंकि पटकथा पढ़ना फ़िल्म देखने से बहुत अलग होता है। जानें कि पटकथाएं पन्नों पर कैसी दिखती हैं और कैसे तैयार की जाती हैं, और दृश्यात्मक भाषा में कैसे संवाद किया जाता है।"

दृश्य ही दर्शकों को बांधे रखते हैं। यही चीज़ फ़िल्म और टेलीविज़न को कहानी कहने के किसी भी अन्य माध्यम से अलग बनाती है। तो, जब आपको बस अपने शब्दों के साथ काम करना होता है तो आप अपनी पटकथा में दृश्यात्मक रूप से कैसे संवाद करते हैं?

अपनी पटकथा में इन विशेष स्थानों में दृश्य शामिल करें:

  • स्थान का विवरण

  • किरदार का विवरण

  • किरदार की गतिविधि

  • दृश्य की गतिविधि

स्थान का विवरण

लगभग हर बार नया दृश्य शुरू करने पर स्थान का विवरण या परिवेश का विवरण प्रयोग करना होगा, लेकिन ये दृश्यात्मक संकेत आपके ओपनिंग हुक के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। किसी पटकथा का ओपनिंग हुक ही दर्शक को आकर्षित करता है, उन्हें जिज्ञासु बनाता है, और बाकी की फ़िल्म के लिए टोन सेट करता है। लेकिन आपका दृश्य किसी कारण से किसी जगह होना चाहिए, इसलिए केवल इसे अच्छा दिखाने के लिए प्रयोग न बनाएं। आपकी कहानी के लिए वो स्थान क्या करता है? क्या यह किरदारों के लिए कोई बाधा उत्पन्न करता है? डेविड ट्रॉटियर की किताब "द स्क्रीनराइटर्स बाइबल" में, वो निम्नलिखित पटकथाओं का प्रयोग स्थान विवरण के ऐसे उत्कृष्ट उदाहरणों के रूप में करते हैं जो दर्शकों को बांधे रखते है।

कृपया ध्यान दें: निम्नलिखित उदाहरणों में दी गयी पटकथाएं केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए प्रयोग की गयी हैं।

  • उदाहरण: लॉरेंस कस्दन की पटकथा "बॉडी हीट"

    ध्यान दें कि कैसे पटकथा लेखक लॉरेंस कस्दन दृश्य और ध्वनि का कुशलता से प्रयोग करते हैं और बताते हैं कि दर्शक "बॉडी हीट" की उनकी पटकथा में इस दृश्य को कहाँ से देख रहे हैं।

"बॉडी हीट" पटकथा का भाग

फेड इन:
बाहर रात का आसमान

रात में आसमान में लपटें। दूर से सायरन की आवाज़। पीछे आते हुए, हम देखते हैं कि जलती हुई इमारत ज्यादातर घनी, काली आकृतियों से छिपी हुई है जो मिरांडा बीच, फ्लोरिडा के समुद्र के किनारे के स्काइलाइन को परिभाषित करती है। हम शहर से इसे देख रहे हैं। बाथरूम के शावर की बूंदों की आवाज़ लगभग उसी समय बंद होती है जब हमें नेड रेसिन की नंगी पीठ और सिर दिखाई देता है। हम पीछे आते रहते हैं –

रेसिन के अपार्टमेंट में – रात

अंडरशॉर्ट्स पहने रेसिन एक पुराने घर की ऊपरी मंजिल पर अपने अपार्टमेंट के छोटे से बरामदे में खड़ा है। रेसिन सिगरेट जलाता है और आग को घूरता है। अब वो हमें अपार्टमेंट के बेडरूम में दिखाई देता है, और वहां एक जवान औरत, एंजेला, की आकृति की झलक दिखाई देती है, जो तौलिये से अपना बदन सूखा रही है।

अब यह दृश्य देखें:

  • उदाहरण: जॉन मिलियस, फ्रांसिस फोर्ड कोपोला की पटकथा "एपोकैलिप्स नाउ"; माइकल हेरो की व्याख्या

    "एपोकैलिप्स नाउ" में, परिवेश का विवरण दर्शक को तेज़ी से एक भयानक युद्ध क्षेत्र में स्थानांतरित कर देता है, और फ़िल्म का ओपनिंग दृश्य उससे अच्छी तरह मैच करता है, जिसकी दर्शक पटकथा पढ़ते समय कल्पना करता है।

"एपोकैलिप्स नाउ" पटकथा का भाग

फेड इन:
बाहर पेड़ों की साधारण छवि – दिन

नारियल के पेड़ों को समय के आवरण से या सपने में देखा जा रहा है। कभी-कभी रंगीन धुंआ फ्रेम से निकलता है, पीला और फिर बैंगनी। धीरे-धीरे संगीत शुरू होता है, जो 1968-69 का लगता है। जो शायद द डोर्स का "द एन्ड" है। अब फ्रेम से हेलीकॉप्टर गुज़रते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि हम उन्हें उसकी तरह समझ सकते हैं; इसके बजाय, वो ठोस आकृतियों के रूप में दिखाई देते हैं जो बेतरतीब तरीके से उड़ते हैं। उसके बाद एक फैंटम हेलीकॉप्टर पूरे दृश्य में बिना कोई चेतावनी दिए पेड़ों के पास से उड़ता है, और जंगल लाल-नारंगी लपटों के साथ जलना शुरू हो जाता है।

यह दृश्य जलते हुए पेड़ों के साथ आगे बढ़ता रहता है और हेलीकॉप्टर आते-जाते रहते हैं।

डिसॉल्व टू:

साइगॉन होटल के अंदर – दिन

एक युवा लड़के के दाढ़ी से ढंके चेहरे का ऊपर से नीचे तक का क्लोज़ शॉट। उसकी आंखें खुलती हैं...यह बी.एल. विलार्ड है। गुस्सैल और ऐयाश। वो छत पर लगे घूमते हुए पंखे को देखता रहता है और कैमरा किनारे के दृश्य दिखाता है।

अब यह दृश्य देखें:

किरदार का विवरण

पटकथा में किसी किरदार को पहली बार लाने पर किरदार का विवरण दिखाई देता है, और किरदार की गतिविधि के बाद आगे के दृश्य आते हैं। जब हम पहली बार आपके किरदार से मिलते हैं, तो आपको उनके बारे में कुछ शब्दों में बताने का मौका मिलता है, जो उनकी शारीरिक बनावट और उनके व्यक्तित्व का वर्णन करता है। बहुत ज़्यादा ऐसा विवरण देने से बचें, जिसे स्क्रीन पर नहीं दिखाया जा सकता है। आप जो कुछ भी लिखते हैं, वो दृश्यात्मक रूप से परिवर्तित करने योग्य होना चाहिए। किरदार का विवरण एक वाक्य से ज़्यादा लंबा नहीं होना चाहिए (हालाँकि, कुछ अपवाद लागू हो सकते हैं), और किरदार की गतिविधि को हमेशा कहानी को किसी न किसी तरह से आगे बढ़ाना चाहिए।

  • उदाहरण: फ्रैंक डाराबोंट और स्टीफन किंग की पटकथा "द शशांक रिडेम्पशन"

    "द शशांक रिडेम्पशन" के इस उदाहरण में, ध्यान दें कि कैसे किरदार का विवरण दृश्य संकेतों का उपयोग करके आपको वार्डन के स्वरुप और व्यक्तित्व के बारे में कुछ बताता है, लेकिन यह उसकी ऊंचाई, वजन और बालों के रंग का विवरण नहीं देता।

"द शशांक रिडेम्पशन" पटकथा का भाग

वार्डन सैमुअल नॉर्टन आगे चलता है, जो ग्रे सूट में एक बेरंग आदमी है और उसके कोट के कॉलर में चर्च पिन लगा हुआ है। उसे देखने से ही लगता कि वो भावनाशून्य इंसान होगा।

किरदार की गतिविधि

किरदार की गतिविधि हमें बताती है कि किरदार दृश्य में क्या कर रहा है, चाहे संवाद चल रहे हों या शांति हो। वो अपनी जगह पर क्या कर रहे हैं?

  • उदाहरण: ब्रायन वुड्स, स्कॉट बेक और जॉन क्रॉसिंस्की की पटकथा "ए क्वाइट प्लेस"

    "ए क्वाइट प्लेस" से किरदार की गतिविधि के इस उदाहरण में, हम एक महिला की सतर्क गतिविधियों को देख रहे हैं जो शोर करने से बहुत ज़्यादा डर रही है। ध्वनि तनाव को बढ़ाती है। यह फ़िल्म पूरी तरह से स्थान के विवरण और किरदार की गतिविधि से बनी है, क्योंकि इसमें कोई संवाद नहीं हैं। अगर आप दृश्यात्मक तरीके से लिखना सीखने की कोशिश कर रहे हैं तो यह पढ़ने के लिए सर्वश्रेष्ठ पटकथा है।

"ए क्वाइट प्लेस" की पटकथा का भाग

माँ पर... जब वो धीरे-धीरे साँस लेती है? और फिर, मानो वो सर्जरी कर रही हो, वो धीरे से बोतल पकड़ती है और धीरे-धीरे शेल्फ से अपनी तरफ लाना शुरू करती है। एक बार फिर, उसके हाथ बहुत धीरे-धीरे चलते हैं, अब उसका हाथ और ज़्यादा बोतलों को शिफ्ट करता है। जैसे ही वो शेल्फ के आख़िर में पहुँचती है एक बोतल शिफ्ट होती है... गोलियों की खड़खड़ाहट के साथ। यह पहली, जानबूझकर उत्पन्न ध्वनि है, जो हमें सुनाई देती है। माँ... डर से जम जाती है!!!!

दृश्य की गतिविधि

आपके किरदारों के आसपास ऐसा क्या हो रहा है जो उनकी हालत में जुड़ जाता है? यह कोई सेमी-ट्रक हो सकता है जो खतरनाक तरीके से किरदार की कार के करीब चल रहा है, सिर के ऊपर आवाज़ करता हुआ हेलीकॉप्टर हो सकता है, या शोरगुल से भरी परेड हो सकती है जो पीछा करते समय उथल-पुथल बढ़ा देती है। किसी किरदार के आसपास होने वाली चीज़ें तनाव और जोखिम बढ़ा सकती हैं, लेकिन दृश्य यहाँ पर महत्वपूर्ण होते हैं। पाठक को इस बात का एहसास कराएं कि जो हो रहा है उसके बीच में रहने पर कैसा महसूस होता है। अगर आप हर एक बीट के साथ, सही तरीके से यह वर्णन कर सकते हैं कि दर्शक कौन सी गतिविधि देख रहा है तो निर्देशक के संकेतों को जोड़े बिना भी, आप दृश्य को "निर्देशित" कर सकते हैं।

  • उदाहरण: डेविड सीडलर की पटकथा "द किंग्स स्पीच"

    "द किंग्स स्पीच" से दृश्य की गतिविधि के इस उदाहरण में, किरदार द्वारा की गयी चीज़ें नहीं, बल्कि उसके आसपास होने वाली चीज़ें तनाव बढ़ाती हैं।

"द किंग्स स्पीच" पटकथा का भाग

बूथ में लाल बत्ती चमकती है।

लाल बत्ती दूसरी बार चमकती है।

बर्टी ध्यान केंद्रित करता है।

लाल बत्ती तीसरी बार चमकती है।

लाल बत्ती अब स्थिर तरीके से लाल हो जाती है।

लियोनेल अपनी बांहों को फैला लेता है और मुंह में कहता है, "साँस लो!"।

हवा पर।

बर्टी के हाथ कांपने लगते हैं, उसके भाषण के पन्ने सूखे पत्तों की तरह खड़खड़ाने लगते हैं, उसके गले की मांसपेशियां सिकुड़ जाती हैं, कंठ उभर जाता है, उसके होंठ कस जाते हैं ... सभी पुराने लक्षण फिर से दिखाई देने लगते हैं।

कई सेकंड बीत चुके हैं। यह सदियों की तरह लगता है।

अपनी पटकथा में दृश्यात्मक कहानी को कैसे बेहतर बनाया जा सकता है

  1. क्या आप बस दृश्यों के साथ अपनी पटकथा लिख सकते हैं? यह इस बात को जानने के लिए एक बहुत अच्छा अभ्यास है कि आप संवाद में कहाँ कटौती कर सकते हैं और बताने से ज़्यादा दिखा सकते हैं। अगर कोई किरदार कुछ करके दिखा सकता है तो उसे कुछ बोलने के लिए मजबूर न करें। उदाहरण के लिए, ट्रॉटियर की "बाइबिल" के इस अंश को लें:

    "क्या आपको "विटनेस" का वो खलिहान बनाने वाला दृश्य याद है? जब कर्मचारी दोपहर के भोजन के लिए रुकते हैं, तो बुजुर्गों की नज़र रेचल लैप पर होती है, जिसकी शादी एक अमीश आदमी से होने वाली है, लेकिन जो जॉन बुक को पसंद करती है। बिना किसी संवाद के, वो सबसे पहले जॉन बुक के लिए पानी डालकर अपनी पसंद ज़ाहिर कर देती है।"

  2. संवाद में गतिविधि शामिल करें - बात करते समय किरदार क्या कर रहा है?

  3. अपने किरदारों के लिए बाधाओं को शामिल करें, ये भौतिक या आंतरिक बाधाएं हो सकती हैं जिन्हें हम बाहरी रूप से देख सकते हैं। जैसे, पीछे से आने वाली आवाज़ आपके किरदार के लिए किसी को यह समझाना मुश्किल बना सकती है कि बम को कैसे नष्ट किया जाता है, या अत्यधिक गर्मी आपके चरित्र को पहले से ही तनावपूर्ण क्षण के दौरान साफ़ तौर पर और ज़्यादा परेशान कर सकती है।

  4. वर्णनात्मक क्रियाओं का प्रयोग करें, जो क्रिया का ज़्यादा सटीक वर्णन करती हैं। एक आदमी दुकान में "चलता" है के बजाय आप एक आदमी दुकान में "टहलता" है इस्तेमाल कर सकते हैं, जिससे हमें उसके व्यक्तित्व के बारे में कुछ पता चलता है। "गुज़रता हुआ" सेमी-ट्रक ऐसे सेमी-ट्रक से अलग होता है जो "सड़क पर किसी की तरफ तेज़ी से आता है।"

  5. सारी निष्क्रिय भाषा हटा दें, और इस बात का ध्यान रखें कि गतिविधि यहाँ और अभी हो रही है।

  6. निर्देशक और अभिनेता दोनों के लिए निर्देश हटा दें, उदाहरण के लिए, "हम देखते हैं ...," "कैमरा घूमता है ...," या "वह हैरानी से अपनी भौंहें उठाती है।"

याद रखें, आपका लेखन पाठक को दिखाता है कि वे स्क्रीन पर क्या देखेंगे क्योंकि वास्तव में वो इसे अभी तक देख नहीं सकते हैं; आप बस कोई सुनने वाली कहानी नहीं बता रहे हैं। अगर आपको दृश्य चित्रित करना हो, तो हमें क्या होते हुए दिखाई देगा?

मेरे लिए एक तस्वीर पेंट करें,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

दिन की पटकथा

दिन की पटकथा

पटकथा लेखन की संरचना, लय, और उपकरण सहित, इस कला को सीखने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक है, पटकथाएं पढ़ना या यूं कहें तो बहुत सारी पटकथाएं पढ़ना। जैसा कि पटकथा लेखक ब्रायन यंग ने अपने पिछले साक्षात्कार में बताया था, आप नक़्शे के बिना घर बनाने की कोशिश नहीं करेंगे, और आप पहले पेशेवरों के नक़्शों पर नज़र डाले बिना भी अपना नक़्शा बनाने की कोशिश नहीं करेंगे। पटकथाएं किसी फ़िल्म का नक़्शा होती हैं, इसलिए उनसे आप इस बारे में बहुत कुछ सीख सकते हैं कि कोई चीज़ स्क्रीन पर कैसे काम करती है। नीचे, हम विभिन्न शैलियों की बेहतरीन पटकथाओं का पुस्तकालय बना रहे हैं...

अपनी पटकथा में ऐसे चरित्र लिखें जिनसे लोगों का मन न भरे

अपनी पटकथा में ऐसे चरित्र कैसे लिखें जिनसे लोगों का मन न भरे

किसी सफल पटकथा के कई अलग-अलग पहलू होते हैं: इसमें कहानी, संवाद, परिवेश होते हैं। पटकथा में जो चीज़ मुझे सबसे ज़रूरी लगती है और जिसके साथ मैं शुरुआत करती हूँ वो है, चरित्र। मेरे मामले में, कहानी के ज़्यादातर आईडिया एक विशेष मुख्य चरित्र के साथ शुरू होते हैं जिसके साथ मैं ख़ुद को जोड़ पाती हूँ। यहाँ पर ऐसे चरित्र लिखने के लिए कुछ उपाय बताये गए हैं जिन्हें आपके दर्शक ज़रूर पसंद करेंगे! अपनी पटकथा के चरित्रों को शुरू से जानें। वास्तव में लिखना शुरू करने से पहले की प्रक्रिया के ज़्यादातर हिस्से में मैं अपने चरित्रों की रूपरेखा तैयार करती हूँ। इस रूपरेखा में वो सभी चीज़ें शामिल होती हैं...

पारंपरिक पटकथा में दृश्य का विवरण कैसे लिखें

पारंपरिक पटकथा में दृश्य का विवरण कैसे लिखें

आदर्श रूप से, मैं दृश्य के ऐसे विवरण लिखना चाहती हूँ जो दिलचस्प, साफ हों, और पन्ने से दृश्यों को बाहर निकाल सकें। मैं चाहती हूँ कि मेरी पटकथा पढ़ने में पाठक को आसानी हो, और ऐसे दृश्य विवरण रखना चाहती हूँ जो आसानी से पाठकों की रूचि बढ़ाएं, और उन्हें मेरी कहानी की दुनिया में ज्यादा से ज्यादा गहराई में उतार दें। मैं चाहती हूँ कि मेरे दृश्य विवरणों में ये विशेषताएं हों, लेकिन अफ़सोस, मेरे पास जाहिर करने के लिए बहुत ज्यादा शब्द हैं। इसपर मेरा कोई बस नहीं। अक्सर मेरे पहले ड्राफ्ट लम्बे विवरणों से भरे होते हैं, और मेरे दृश्य विवरण इनसे अलग नहीं हैं। यहाँ कुछ उपाय दिए गए हैं जिनकी मदद से मैं अपने दृश्य विवरणों को पारंपरिक पटकथाओं के अनुरूप रखती हूँ! अपने दर्शकों को कम न समझें। बहुत ज्यादा चिंता न करें; आप जो बताना चाहते ...