पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

फिक्शन के मुख्य प्रकार

फिक्शन के मुख्य प्रकार

SoCreate में हमने यह मिशन बना लिया है कि हम कहानी कहने की कला को एक ऐसी गतिविधि बना देंगे, जिसका सभी लोग आनंद उठा सकते हैं। सबसे नौजवान से लेकर सबसे स्थापित रचनाकारों तक, हम चाहते हैं कि लेखक अब तक की सबसे विविध, अनूठी और रोमांचक कहानियां लिखने में ख़ुद को सशक्त महसूस करें।

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि सीमाएं हमें ज़्यादा रचनात्मक बना देती हैं। और इसलिए आज मैं आपको उन सभी प्रकार के फिक्शन के बारे में बताने वाली हूँ, जो संभव हो सकते हैं - या फिर यूं कहें तो पहले किये जा चुके हैं। हालाँकि, बहुत कम कहानियां ऐसी हैं जिन्हें इन बॉक्सों में पूरी तरह से फिट किया जा सकता है, लेकिन ज़्यादातर फिक्शन वाली कहानियों में नीचे दी गई शैलियों के तत्व मौजूद होते हैं। कौन जाने, शायद आप भी कोई नई कल्पना कर लें!

फिक्शन क्या है?

फिक्शन एक ऐसी कहानी है जिसमें एक या कई मनगढ़ंत किरदारों के माध्यम से उन घटनाओं के बारे में बताया जाता है जो अभी तक नहीं हुई हैं। यह असली ज़िन्दगी, असली इंसान, असली स्थान, असली चीज़ों आदि पर आधारित हो सकता है, लेकिन उन्हें काल्पनिक कहानी के रूप में सोचना पड़ता है। इसके किरदार काल्पनिक या ऐतिहासिक हो सकते हैं, जो काल्पनिक परिदृश्यों में आते हैं। फिक्शन का सबसे बड़ा उद्देश्य मनोरंजन होता है; हालाँकि, शिक्षा, प्रोत्साहन और प्रेरणा जैसे दूसरे उद्देश्य भी होते हैं। वास्तव में, कुछ लेखक अपने काम का इस्तेमाल मनोरंजन और शैक्षिक उद्देश्यों दोनों के लिए करते हैं। फिक्शन की कई शैलियां होती हैं।

शैली क्या है?

शैलियां वो श्रेणियां हैं जिनमें साहित्य की रचनाएं आती हैं। इससे पाठकों को यह समझने में मदद मिलती है कि वो किस तरह की किताब पढ़ रहे हैं और विवरणों में खोए बिना किस प्रकार की लेखन शैली की अपेक्षा कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, अगर आप एक उपन्यास की तलाश में थे, तो शैली से आपको तुरंत पता चल जायेगा कि आपने जो उपन्यास लिया है, वो ऐतिहासिक, समकालीन, साई-फाई, फैंटसी, रहस्य, थ्रिलर, हॉरर, कॉमेडी, ड्रामा, रोमांस, कविता, मंगा, एनीमे है या कुछ और। ज़ाहिर तौर पर, किसी कहानी को कहने के कई सारे माध्यम होते हैं। नीचे दी गई शैलियों को कॉमिक पुस्तकों, ग्राफ़िक उपन्यासों, फ़िल्मों, टेलीविज़न शो, वेब सीरीज़, विभिन्न प्रकार की किताबों, पॉडकास्ट, और बहुत कुछ पर लागू किया जा सकता है।

एक शैली उस स्टाइल के बारे में भी बताती है जिसमें कहानी को लिखा गया है, यह पाठक या ख़रीदार को अपेक्षा देती है, और लिखने से पहले लेखक को अपनी कहानी का सामान्य केंद्र भी प्रदान करती है।

फिक्शन के मुख्य प्रकार

फिक्शन के मुख्य प्रकार क्या हैं? अगर आप बहुत व्यापक रूप से शुरू करते हैं, तो लगभग सभी पारंपरिक साहित्य दो श्रेणियों में आते हैं:

व्यावसायिक फिक्शन

व्यावसायिक फिक्शन में एक स्पष्ट कथानक वाली कहानी होती है, जिसे आमतौर पर आधुनिक समय में सेट किया जाता है, जिसमें अक्सर एक्शन और एडवेंचर, साइंस फिक्शन, क्राइम, सस्पेंस, वेस्टर्न, युद्ध, जादुई यथार्थवाद, व्यंग्य, हास्य, रोमांस या अलौकिक विषयों को शामिल किया जाता है। व्यावसायिक फिक्शन व्यापक मात्रा में दर्शकों को आकर्षित करते हैं और आम तौर पर कला के बजाय मनोरंजन के लिए होते हैं, और ज़्यादातर कहानियां कथानक पर बहुत ज़्यादा केंद्रित होती हैं। इसके उदाहरणों में जेम्स बॉन्ड के उपन्यास जैसे थ्रिलर, अगाथा क्रिस्टी की पोइरोट सीरीज़ जैसी मिस्ट्री, डेनिएल स्टील की किताबों जैसे रोमांस और जॉन ग्रिशम के थ्रिलर शामिल हैं।

साहित्यिक फिक्शन

साहित्यिक फिक्शन को व्यावसायिक सफलता के बजाय इसकी साहित्यिक गुणवत्ता से जाना जाता है। साहित्यिक फिक्शन चरित्र विकास, विषयवस्तु, प्रतीकवाद, रूपक, दृष्टांत, विडंबना और अस्पष्टता के माध्यम से गहरे मुद्दों की जांच करता है। इस प्रकार के फिक्शन को आमतौर पर उच्च दर्जे का माना जाता है, क्योंकि इसके लिए दर्शकों से उच्च स्तर के बौद्धिक जुड़ाव की आवश्यकता होती है।

इस प्रकार की कहानियों में, मुख्य धारा का फिक्शन ऐसे कथानकों का वर्णन करता है जिनसे ज़्यादातर लोगों का अपने जीवन में आमना-सामना होता है और इसमें आम जनता के लिए एक जानी-पहचानी सच्चाई होती है।

5 मुख्य प्रकार की फिक्शन शैलियां

रचनात्मक लेखन और कहानी कहने में कला में फिक्शन की पाँच सामान्य शैलियां हैं, जिनमें निम्नलिखित शामिल हैं:

  • मिस्ट्री

  • थ्रिलर

  • साइंस फिक्शन

  • रोमांस

  • फैंटसी

लेकिन इन व्यापक श्रेणियों में दर्जनों लोकप्रिय उप-शैलियां हैं।

फिक्शन शैलियों के सभी प्रकार

नीचे आज के समय की कुछ सबसे लोकप्रिय फिक्शन शैलियों की सूची दी गई है, लेकिन यह सूची संपूर्ण नहीं है। जैसा कि मैंने इस ब्लॉग की शुरुआत में बताया है, लेखक हर समय शैली के नियमों को बदलते रहते हैं, और आपको भी उनसे अलग नहीं होना चाहिए! चीज़ों को मिलाने से न डरें। लेकिन अगर आप पहले से जांचे-परखे फॉर्मूले की तलाश में हैं, तो आपको शैलियों की इस सूची के बाद कुछ और देखने की ज़रूरत नहीं है:

रहस्य

रहस्य शैली में सामान्य रहस्य, नोयर रहस्य, ऐतिहासिक रहस्य, पुलिस प्रक्रियात्मक और पैरानॉर्मल रहस्य शामिल हैं।

थ्रिलर

थ्रिलर शैली में अलौकिक थ्रिलर, ऐतिहासिक थ्रिलर, पर्यावरण थ्रिलर, मेडिकल थ्रिलर, कानूनी थ्रिलर, राजनीतिक थ्रिलर, सैन्य थ्रिलर और जासूसी कहानियां शामिल हैं।

साइंस फिक्शन

साइंस फिक्शन कहानियां भविष्य या अतीत में घटित होती हैं, लेकिन लगभग हमेशा वर्तमान के बजाय किसी दूसरे आयाम में होती हैं। इसमें नई कल्पित वास्तविकताओं और ब्रह्मांडों को शामिल किया जाता है, और इसका परिवेश बेहद आवश्यक है। इस कहानी में हाई टेक को भी प्रमुखता से दिखाया जाता है। स्पेस ओपेरा, रोमांटिक साइंस फिक्शन, मिलिट्री साइंस फिक्शन, अल्टरनेटिव हिस्ट्री, डायस्टोपियन और यूटोपियन स्टोरीज़ और स्टीमपंक सभी को साइंस फिक्शन की उप-शैली माना जाता है।

रोमांस

रोमांस कम से कम दो लोगों के बीच के रोमांटिक रिश्ते पर केंद्रित होता है, जिसमें तनाव और इच्छा को मुख्य रूप से शामिल किया जाता है। रोमांस शैली में पैरानॉर्मल रोमांस, समकालीन रोमांस, ऐतिहासिक रोमांस, पश्चिमी रोमांस, गॉथिक रोमांस, रीजेंसी रोमांस और रोमांटिक सस्पेंस शामिल हैं।

फैंटसी

फैंटसी कहानियां पौराणिक साम्राज्यों और जादू पर केंद्रित होती हैं। फैंटसी फिक्शन शैली में समकालीन फैंटसी, पारंपरिक फैंटसी, हॉरर, अजीब फिक्शन, एपिक फैंटसी, ऐतिहासिक फैंटसी, डार्क फैंटसी, शहरी फैंटसी और कॉमिक फैंटसी को शामिल किया जाता है।

एक्शन एडवेंचर

एक्शन-एडवेंचर शैली मुख्य पात्र को विभिन्न प्रकार के शारीरिक खतरों में डालती है। यह एक तेज़-तर्रार शैली है, और क्लाइमेक्स से दर्शक और पाठक को थोड़ी राहत मिलनी चाहिए।

स्पेक्यूलेटिव फिक्शन

स्पेक्यूलेटिव फिक्शन में एक ऐसी दुनिया होती है जो हमारी दुनिया को ओवरलैप करती है, लेकिन काफी ज़्यादा अलग होती है और "क्या होता अगर" वाले परिदृश्य पेश करती है।

सस्पेंस और थ्रिलर

सस्पेंस और थ्रिलर कहानियां आम तौर पर रोचक और रहस्यपूर्ण परिस्थितियों से भरपूर होती हैं, जिनमें एक या एक से ज़्यादा पात्रों का जीवन खतरे में होता है। इन पात्रों का अक्सर पीछा किया जाता है और मनोरंजक परिदृश्यों में वो बाल-बाल बच जाते हैं।

यंग एडल्ट

यंग एडल्ट फिक्शन शैली, जिसे अक्सर संक्षिप्त में YA के रूप में जाना जाता है, 12 से 18 साल के किशोरों के लिए होती है। ज़्यादातर YA कहानियों में अक्सर साई-फाई या फैंटसी के आवरण के साथ कमिंग-ऑफ़-एज कहानियां होती हैं।

न्यू एडल्ट

न्यू एडल्ट फिक्शन कॉलेज-आयु वर्ग के वयस्कों के लिए होता है और आम तौर पर पहली बार अकेले घर से बाहर निकलने वाले लोगों की कहानियां बताता है।

हॉरर और पैरानॉर्मल

हॉरर, पैरानॉर्मल, और घोस्ट स्टोरी वाली शैली आम डरों को शामिल करके पाठकों और दर्शकों को डराने के लिए होती है। आम तौर पर, मुख्य पात्र को एक अलौकिक खतरे को पार करना होता है, और कहानी में अलौकिक तत्व शामिल होते हैं।

मिस्ट्री और क्राइम

मिस्ट्री और क्राइम कहानियां एक केंद्रीय मुद्दे या अपराध पर केंद्रित होती हैं जिसे हल करना होता है या इसमें रहस्यमय घटनाओं के बारे में एक सवाल होता है जिसका जवाब देना होता है। पूरी कहानी में, पाठक या दर्शक और चरित्र अंत में समाधान खोजने में मदद करने के लिए सुराग ढूंढते हैं।

पुलिस प्रक्रिया

पुलिस प्रक्रिया शैली में, सामान्य तत्व एक पुलिस अधिकारी या जासूस होता है जो किसी अपराध को सुलझाने के लिए निकलता है। इसमें ज़ाहिर तौर पर साक्ष्य संग्रह, फोरेंसिक अनुसंधान और लीगल ड्रामा को शामिल किया जाता है।

हिस्टोरिकल

हिस्टोरिकल फिक्शन एक वास्तविक ऐतिहासिक घटना या ऐतिहासिक परिवेश की पृष्ठभूमि पर एक काल्पनिक कहानी पेश करता है। इसमें वास्तविक ऐतिहासिक आंकड़े भी शामिल हो सकते हैं।

वेस्टर्न

वेस्टर्न शैली की कहानी पुरानी अमेरिकी पश्चिमी कालावधि में होती है, जिसमें बहुत सारा रोमांच, काऊबॉय और सीमांत लोग होते हैं। इसमें स्पेगेटी वेस्टर्न, एशियन वेस्टर्न, स्पेस वेस्टर्न, और अमेरिकी वेस्टर्न आदि भाग शामिल हैं।

फैमिली सागा

फैमिली सागा ड्रामा आम तौर पर किसी परिवार के सदस्यों की कई पीढ़ियों का केंद्रित होता है जो पारिवारिक व्यवसाय, पारिवारिक अभिशाप और पारिवारिक रोमांच जैसी चीज़ों को सुलझाते हैं। ये कहानियां आम तौर पर एक समयरेखा का पालन करती हैं और वर्तमान में स्वयं हल हो जाती हैं।

विमेंस फिक्शन

महिलाओं की फिक्शन शैली की कहानियां उन चुनौतियों और संकटों पर केंद्रित हैं, जिनका सामना महिलाएं वास्तविक जीवन में करती हैं, जिनमें रिश्ते, काम, परिवार, राजनीति और धर्म शामिल हैं।

जादुई यथार्थवाद

जादुई यथार्थवाद की कहानियां वास्तविक दुनिया में होती हैं, जिसमें ऐसे जादुई तत्व होते हैं जिन्हें चरित्र सामान्य मानते हैं। ये काल्पनिक तत्व वास्तविक जीवन में मौजूद नहीं होंगे, लेकिन वे जादुई यथार्थवाद के दायरे में पूरी तरह सामान्य होते हैं।

डायस्टोपियन

डायस्टोपियन शैली या एपोकैलिप्टिक फिक्शन काल्पनिक भविष्य में, एक ऐसे समाज में घटित होने वाली कहानी होती है, जो उससे भी कहीं ज़्यादा बदतर होता है जिसमें अभी हम रह रहे हैं। इसमें यथार्थवादी कल्पना और कुछ ऐसा होता है जिसकी वर्तमान स्थिति में कोई बदलाव न होने पर दर्शक कल्पना कर सकते हैं।

कुल मिलाकर, खूब सारा पढ़ें और लिखें! आप अपनी पसंदीदा शैलियों के अलावा दूसरी शैलियों को पढ़ने से भी बहुत कुछ सीखेंगे, और एक बार किसी शैली के नियमों को जानने के बाद आप उन्हें अपने हिसाब से मोड़ सकते हैं। अपने आप को केवल एक प्रकार की कहानी कहने की कला तक सीमित न रखें। अगर आपकी कहानी कहने की कला का कोई नाम नहीं है तो वो गलत नहीं हो जाती। आइये अपनी संभावनाओं को बढ़ाएं! नई शैलियों और तकनीकों को आजमाएं।

मुझे हैरान करें,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

बच्चों की कहानियां पटकथा लेखकों को कहानी कहने की कला के बारे में क्या सीखा सकती हैं

बच्चों की कहानियां पटकथा लेखकों को कहानी कहने की कला के बारे में क्या सीखा सकती हैं

बच्चों की किताबों, टेलीविज़न कार्यक्रमों, और फ़िल्मों के माध्यम से हम पहली बार कहानियों को जानते हैं। ये शुरूआती कहानियां दुनिया के लिए हमारी समझ और पारस्परिक प्रभाव को आकार देने में मदद करती हैं। बड़े होने के बाद उनकी अहमियत कम नहीं होती; बल्कि, बच्चों की कहानियों से हमें पटकथा लेखन के बारे में एक-दो चीज़ें सीखने में मदद मिल सकती है! सरल अक्सर बेहतर होता है - बच्चों की कहानियां हमें एक आईडिया लेकर, इसके आवश्यक अर्थ को बाहर निकालना सिखाती हैं। मैं आपको इसे बेहद आसान बनाने के लिए नहीं कह रही, बल्कि अपने आईडिया को सबसे सरल तरीके से ज़ाहिर करने की बात कर रही हूँ...

करेंअपनी पटकथा में पिक्सर के कहानी के नियमों का प्रयोग

अपनी पटकथा में पिक्सर के कहानी के नियमों का प्रयोग कैसे करें

पिक्सर को विकसित किरदारों और कथानकों वाली विचारशील फ़िल्मों के लिए जाना जाता है, जो आपका दिल छू लेती हैं। वो एक के बाद एक मार्मिक सफल फ़िल्में कैसे बना लेते हैं? 2011 में, पिक्सर की पूर्व स्टोरीबोर्ड आर्टिस्ट, एमा कोट्स, ने कहानी के नियमों का एक संग्रह ट्वीट किया था, जो उन्होंने पिक्सर में काम करने के दौरान सीखा था। इन नियमों को "पिक्सर के कहानी के 22 नियम" के रूप में जाना जाता है। आज मैं आपके साथ ये नियम शेयर करने वाली हूँ, और साथ ही यह भी बताऊंगी कि पटकथा लिखते समय मैं उन्हें कैसे प्रयोग करती हूँ...
"कहानियां क्यों लिखें" के ग्राफ़िक पर जोनाथन मैबेरी, जीन बोमरन, और डग रिचर्डसन

कहानियां क्यों लिखें? ये 3 पेशेवर अपने जवाब से हमें जीवन दे रहे हैं

पिछले साल एक साक्षात्कार सत्र के दौरान हम पेशेवर रचनात्मक लोगों के इस प्रभावशाली-पैनल को किसी तरह एक साथ जुटाने में सफल हुए थे, और यहाँ कहानियों के विषय पर बहुत शानदार चर्चा हुई, विशेष रूप से इस बारे में कि हम कहानियां क्यों लिखते हैं। लिखने की प्रेरणा पाने के लिए नीचे साक्षात्कार से लिखने के लिए प्रेरणादायक अनमोल वचन पढ़ें या पांच मिनट समय निकालकर वीडियो साक्षात्कार देखें। इस चर्चा में अलग-अलग पृष्ठभूमियों से आने वाले हमारे कुछ पसंदीदा लेखक मौजूद थे। जोनाथन मैबरी न्यूयॉर्क टाइम्स के बेस्टसेलिंग सस्पेंस लेखक, कॉमिक बुक लेखक, नाटककार और शिक्षक हैं। मैबेरी की बेहद लोकप्रिय कॉमिक सीरीज़ पर आधारित नेटफ्लिक्स की सीरीज़ "वी-वॉर्स" 2019 में आयी थी। जीन वी. बोवेरमन पटकथा लेखिका, पाइपलाइन आर्टिस्ट्स की प्रमुख संपादिका...