पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

कहानियां क्यों लिखें? ये 3 पेशेवर अपने जवाब से हमें जीवन दे रहे हैं

पिछले साल एक साक्षात्कार सत्र के दौरान हम पेशेवर रचनात्मक लोगों के इस प्रभावशाली-पैनल को किसी तरह एक साथ जुटाने में सफल हुए थे, और यहाँ कहानियों के विषय पर बहुत शानदार चर्चा हुई, विशेष रूप से इस बारे में कि आपको कोई कहानी क्यों लिखनी चाहिए। नीचे उद्धरण में दिया गया प्रतिलेख पढ़ें या पांच मिनट समय निकालकर वीडियो साक्षात्कार देखें।

लाइन में अपनी जगह पकड़ो, पटकथा लेखक! हम SoCreate स्क्रीन राइटिंग सॉफ़्टवेयर को लॉन्च करने के करीब पहुंच रहे हैं, सीमित संख्या में बीटा परीक्षक।

इस चर्चा में अलग-अलग पृष्ठभूमियों से आने वाले हमारे कुछ पसंदीदा लेखक मौजूद थे। जोनाथन मैबरी न्यूयॉर्क टाइम्स के बेस्टसेलिंग सस्पेंस लेखक, कॉमिक बुक लेखक, नाटककार और शिक्षक हैं। जीन वी. बोवेरमन पटकथा लेखिका, स्क्रिप्ट मैगज़ीन की प्रमुख संपादिका, राइटर्स डाइजेस्ट की वरिष्ठ संपादिका और बेहद लोकप्रिय स्क्रिप्टचैट की संस्थापिका हैं। और डग रिचर्डसन ने किताबें और पटकथाएं दोनों लिखी हैं, उनकी पटकथाओं में "डाई हार्ड 2," "बैड बॉयज़," और "होस्टेज" शामिल हैं। उन तीनों को एक साथ रखिये, और कुछ जादुई हो जायेगा!

इसका मज़ा लें!

किसी भी तरह की कहानी लिखना असली दुनिया के विरुद्ध प्रतिरोध करने का, साथ ही साथ असली दुनिया से सामना करने का हमारा एक तरीका रहा है। ये काल्पनिक कहानियां बहुत पुराने समय से बनती आ रही हैं। हमने सबसे पहले कैंपफायर के चारों ओर बैठकर कहानियां ही साझा की थीं। ये काफी हद तक असली दुनिया की समस्याओं में हमारी मदद करती हैं, हम उन्हें कहानी में डाल सकते हैं, पटकथा में डाल सकते हैं, किसी स्पष्ट संकल्प के बिना हर दिन इसे अपनी आँखों के सामने उजागर होते हुए देखने के विपरीत, इसे ऐसा संकल्प दे सकते हैं जो हमारे लिए ज्यादा संतोषजनक हो। हमें इस संकल्प को कहानी में डालने का अवसर मिलता है, और हमें खुद को कहानी में ज्यादा प्रत्यक्ष रूप से प्रस्तुत करने का भी अवसर मिलता है ताकि हम उन स्थितियों का सामना कर सकें, जो हमारे चारों ओर मौजूद हैं, साथ ही हमें उनपर कार्यवाही करने का मौका मिल सके और हम समाधान का हिस्सा बन सकें। कहानी कहना बस काल्पनिक नहीं है। यह उस दुनिया को समझने का हमारा एक तरीका है जिसमें हम रहते हैं, और हमेशा से ऐसा ही रहा है।

जोनाथन मैबरी (जेएम)

और फिर कभी-कभी जब आप इसे लिखते हैं, और अगर आप जोनाथन मैबरी, तो लोग उनकी लाखों प्रतियां खरीदते हैं! और, हमारे लिए उन्हें पढ़ना शानदार होता है।

डग रिचर्डसन (डीआर)

यह भगवान की भूमिका निभाने का एक तरीका है। आप दुनिया को अपने तरीके से दोबारा इस तरह से बनाते हैं कि यह लोगों का मनोरंजन करती है या उन्हें विचलित कर देती है, या उन्हें उनकी वास्तविकता से पूरी तरह से बाहर निकाल देती है और उन्हें उन सभी चीजों से भागने का मौका देती है जो उनके रोजमर्रा के जीवन में हो रहा है, जिसे वो नियंत्रित नहीं कर सकते, और वो इस छोटी काल्पनिक दुनिया में डूब सकते हैं। या, ये बड़ी काल्पनिक दुनिया भी हो सकती है!

जीन वी. बोवेरमन (जेबी)

आपको पता है, मैं केवल व्यक्तिगत तौर पर बता सकता हूँ कि मैंने पटकथाएं क्यों चुनी क्योंकि मैं फिल्मों का शौकीन था। मुझे फिल्में बहुत पसंद थीं। मुझे फिल्म के बारे में सबकुछ अच्छा लगता था। फिल्में मुझसे बातें किया करती थीं। मैंने फिल्मों में सोचना शुरू कर दिया था। मैंने फिल्मों का अध्ययन किया। मैं फिल्मों के स्कूल गया। पटकथाएं लिखना बस उस चीज का प्राकृतिक विकास है जो मुझे पसंद है। जब आप किसी चीज को लेकर जुनूनी होते हैं, और जब आप किसी चीज से जुड़ना चाहते हैं, और आप कुछ करना चाहते हैं, आप फिल्में बनाना चाहते हैं, तो आप वो सबकुछ करते हैं जो फिल्में बनाने के लिए आप कर सकते हैं। पटकथा लेखन इससे ही जुड़ा हुआ है। यह फिल्म निर्माता बनने के बारे में है। ऐसी बहुत सारी दूसरी चीजें हैं, जहाँ आप जीवन की संभावनाओं को कोसते हैं। आप कैंपफायर वापस जाने की बात करते हैं। मानव जाति ने हमेशा से किसी चीज में सफल होने की संभावनाओं को कोसा है। पटकथाएं लिखना उससे अलग नहीं है। फिल्में बनाना भी उससे अलग नहीं है। और दूसरी तरफ अगर आप इसमें सफल हो जाते हैं, और वहां पहुँच जाते हैं तो इसका इनाम शानदार होता है। कोई फिल्म बनाना और इसे अच्छी तरह से प्रस्तुत करना बेहद संतोषजनक होता है, और यह आजमाने लायक चीज है।

डीआर

और मुझे बस इतना लगता है कि लोगों को अपने सपने के पीछे जाना चाहिए। अगर यह सचमुच आपका सपना है, और अगर आप यही करना चाहते हैं, तो आप केवल कोशिश करके ही अपने इस सपने को पूरा कर सकते हैं। अगर आपकी कहानी निर्मित नहीं होती, और आपको पटकथा लेखन में वो सफलता नहीं मिलती जो आपने सोची थी तो भी आपको अपनी ज़िन्दगी के अंतिम दिन पर यह नहीं सोचना पड़ेगा कि 'अगर वो किया होता तो क्या होता,' और ये मेरा सबसे बड़ा डर है, मैं कभी भी यह नहीं कहना चाहती कि 'अगर वो किया होता तो क्या होता।' लेकिन मैं यह भी सोचती हूँ कि व्यावहारिक होना अच्छा होता है। तो अगर आपके पास पहले से कोई पटकथा है जिसकी कहानी बहुत अच्छी है और यह आपके हार्ड ड्राइव पर पड़ी हुई है तो क्यों न इसे उपन्यास के रूप में लिखा जाये, ताकि लोग कम से कम आपकी कहानियां पढ़ते रहें, और कम से कम आपको ये सुकून मिल सके कि आप अपने शब्दों से लोगों के दिलों को छू रहे हैं।

जेबी

अगर आप कुछ बनाना चाहते हैं तो आपको उसे बनाना होगा, क्योंकि ऐसा नहीं करने पर, आप अपने अंदर एक असंतोष पैदा कर लेंगे। यह कि आपके पास यह कहानी है जिसे आप लोगों को बताना चाहते हैं और आप इसे केवल इसलिए नहीं बता रहे क्योंकि आपको डर लग रहा है। डर किसी भी इंसान की सफल व्यावसायिक योजना का हिस्सा नहीं है। डर ही हमें कोशिश करने से दूर रखता है। जब मैंने अपना पहला उपन्यास लिखा था, उस समय मुझे ये नहीं पता था कि बिकेगी या नहीं। मैं 25 सालों से एक नॉन-फिक्शन वाला इंसान था। मैंने उपन्यास केवल इसलिए लिखी क्योंकि मैं उस विषय पर उपन्यास लिखना चाहता था जिसे किसी और ने नहीं छुआ था। मैंने यह मज़े के लिए किया, लेकिन फिर मुझे लगा कि क्यों न कोई एजेंट पाने की कोशिश की जाए? कौन कहता है कि मुझे कोई एजेंट नहीं मिल सकता? अगर आप कोई अप्रकाशित लेखक हैं तो इस बात का कोई सबूत नहीं है कि आप अगली बड़ी चीज नहीं बन सकते। तो क्यों न इसे आजमाया जाए? और वो मेरी व्यावसायिक योजना बना। क्यों नहीं? ऐसा कोई क्यों नहीं मिलेगा जो इसे पसंद करे और इसमें अपना दिल लगाए? आगे बढ़िये और कोशिश करिये, और कभी-कभी यह काम कर जाता है।

जेएम

वो मेरे पसंदीदा तीन शब्द हैं। यह किसी टी-शर्ट पर होना चाहिए। मैं क्यों नहीं? सचमुच। मैं क्यों नहीं?

डीआर

और यह अहंकार नहीं है। यह आशावाद की बात है।

जेएम

बिल्कुल। यह आशावादी है। यह उम्मीद है, यह कड़ी कोशिश करना और अपना सर्वश्रेष्ठ देना है। यह लोगों के साथ होता है। लोग सफल होते हैं। तो मैं क्यों नहीं?

डीआर

चलिए वो टी-शर्ट्स बनाते हैं।

जेबी

मैं इसे कॉपीराइट करने जा रहा हूँ, और फिर मैं इससे पैसे कमाऊंगा।

डीआर

बस इस बात का ध्यान रखना कि मुझे टोपी मिले।

जेएम

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

‘Stranger Things’ Showrunner's Assistant Explains Other Jobs for Aspiring Screenwriters

स्ट्रेंजर थिंग्स के एसए महत्वाकांक्षी पटकथा लेखकों के लिए वैकल्पिक कामों के बारे में बताते हैं

अगर आपके पटकथा लेखन के करियर ने अभी तक रफ़्तार नहीं पकड़ी है, और अगर आपको अभी भी अपनी डे जॉब करने की जरूरत है तो किसी संबंधित क्षेत्र में या पटकथा लेखन से संबंधित कोई काम करना आपके लिए अच्छा रहेगा। इससे खेल में आपका दिमाग लगा रहता है, समान विचारधारा वाले लोगों के साथ संबंध बनाने की अनुमति मिलती है, और इस तरह से आप फिल्म और टेलीविज़न बिज़नेस के बारे में ज्यादा सीख सकते हैं। उदाहरण के लिए, कैटलिन श्नाइडर को ही ले लीजिये। वह अपने नाम के साथ कई पुरस्कार जोड़ने वाली पटकथा लेखिका हैं, साथ ही उन्हें मूवीमेकर मैगज़ीन के टॉप 25 पटकथा लेखकों में भी...
Is It Hard to be a Screenwriter? Writer Robert Jury Answers

क्या पटकथा लेखक बनना मुश्किल है? लेखक रॉबर्ट जूरी जवाब देते हैं

पटकथा लेखक, निर्माता और निर्देशक रॉबर्ट जूरी ने अपनी कठिन मेहनत और दृढ़-संकल्प से हॉलीवुड की सीढ़ियां चढ़ी हैं। उन्होंने एलए वाली चीज की है, और वह लोवा शहर के अपने वर्तमान घर में रहते हुए भी एक सफल लेखक हैं। पिछले कुछ दशकों के दौरान, जूरी ने सीखा कि दृढ़ता और जुनून की जगह और कोई चीज नहीं ले सकती है। जूरी ने पटकथा रीडर के रूप में अपने करियर की शुरुआत की, वार्नर ब्रदर्स पिक्चर्स में प्रशिक्षण पाया और टचस्टोन पिक्चर्स कंपनी के लिए काम किया। "अपने पुराने दिनों में, मैं अपने साथ दर्जनों या उससे भी ज्यादा पटकथाएं घर लाता था, और मैंने रुझान देखना शुरू किया। मुझे लगता है आप उन्हें गलतियां कह सकते हैं," जूरी ने कहा। "मैंने पढ़कर बहुत कुछ सीखा।" जूरी ने बताया कि उस प्रक्रिया से उन्हें पता चला कि उन्हें लिखना बहुत ...
Screenwriters, Novelist, Game Writers: Michael Stackpole Tells You How to Find an Agent

पटकथा लेखक, उपन्यासकार, खेल लेखक: माइकल स्टैकपोल आपको बताते हैं कि एजेंट कैसे पाएं

“एजेंट खोजना उन सवालों में से एक है जो बहुत सारे लोग पूछते हैं। सबको एक एजेंट चाहिए," सेंट्रल कोस्ट लेखक सम्मलेन में हमारे साथ साक्षात्कार के दौरान माइकल स्टैकपोल ने कहा। एक लेखक, गेम डिज़ाइनर, पॉडकास्टर और सम्मलेन के नियमित वक्ता स्टैकपोल के पास पहले से एक जवाब तैयार था। “कुछ पूरा करने के बाद, इसे अपने दोस्तों को दिखाएं। उन्हें ऐसे दो या तीन लेखकों का नाम लिखने के लिए बोलें, उनके अनुसार जिनकी तरह आप लिखते हैं। उन लेखकों पर शोध करें। पता करें कि उनके एजेंट कौन हैं। आप उनसे सम्मलेन में मिल सकते हैं। उनसे बात करें और देखें कि उनके एजेंट कोई नए ग्राहक ले रहे हैं...