पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

अनुभवी टीवी लेखक के अनुसार, अपनी पटकथा में दूसरे अंक की समस्याओं से कैसे छुटकारा पाएं

"किसी फ़िल्म का दूसरा अंक बहुत मुश्किल होता है। मैं शादी से इसकी तुलना करता हूँ," रॉस ब्राउन ने कहा।

ठीक है, रॉस, मैं आपकी बात सुन रही हूँ! मुझे अच्छी उपमा बहुत पसंद है, और अनुभवी टीवी लेखक, निर्देशक, और निर्माता रॉस ब्राउन ("स्टेप बाई स्टेप," "द कॉस्बी शो," "नेशनल लैम्पून्स वेकेशन") के पास ऐसी बहुत सी उपमाएं मौजूद हैं। वह एंटिऑक विश्वविद्यालय में MFA प्रोग्राम के निर्देशक हैं, इसलिए वो छात्रों को पटकथा लेखन की कला के बारे में इस तरीके से पढ़ाना जानते हैं कि छात्र इसे अच्छे से समझ सकें।

इसलिए, इस साक्षात्कार में, उनकी छात्रा के रूप में, मैंने उनसे वही सवाल पूछा जो आपमें से बहुत से लोग हमसे पूछते हैं कि अपनी पटकथा में दूसरे अंक की समस्याओं से कैसे छुटकारा पाएं?

"पहला अंक, या आपका हनीमून, हमेशा शानदार होता है, और आपकी शादी की पचासवीं सालगिरह ख़ुशनुमा यादों से भरी होती है। बस बीच के उन पचास सालों में आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है," उन्होंने कहा।

इससे ज़्यादा सच्चाई से पहले कुछ नहीं कहा गया है। दूसरा अंक खींचता जा सकता है। आपकी पटकथा का सबसे लम्बा हिस्सा होने के नाते, अक्सर पटकथा लेखकों को अपने दूसरे अंक को इस तरीके से व्यवस्थित करने में परेशानी होती है, जो कहानी को आगे बढ़ाने में मदद करता है। आपका किरदार अपनी परिस्थिति में फंसा होता है। लेकिन, अब क्या?

"एक बड़ी चीज़ जो दूसरा अंक पूरा करने में लोगों की मदद करती है, वो यह कि अचानक कहानी पलटने सी लगती है, या आपने सोचा था किरदार का लक्ष्य A बिंदु पर पहुंचना है, और अब आपको एहसास होता है कि, 'मैं A बिंदु पर नहीं जाना चाहता। मैं N या M बिंदु पर जाना चाहता हूँ।'"

फ़िल्म का दूसरा अंक बहुत मुश्किल होता है। मैं इसे शादी से जोड़कर देखता हूँ। पहला अंक, या आपका हनीमून, हमेशा शानदार होता है, और आपकी शादी की पचासवीं सालगिरह ख़ुशनुमा यादों से भरी होती है। बस बीच के उन पचास सालों में आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है।
रॉस ब्राउन
अनुभवी टीवी लेखक

द स्टोरी सॉल्यूशन के लेखक, एरिक एडसन, इन्हें "अद्भुत सरप्राइज़" कहते हैं। ये हर कहानी में दो होते हैं (जिन्हें अद्भुत सरप्राइज़ एक और अद्भुत सरप्राइज़ दो कहा जाता है)। अद्भुत सरप्राइज़ एक पहला परिवर्तन होता है, जो आमतौर पर पहले अंक में आता है। अद्भुत सरप्राइज़ दो बिल्कुल चौंकाने वाला होता है, और यह दूसरे और तीसरे अंक को जोड़ता है।

"इसलिए, अगर ऐसा लगता है कि हीरो बस जीतने ही वाला है तो तभी अचानक कुछ ऐसा हो जाता है जो सबकुछ बदल देता है, और उसके बाद हीरो की ज़िन्दगी वापस कभी पहले जैसी नहीं हो पायेगी," अपनी पटकथा के दूसरे अंक के लिए चौंकाने वाला परिवर्तन लिखने के लिए एरिक ने अपने वीडियो ट्यूटोरियल में कहा। "और उसे हीरो का सबसे बुरा वक़्त कहा जाता है।"

दूसरे अंक के धीमेपन को ख़त्म करने का दूसरा तरीका? उसमें बहुत कुछ चल रहा होता है। इतना भी नहीं कि दर्शक इसे समझ न पाए, लेकिन इतना कि आपकी पटकथा का सबसे लंबा अंक दर्शक को बोर होने से बचाए रखे।

"इस बात का ध्यान रखें कि काफ़ी कुछ होता रहे," रॉस ने मुझसे कहा। "जो चीज़ें हो रही हैं वो कहानी से जुड़ी होनी चाहिए।"

आख़िरी बात, अपने हीरो के रास्ते में बाधाएं लाते रहें।

"दूसरे अंक से गुजरते हुए उन्हें ज़्यादा से ज़्यादा कठिन समस्याओं का सामना करने की ज़रुरत होती है," उन्होंने कहा।

दूसरा अंक लिखने के चार भाग वाले मार्गदर्शक के लिए, आप पटकथा लेखक और पत्रकार ब्रायन यंग के साथ हमारा यह ब्लॉग पढ़ना चाहेंगेपटकथा लेखकों को दूसरे अंक की मुश्किलों से बाहर निकालने में मदद करने के लिए डिज्नी लेखक रिकी रॉक्सबर्ग के पास भी आपके लिए यह आसान फॉर्मूला है।

जल्द ही, SoCreate का पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर आपके लिए चीज़ें आसान बना देगा। इसलिए, अगर आप अभी भी दूसरे अंक में मुश्किलों का सामना कर रहे हैं तो इसे अपना अंतिम ड्राफ्ट न बनने दें।

तब तक के लिए, लिखना जारी रखें,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

Veteran TV Writer Ross Brown Teaches Screenwriters How to Write Great Scenes

अनुभवी टीवी लेखक रॉस ब्राउन: शानदार दृश्य और घटनाक्रम बनाने के लिए पटकथा लेखक का मार्गदर्शक

पटकथा में कौन सी चीज़ शानदार दृश्य बनाती है? हमने टीवी के अनुभवी लेखक रॉस ब्राउन से इसके बारे में पूछा, जिन्हें आप "स्टेप बाय स्टेप" और "हू इज़ द बॉस" जैसे बेहद लोकप्रिय कार्यक्रमों से जानते होंगे। वर्तमान में, ब्राउन सांता बारबरा के एंटिऑक विश्वविद्यालय में MFA प्रोग्राम के निर्देशक के रूप में रचनात्मक लेखकों को अपनी कहानी के आईडिया को रूपहले पर्दे के लिए लिखना सिखाते हैं। नीचे, उन्होंने दृश्यों और घटनाक्रमों के विकास के लिए अपने उपायों के बारे में बताया है जो आपकी पटकथा को आगे बढ़ाते हैं। "दृश्य और घटनाक्रमों को बनाते समय, आपको खुद से यह पूछना पड़ता है कि उस दृश्य या घटनाक्रम का क्या उद्देश्य है...
The Key to Character Development, According to Veteran Script Writer Ross Brown

पटकथा में चरित्रों के विकास के लिए अनुभवी टीवी लेखक रॉस ब्राउन के उपाय

अनुभवी टीवी लेखक और रचनात्मक लेखन के प्रोफेसर रॉस ब्राउन, SoCreate के साथ इस साक्षात्कार में रहस्यमयी से लेकर सांसारिक चीज़ों तक चरित्र के विकास के लिए अपने महत्वपूर्ण उपायों के बारे में बताते हैं, जिसपर अपने चरित्र की सूची बनाते समय पटकथा लेखक को विचार करना चाहिए। आपने "स्टेप बाय स्टेप" और "द कॉस्बी शो" जैसे बेहद लोकप्रिय कार्यक्रमों के साथ रॉस का नाम देखा होगा, लेकिन अब वह सांता बारबरा में एंटिऑक विश्वविद्यालय के MFA प्रोग्राम के निर्देशक के रूप में अपना ज़्यादातर समय दूसरे लेखकों को अपने विचारों को स्क्रीन पर लाना सिखाने में समय बिताते हैं...
Veteran TV Writer Ross Brown Tells Screenwriters How to Approach a Rewrite

दिग्गज टीवी लेखक रॉस ब्राउन पटकथा लेखकों को बताते हैं कि अपनी पटकथा दोबारा कैसे लिखी जाती है

मुझे भरोसा है आपने यह पहले भी सुना है कि दोबारा लिखना ही लिखना होता है। चाहे यह आपका पहला ड्राफ्ट हो या 100वां संशोधन, अपनी पटकथा को अच्छा आकार देने के लिए कुछ आसान चीज़ें की जा सकती हैं। "रॉस ब्राउन ने बताया, "दोबारा लिखना बहुत मुश्किल भरा हो सकता है क्योंकि हम सभी अपनी लिखी हुई चीज़ को देखकर यह कहना चाहते हैं कि, 'यह शानदार है। मुझे इसमें एक भी शब्द बदलने की ज़रुरत नहीं है!' और ऐसा बहुत कम होता है।," उन्होंने "स्टेप बाय स्टेप" और "द कॉस्बी शो" जैसे बेहद लोकप्रिय कार्यक्रम लिखे हैं। अब वह सांता बारबरा के एंटिऑक विश्वविद्यालय में MFA प्रोग्राम के निर्देशक के रूप में...

टिप्पणियां