पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक विक्टोरिया लूसिया

वेब सीरीज़ के लिए वेबिसोड कैसे लिखें

वेब सीरीज़ के लिए वेबिसोड कैसे लिखें

पटकथा लेखक होने के नाते, किसी को अपना निर्मित काम दिखाना और यह कहना काफी मददगार होता है कि "मैंने वो लिखा है!" वेब सीरीज बनाना लोगों के सामने अपना काम लाने और अपना करियर शुरू करने का किफायती तरीका हो सकता है। कई लेखकों के मन में यह सवाल आता है कि "मैं वेब सीरीज़ कैसे लिखूं?" फ़िल्म और टेलीविजन की पटकथा के लिए एक मानक संरचना है, लेकिन क्या वेब सीरीज़ के लिए भी कोई संरचना है? वेबिसोड कितना लंबा होना चाहिए? नीचे वेब सीरीज़ के लिए वेबिसोड लिखने के बारे में बताते समय मैं आपके सभी सवालों के जवाब दूंगी।

हैलो पटकथा लेखक! क्या आप SoCreate का पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर आजमाने वाले पहले लोगों में से एक बनना चाहते हैं? इस पेज से बाहर निकले बिना,

वेबिसोड कैसे लिखें

जानें कि आप क्या लिख रहे हैं, और कहाँ जा रहे हैं

चाहे आप टीवी के लिए लिख रहे हों या वेब के लिए, आपको हमेशा इस बात का अंदाज़ा होना चाहिए कि आपकी कहानी भविष्य में कहाँ जाती है। ख़ासकर एपिसोडिक सामग्री की बात आने पर, आपकी कहानी का कोई सिर-पैर होना चाहिए। आपको पता होना चाहिए कि दूसरे और तीसरे सीज़न में कहानी कहाँ जाएगी। मैं यह नहीं बोल रही कि आपको हर चीज़ की योजना बनाने की ज़रुरत है, लेकिन वेब सीरीज़ लिखने से पहले आपको इस बात का अंदाज़ा होना चाहिए कि भविष्य में आपके किरदारों के साथ क्या होगा।

एपिसोडिक वेब सीरीज़

वेब सीरीज़, या वेबिसोड, लगभग हमेशा एपिसोडिक होते हैं। यह टुकड़ों में बंटी हुई कोई फ़िल्म नहीं होती, बल्कि एक के बाद एक एपिसोड होता है जिसमें अलग से एक कहानी मौजूद होती है, साथ ही यह सीज़न की पूरी कहानी का भी निर्माण करती है।

वेबिसोड की लम्बाई

वेबिसोड के लिए कोई निर्धारित समय नहीं होता है; और यही इसकी खूबसूरती है। हर एपिसोड में वेबिसोड 30 मिनट लंबा और दो से पांच मिनट तक छोटा हो सकता है। मैं आपको बता सकती हूँ कि जब इंटरनेट पर कुछ देखने की बात आती है तो छोटी सामग्री अक्सर बेहतर होती है। वेब सीरीज़ के लिए समय निर्धारित न होने के बारे में अच्छी बात यह है कि आप अपने एपिसोड की लंबाई के साथ खेल सकते हैं और उनके लिए अपने दर्शकों की प्रतिक्रिया के अनुसार उन्हें बदल सकते हैं। आपको कमर्शियल ब्रेक की भी चिंता नहीं करनी होती है! लेकिन, फिर भी आपकी कहानी में एक स्वाभाविक अंक संरचना होनी चाहिए।

वेब सीरीज़ की संरचना

हालाँकि, वेबिसोड में किसी तरह की उद्योग की मानक संरचना नहीं होती, लेकिन फिर भी चाहे आप कुछ भी लिख रहे हों, आपको शुरुआत, मध्य और अंत की मूल संरचना को ध्यान में ज़रुर रखना चाहिए। चीज़ों को एक साधारण तीन अंक की संरचना के रूप में रखने पर आप पटकथा को ज़्यादा जटिल बनाने से बच सकते हैं। अपने वेबिसोड की लम्बाई सोचें और फिर उसी के अनुसार अपने तीन (या चार या पांच) अंक बनाएं।

आप अपने सीज़न को तीन अंक वाली संरचना के रूप में भी सोच सकते हैं: जहाँ पहले कुछ एपिसोड पहला अंक होते हैं, अगले कुछ एपिसोड दूसरा अंक होते हैं और आख़िरी के एपिसोड तीसरा अंक होते हैं। ध्यान रखें कि आपके अंतिम एपिसोड को आने वाली चीज़ों और आपकी श्रृंखला के भविष्य के बारे में उत्सुकता बनानी चाहिए।

वेब सीरीज़ फ़िल्मों के बजाय टेलीविज़न से ज़्यादा संबंधित हैं, इसलिए जहाँ तक वेबिसोड लिखने की बात आती है, मैं आपको प्रेरणा लेने के लिए टेलीविज़न कार्यक्रमों की संरचना देखने की सलाह दूंगी। टीवी एपिसोड में दर्शकों को लुभाने के लिए टीज़र होते हैं। वेबिसोड में भी ऐसा ही होना चाहिए, लेकिन इसमें आपके पास काफी कम समय होता है। आपको अपने वेबिसोड के पहले 15 सेकंड में दर्शक का ध्यान आकर्षित कर लेना चाहिए।

वेब के लिए लिखने की आज़ादी

वेब के लिए आप जो चाहे वो लिख सकते हैं, और यह आज़ादी बहुत रोमांचक होती है! परेशान न हों, क्योंकि यह फ़िल्म या टेलीविज़न की पटकथा लिखने जितना सरल नहीं होता। वेब सीरीज़ के रूप में आपकी रचनात्मकता निखरकर सामने आ सकती है, और अक्सर यह आपको कम बजट में अपने काम को पेज से स्क्रीन पर ले जाने का तरीका प्रदान करती है। कहानी कहने की कला के बुनियादी सिद्धांतों पर ध्यान दें; यथार्थवादी, दिलचस्प किरदार बनाने की कोशिश करें, इसमें ऐसी छोटी कहानियां शामिल करें, जो एक बड़ी कहानी की ओर ले जाएँ, जिसकी वजह से दर्शक वापस आते रहें, और अपने वेबिसोड के लिए निर्धारित समय का ज़्यादा से ज़्यादा फायदा उठाएं। वेबिसोड लेखकों के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

लिखते रहें!

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

लिखें शॉर्ट फ़िल्म

शॉर्ट फ़िल्म कैसे लिखें

शॉर्ट फ़िल्में अपने आपमें कला का एक रूप हैं, जिनके लिए उन्हीं कौशलों की ज़रुरत होती है जो फीचर लिखने के लिए होती है; हालाँकि, शॉर्ट में आपको थोड़े से समय में पूरी कहानी बताने की ज़रुरत होती है। कई पटकथा लेखक जो फ़िल्म निर्माण में आना चाहते हैं, वो शॉर्ट फ़िल्म के साथ शुरुआत करते हैं जिसे निर्मित करना अपनी पहली फीचर बनाने से कहीं ज़्यादा आसान होता है। तो, आप कुछ छोटा लेकिन यादगार कैसे लिखते हैं? शॉर्ट फ़िल्म लिखना फीचर लिखने से कैसे अलग है? शॉर्ट फ़िल्म कितनी छोटी होनी चाहिए? आज मैं आपको शॉर्ट फ़िल्म लिखने के बारे में बताने वाली हूँ...

अंक, दृश्य और घटनाक्रम - इनमें से प्रत्येक कितना लम्बा होना चाहिए?

अगर मुझे अपनी पसंदीदा कहावत कहनी हो तो ये यह होगा कि नियम तो टूटने के लिए ही बने होते हैं (ज्यादातर - लेकिन गति सीमाएं इसमें नहीं आती हैं!), लेकिन नियमों को तोड़ने से पहले आपके लिए उनको जानना चाहिए। इसलिए, जैसे-जैसे मैं आपको पटकथा में अंकों, दृश्यों और घटनाक्रमों के समय के बारे में "दिशानिर्देश" देती हूँ इसे दिमाग में रखते जाइये। इन दिशानिर्देशों के होने का एक अच्छा कारण है (बिलकुल गति सीमाओं की तरह 😊) इसलिए इसमें बहुत ज्यादा गलती न करें, नहीं तो बाद में आपको इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। चलिए बिलकुल ऊपर से शुरू करते हैं। एक 90-110-पृष्ठ की पटकथा मानक होती है और इससे डेढ़ से दो घंटे तक की फिल्म बनती है। टीवी नेटवर्क डेढ़ घंटे की फिल्म को ज्यादा पसंद कर सकते हैं ...

पारंपरिक पटकथा के लगभग हर एक भाग के लिए पटकथा लेखन के उदाहरण

पारंपरिक पटकथा के लगभग हर एक भाग के लिए पटकथा लेखन के उदाहरण

जब आप पहली बार पटकथा लिखना शुरू करते हैं तो आप जल्दी में होते हैं! आपके पास बहुत अच्छा आईडिया होता है, आप इसे टाइप करने के लिए बेसब्र होते हैं। शुरुआत में, यह समझ पाना मुश्किल हो सकता है कि पारंपरिक पटकथा के विभिन्न पहलु कैसे दिखाई देने चाहिए। इसलिए, यहाँ पर पारंपरिक पटकथा के मुख्य भागों के लिए पटकथा लेखन के पांच उदाहरण दिए गए हैं! शीर्षक पेज: आपके शीर्षक पेज पर कम से कम जानकारी मौजूद होनी चाहिए। यह बहुत ज़्यादा भरा हुआ नहीं लगना चाहिए। सबसे पहले आपको शीर्षक (बड़े अक्षरों में), उसके बाद अगली लाइन में "लेखक," उसके नीचे लेखक का नाम, और नीचे बायीं तरफ़...