पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक विक्टोरिया लूसिया

शॉर्ट फ़िल्म कैसे लिखें

लिखें शॉर्ट फ़िल्म

लघु फिल्में अपने आप में एक कला का रूप हैं, जिसमें समान कौशल की आवश्यकता होती है जैसे कि लेखन; हालाँकि, थोड़े समय के लिए आपको एक पूरी कहानी सुनाने की आवश्यकता होती है। कई पटकथा लेखक जो आकार के लिए फिल्म निर्माण का प्रयास करना चाहते हैं, वे एक छोटी फिल्म के साथ शुरू करेंगे जो कि उनकी पहली विशेषता के निर्माण की तुलना में अधिक प्रबंधनीय है। तो, आप कैसे जल्दी लेकिन यादगार कुछ लिखते हैं? एक फीचर लिखने से एक छोटा अंतर कैसे लिखता है? बस एक शॉर्ट कितना छोटा होना चाहिए? आज मैं बात कर रहा हूं कि लघु फिल्म कैसे लिखूं।

लाइन में अपनी जगह पकड़ो, पटकथा लेखक! हम SoCreate स्क्रीन राइटिंग सॉफ़्टवेयर को लॉन्च करने के करीब पहुंच रहे हैं, सीमित संख्या में बीटा परीक्षक।

कितना छोटा?

आपकी कहानी की लम्बाई पूरी तरह से आपके ऊपर निर्भर करती है, लेकिन अगर आप इसे ख़ुद शूट करने और फिल्मोत्सवों में जमा करने की सोच रहे हैं तो ज़्यादा छोटी फ़िल्म बेहतर रहेगी। फिल्मोत्सवों के लिए, मैंने देखा है आपको अक्सर यह सलाह दी जाती है कि आपकी शॉर्ट फ़िल्म 10 मिनट से ज़्यादा लम्बी नहीं होनी चाहिए। ज़्यादा छोटी शॉर्ट फ़िल्म अनुसूची में कम समय लेती है, और इसलिए उन फिल्मोत्सवों के लिए सबसे अच्छा विकल्प होती है जो ज़्यादा से ज़्यादा शॉर्ट फ़िल्में चलाना चाहते हैं।

चीज़ों को सरल रखें

हम सभी चाहते हैं कि हमारी कहानी रोचक और कुछ ऐसी हो जैसी पहले कभी किसी ने न देखी हो। कभी-कभी, लेखक अपनी कहानी को ऐसा बनाने के लिए इसे बहुत ज़्यादा जटिल बना देते हैं। आपकी शॉर्ट फ़िल्म कई दृष्टिकोणों से लिखने के लिए, कई कथानक रखने के लिए, या कहानी के एक मोड़ से दूसरे मोड़ पर जाने के लिए सही विकल्प नहीं है। यह कोई अनिवार्य नियम नहीं है; आपको लिखते समय प्रयोग करते रहने चाहिए और नयी चीज़ें आजमानी चाहिए! इस बात का ध्यान रखें कि सरल कहानी ही वो कहानी है, जो दर्शकों को आसानी से पसंद आ सकती है और जिससे लोग आसानी से जुड़ सकते हैं।

अवधारणा महत्व रखती है

मजबूत अवधारणा आपकी शॉर्ट फ़िल्म को सबसे अलग बनाने में मदद कर सकती है। मजबूत अवधारणा वाली शॉर्ट फ़िल्म को पिच करना आसान होता है, पाठक और दर्शक इसे आसानी से याद रख पाते हैं, और अन्य लोग आसानी से इसके बारे में बातें कर पाते हैं!

पूरी कहानी बताएं

जहाँ शॉर्ट फ़िल्मों को फीचर-लेंथ आईडिया के लिए अवधारणा के साक्ष्य के रूप में प्रयोग किया जा सकता है, वहीं शॉर्ट फ़िल्म के लिए भी अपने आपमें अलग से उभरकर सामने आना और एक विशेष कहानी कहना ज़रुरी होता है। इसकी शुरुआत, मध्य और अंत हमेशा स्पष्ट होना चाहिए। आपके मुख्य किरदार के कुछ लक्ष्य होने चाहिए और बाधाओं से उनका सामना होना चाहिए, जिन्हें पार करके उन्हें आगे बढ़ना चाहिए। फीचर-लेंथ पटकथा की तरह, अंक ज़रुरी होते हैं, लेकिन छोटी लम्बाई में फिट होने के लिए दृश्य और घटनाक्रमों की संख्या में परिवर्तन किया जाता है।

दृश्य

हम सबने सुना है कि फ़िल्म एक दृश्यात्मक माध्यम है, और हमेशा इस चीज़ को ध्यान में रखकर लिखना चाहिए। आपकी शॉर्ट फ़िल्म के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण है! अगर आपके पास अपनी कहानी कहने के लिए केवल 10 मिनट हैं तो आपको शानदार दृश्यों की और महत्वपूर्ण प्रभाव डालने की ज़रुरत होती है। अपने पाठक या दर्शक पर गहरी छाप छोड़ें।

केवल वहीं कहें जो हमें जानने की ज़रुरत है

फीचर में, हमारे पास कहानी में रंग भरने के लिए और ऐसे पल देने के लिए ज़्यादा समय होता है, जो आपको किरदार, परिवेश, या लोगों के बीच के रिश्ते का ज़्यादा एहसास देंगे। संक्षेप में, आपको अपनी कहानी को सबसे महत्वपूर्ण पलों में सीमित करने की ज़रुरत होती है। अतिरिक्त पलों की कोई जगह नहीं होती। केवल ज़रुरी चीज़ें रखें, और किसी दृश्य में जल्दी से जाएँ और जल्दी ही बाहर निकलें।

किसी शॉर्ट फ़िल्म की पटकथा लिखते समय, आपको जो सबसे ज़रुरी चीज़ दिमाग में रखने की ज़रुरत होती है वो यह कि आपको चीज़ों को छोटा रखना होता है, दृश्यात्मक रहना होता है, और पूरी कहानी बतानी होती है। उम्मीद है, ये उपाय आपको अच्छे लगे होंगे और अगली बार शॉर्ट फ़िल्म लिखते समय आपके काम आएंगे। लिखने के लिए शुभकामनाएं!

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

लिखें पटकथा

पटकथा कैसे लिखें

आपका स्वागत है! पटकथा लिखने के लिए आप मेरे व्यापक गाइड पर आ गए हैं। मैं आपको पटकथा के विभिन्न जीवन-चक्रों से लेकर चलते हुए उनके बारे में आपका मार्गदर्शन करुँगी, जिसमें अपनी पटकथा की परिकल्पना सोचने से लेकर इसे दुनिया में लाने तक शामिल है। अगर आप पटकथा लिखने की सोच रहे हैं तो आप बिल्कुल सही जगह हैं। चलिए इसे शुरू करें! विचार-मंथन: सबसे पहली बात, आप किस बारे में लिखने वाले हैं? लिखना शुरू करने से पहले हमें आईडिया सोचने पड़ते हैं। अब यह सोचने का वक़्त आ गया है कि आपकी पटकथा की क्या शैली होगी, और अपनी कहानी बताने के लिए आप कौन सी संरचना इस्तेमाल करने वाले हैं...

वीडियो गेम्स के लिए पटकथा लेखक बनें

वीडियो गेम्स के लिए पटकथा लेखक कैसे बनें

वीडियो गेम इंडस्ट्री निश्चित रूप से तेज़ी से बढ़ रही है। तकनीक गेम्स को पहले से कहीं ज़्यादा यथार्थवादी बना रही है। आजकल के गेम्स में फ़िल्मों जैसे जटिल कथानक तैयार किये जाते हैं, और प्रशंसक उत्साही तरीके से इसके साथ जुड़कर इसे साल में खरबों डॉलर कमाने वाले उद्योग में बदल रहे हैं। और आपको पता है क्या? किसी न किसी को वो कहानियां लिखनी पड़ती हैं। तो फिर मुझे कोई वीडियो गेम्स के लिए पटकथा लेखक बनने के बारे में बात करता हुआ क्यों नहीं सुनाई देता? हर जगह पटकथा लेखन से जुड़े सुझाव मौजूद होने के बावजूद, गेम लिखने के उद्योग में जाने के बारे में जानकारी खोजना...

दिन की पटकथा

दिन की पटकथा

पटकथा लेखन की संरचना, लय, और उपकरण सहित, इस कला को सीखने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक है, पटकथाएं पढ़ना या यूं कहें तो बहुत सारी पटकथाएं पढ़ना। जैसा कि पटकथा लेखक ब्रायन यंग ने अपने पिछले साक्षात्कार में बताया था, आप नक़्शे के बिना घर बनाने की कोशिश नहीं करेंगे, और आप पहले पेशेवरों के नक़्शों पर नज़र डाले बिना भी अपना नक़्शा बनाने की कोशिश नहीं करेंगे। पटकथाएं किसी फ़िल्म का नक़्शा होती हैं, इसलिए उनसे आप इस बारे में बहुत कुछ सीख सकते हैं कि कोई चीज़ स्क्रीन पर कैसे काम करती है। नीचे, हम विभिन्न शैलियों की बेहतरीन पटकथाओं का पुस्तकालय बना रहे हैं...