पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

सेट पर टीवी लेखक की क्या भूमिका होती है?

हो सकता है कि नए टेलीविज़न लेखक सेट पर न जा पाएं।

जी हाँ आपने सही पढ़ा। मनोरंजन उद्योग के वर्तमान युग में, बजट के साथ-साथ लेखक की भूमिका और ज़िम्मेदारियां भी बदली हैं - और साथ ही राइटर्स रूम का आकार - घटता जा रहा है। और यह सिर्फ आपके रिज्यूमे के लिए ही बुरा नहीं है। बल्कि इससे आपका वॉलेट भी परेशान होता है।

ये ऐसे सबक हैं जिन्हें टीवी लेखिका, उपन्यासकार और निर्माता स्टेफनी के. स्मिथ प्रत्यक्ष रूप से सीख रही हैं। एक ऐसी व्यक्ति के रूप में जिन्होंने अपना पहला स्टाफ राइटर का पद 2016 में प्राप्त किया था, स्टेफनी अपनी आँखों के सामने टेलीविज़न लेखक के रूप में अपनी भूमिका बदलते हुए देख रही हैं। और इसके बड़े निहितार्थ हैं।

अपनी जगह पर बने रहें, पटकथा लेखक! हम जल्दी ही सीमित संख्या में बीटा टेस्टरों के लिए SoCreate का पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर शुरू करने वाले हैं। इस पेज से बाहर निकले बिना,

लेकिन इससे पहले कि हम उस तरह के बुरे समाचार के बारे में बात करें, आइये जानते हैं कि सेट पर एक लेखक की क्या भूमिका होती थी – और कुछ हद तक, अभी भी हो सकती है – यह समझने के लिए कि लेखक किस तरह से उस सामान्य दुर्दशा में पहुंचे हैं जिसमें वो वर्तमान में हैं।

निर्माण के दौरान सेट पर लेखक की पारंपरिक भूमिका

पारंपरिक रूप से, शानदार लेखन कौशलों वाले राइटर्स रूम के बड़े लेखकों (आम तौर पर, एक निर्माता, सह-कार्यकारी निर्माता, या उससे ऊपर के पद) को टेलीविज़न शो के निर्माण के दौरान सेट पर आमंत्रित किया जाता है, जहाँ उनका काम यह सुनिश्चित करना होता है कि पटकथा को सही से दर्शाया जा रहा है और साथ ही वो स्क्रिप्ट में थोड़े-बहुत बदलाव और रीराइट भी करते हैं। आम तौर पर, यह आमंत्रण मुख्य लेखकों के लिए आरक्षित होता है, जो राइटिंग स्टाफ द्वारा कहानी का विश्लेषण करने और उसकी रूपरेखा तैयार करने के बाद वास्तव में एपिसोड लिखते हैं। इन लेखकों को लेखन टीम में काम करने के अलावा इस काम के लिए अलग से पैसे मिलते हैं। वो सेट पर मूल्यवान समय बिताते हैं, जहाँ उन्हें निर्माण की बारीकियां सीखने का अवसर मिलता है। इस अनुभव से उन्हें राइटर्स रूम में ऊपर जाने पर अपना लेखन सुधारने में और कनेक्शन एवं अपना नेटवर्क बनाने में मदद मिल सकती है।

"पुराने मॉडलों में, जब आपको ABC के शो पर काम के लिए जाना पड़ता है और वहाँ पर फिल्मांकन चलता था, और आप 40 या उससे ज़्यादा हफ्तों की अवधि में 22 एपिसोड करते हैं, और जब बहुत तेज़ी से काम चल रहा होता है तब सबको सेट पर जाने का मौका मिलता है, और आप सेट से परिचित होते हैं," स्टेफनी ने शुरू किया। "और सेट पर आपके पद का क्रम आपके शीर्षक के अनुरूप होता है। आप वहाँ पर एक लेखक के रूप में हो सकते हैं, लेकिन वो टीम के प्रतिनिधि के रूप में ख़ुद किसी स्टाफ राइटर को वहाँ नहीं भेजेंगे। इसलिए, आप कितना सेट कवरेज करेंगे, और आप कितना निर्माण करेंगे, आप पोस्ट में कितना रहेंगे, और वगैरह-वगैरह के लिए अलग-अलग चीज़ों की उम्मीद की जाती है।"

लेकिन, यहीं समय बदल रहा है, स्टेफनी ने कहा।

स्टाफ राइटर का नया काम बस लिखना है

"दुर्भाग्य से अब, और यह संपूर्ण इंडस्ट्री की समस्या है कि यहाँ बहुत सारे शॉर्ट-ऑर्डर शोज़ और ऐसे शोज़ आ गए हैं जहाँ लेखकों को निर्माण से अलग कर दिया जाता है," उन्होंने कहा।

उन्होंने एक हालिया टेलीविज़न लेखन गिग को याद किया, जिसमें उन्हें 30 सप्ताह के मिनी रूम के लिए काम करने की ज़रूरत थी, जिसके बारे में, उन्होंने बताया कि वो एक तरह से मिनिएचर जैसा था। "तीस सप्ताह टेलीविजन लेखन का एक पूरा सीज़न होता है।"

एक पारंपरिक राइटर्स रूम में फॉर्मेट के आधार पर एक निर्धारित अवधि और एपिसोड की निर्धारित संख्या होती है, जिन्हें लिखने की ज़रूरत होती है। टेलीविज़न में एक मिनी-रूम आमतौर पर किसी लिमिटेड सीरीज़ या लगातार देखने लायक, स्ट्रीमिंग टेलीविज़न के लिए आरक्षित होता है जहाँ सभी एपिसोड एक ही बार में लॉन्च हो सकते हैं। अक्सर, कोई भी नेटवर्क या स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म शो को ऑर्डर करने के लिए प्रतिबद्ध नहीं होता है, इसलिए बजट और इस तरह, जोखिम कम करने के लिए समय और लेखकों की संख्या कम कर दी जाती है। लेखकों के लिए दहलीज़ पर पाँव रखने के लिए मिनी-रूम एक अच्छी जगह है, लेकिन स्थायी वेतन पाने के लिए यह उतनी अच्छी जगह नहीं है क्योंकि इसके गिग बहुत छोटे होते हैं।

"चूँकि रूम ख़त्म होने तक शो ऑर्डर नहीं किया गया था, इसलिए वो किसी भी लेखक को उनकी निर्माण फीस का भुगतान नहीं कर सकते थे। तो, आपका शीर्षक वास्तव में अर्थहीन था। आपका काम केवल रूम तक ही सीमित था क्योंकि उसके बाद शोरनर के अलावा कोई सेट पर नहीं जाता है, जो कार्यकारी निर्माता होता है।"

तो शुरू में सेट पर टीवी लेखकों के पद का जो मतलब होता था, वो अब थोड़ा बदल गया है।

स्टेफनी ने कहा, "और हमारे पास हम जैसे लोगों - यानी मध्यम-या ऊपरी स्तर पर जा रहे लेखकों - की कमी है, जिनके पास बहुत ज़्यादा सेट का अनुभव नहीं है क्योंकि उन्होंने ऐसे शो किये हुए हैं जिन्हें गैर-पारंपरिक तरीके से बनाया गया है।"

उदाहरण के लिए, "कार्निवल रो", जहाँ स्टेफनी पहले सीज़न में स्टाफ राइटर थीं और दूसरे सीज़न में कार्यकारी कहानी संपादक थीं, 2016 में लिखी गई थी। यह 2018 में बनी थी और 2019 में लोगों के सामने आई थी। लेखन और निर्माण के बीच की अवधि में इतने बड़े अंतर का मतलब था कि स्टेफनी का काम निर्माण शुरू होने से बहुत पहले ही ख़त्म हो गया था।

"अगर वो मुझे पर्यवेक्षण निर्माता के रूप में सेट पर भेजते तो मैं उन्हें ऐसे समझती कि, "सुनो, हमें कोई ऐसा चाहिए जो आने वाले फरवरी या मार्च में निश्चित रूप से उपलब्ध रहने वाला है," लेकिन ऐसा नहीं हो पाता। वो 20 हफ्ते का एक मिनी रूम करने वाले हैं जो ख़त्म हो जायेगा, और उस वक़्त तक, अगर मेरा शो चलता है, तो वैसे भी मेरा काम ख़त्म हो जायेगा। तो, यह एक अजीब तरह की पुरातन प्रणाली है।"

स्टेफनी ने भविष्यवाणी की है कि अगर चीज़ें वैसी ही चलती रहीं जैसे अभी हैं - और अब तक, अगर आप पिछले कुछ सालों में कई सारे मिनी-रूम की शुरुआत पर विचार करें तो यह संभावना दिखाई दे रही है - उन्होंने कहा, "ऐसी बहुत ज़्यादा संभावना है कि 2023 में लेखकों की हड़ताल हो जाए ... क्योंकि लोग वास्तव में नाराज़ हो रहे हैं।" उन्होंने कहा कि अब राइटर्स रूम में पद में ऊपर जाने का कोई मतलब नहीं है। "इस समय एक बड़ी उथल-पुथल चल रही है, जिसका नेतृत्व ज़्यादातर नेटफ्लिक्स कर रहा है।"

आपको यह ब्लॉग पोस्ट कैसा लगा? चीज़ें शेयर करना अच्छी बात है! इसलिए अगर आप इसे अपने मनपसंद सोशल प्लेटफॉर्म पर शेयर करते हैं तो हमें बहुत अच्छा लगेगा।

इसलिए, जहाँ नेटफ्लिक्स जैसे स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म ने नए लेखकों के लिए जगह बनाने के लिए अपने दरवाज़े खोल दिए हैं, वहीं उन्होंने अन्य अवसरों को बंद कर दिया है और लेखन रोजगारों को ज़्यादा अलग-थलग बना दिया है। अंत में, लेखकों को यह तय करने की आवश्यकता होगी कि वे क्या करना चाहते हैं - लिखना, या सेट पर रहना - क्योंकि, भविष्य में, शायद दोनों करने की कोई संभावना नहीं होगी जब तक कि आप कार्यकारी निर्माता नहीं होते हैं।

कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

ग्राफ़िक पर पटकथा लेखक मार्क गैफेन जिसपर लिखा है "टीवी लेखकों को कौन से कौशलों की ज़रूरत होती है"

वो कौशल जिनकी हर टीवी लेखक को ज़रूरत होती है

यह तो सबको पता है कि आपके पास एक शानदार टेलीविज़न स्क्रिप्ट, पायलट, या पूरी की पूरी सीरीज़ होनी ज़रूरी है, लेकिन कुछ ऐसे महत्वपूर्ण यह तो सबको पता है कि आपके पास एक शानदार टेलीविज़न स्क्रिप्ट, पायलट, या पूरी की पूरी सीरीज़ होनी ज़रूरी है, लेकिन कुछ ऐसे महत्वपूर्ण कौशल हैं जिन्हें ज़्यादा महत्व नहीं मिलता और लोग उनपर कुछ ख़ास ध्यान भी नहीं देते, लेकिन आपको उनकी बहुत ज़रूरत पड़ती है। कई टेलीविज़न लेखक सोचते हैं कि काश उन्हें इंडस्ट्री में कदम रखने से पहले इसके बारे में पता होता क्योंकि टीवी के लिए लिखना किसी भी दूसरी एंटरटेनमेंट राइटिंग पोज़ीशन से बहुत अलग होता है। स्क्रिप्ट कोऑर्डिनेटर मार्क गैफेन के साथ एक साक्षात्कार में, जिन्होंने ख़ुद टेलीविज़न के कुछ एपिसोड भी लिखे हैं...

हॉलीवुड कैसे काम करता है?

हॉलीवुड कैसे काम करता है?

क्या आपने कभी कोई फ़िल्म या टीवी शो देखते समय यह सोचा है कि इसे कैसे बनाया गया होगा? इससे मेरा कोई बुरा मतलब नहीं है कि, "यह कैसे बन गया?!", बल्कि मेरा सवाल काफी हद तक इसके पूरे निर्माण के बारे में है। कैसे कोई फ़िल्म या टीवी शो कल्पना से लेकर पूर्णता तक पहुंचता है? हॉलीवुड कैसे काम करता है, यह जानने के लिए कृपया आगे पढ़ें! सबसे पहले, किसी फ़िल्म या टीवी शो का निर्माण एक लंबी-चौड़ी प्रक्रिया है, जिसमें बहुत सारे चरण होते हैं जिन्हें पूरा करने में वर्षों लग सकते हैं। हालाँकि, फ़िल्म और टेलीविज़न अलग-अलग माध्यम हैं, फिर भी आपको इनमें काफी समानताएं दिखाई देंगी क्योंकि, मूल रूप से, उनका निर्माण तीन विशेष चरणों में होता है: प्री-प्रोडक्शन, प्रोडक्शन और पोस्ट-प्रोडक्शन...

किसी टीवी शो की स्क्रिप्ट में कितने दृश्य होते हैं?

किसी टीवी शो की स्क्रिप्ट में कितने दृश्य होते हैं?

टेलीविज़न स्क्रिप्ट थोड़ी-बहुत सामान्य पटकथा की तरह होती है, लेकिन कई मूलभूत तरीकों से उससे काफी अलग भी होती है। आपके शो की लम्बाई, इसके अंकों की संख्या, और जिस तरह का शो आप लिख रहे हैं उसके आधार पर दृश्यों की संख्या अलग-अलग हो सकती है। अगर आप अपनी पहली टेलीविज़न स्क्रिप्ट लिखने जा रहे हैं तो दिशानिर्देशों का पालन करने की चिंता न करें और अपनी कहानी असरदार तरीके से कहने में लगने वाले दृश्यों की संख्या के बारे में ज़्यादा सोचें। आप कभी भी इसकी संख्या कम कर सकते हैं, लम्बाई छोटी कर सकते हैं, या बाद में स्क्रिप्ट को किसी ख़ास साँचें में ढालने के लिए चीज़ें बदल सकते हैं। लेकिन आजकल के ज़माने में, टेलीविज़न लेखक से संबंधित सख्त नियम बहुत कम देखने को मिलते हैं, क्योंकि स्ट्रीमिंग में कोई नियम नहीं होते...