पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक विक्टोरिया लूसिया

रचनात्मकता आपके स्वास्थ्य के लिए क्यों अच्छी है

रचनात्मकता आपके स्वास्थ्य के लिए क्यों अच्छी है

रचनात्मक होने का क्या मतलब है? कुछ लोगों के लिए रचनात्मक होने का मतलब है किसी कलात्मक जुनून का पता लगाना; दूसरों के लिए, यह सबसे अलग सोचना होता है। कुछ लोग आजीविका कमाने के लिए अपनी रचनात्मकता के भरोसे होते हैं, और वहीं कुछ लोग बस अपने खाली समय में इसपर काम करना पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि रचनात्मकता आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है? मानसिक स्वास्थ्य की स्थितियों और शारीरिक स्वास्थ्य के लाभों को बेहतर बनाने के लिए आप अपनी रचनात्मकता का प्रयोग कैसे कर सकते हैं, यह जानने के लिए आगे पढ़ें!

अगर मैं रचनात्मक नहीं हुआ तो?

कुछ लोग अपने आपको रचनात्मक नहीं मानते, जो बिल्कुल भी सच नहीं है। रचनात्मकता के कई सारे स्तर हैं। रचनात्मक होना मानव का स्वभाव है! आदिमानवों को खाना पाने के लिए रचनात्मक होना पड़ता था। अगर रचनात्मकता न होती तो आपको क्या लगता है कि आग या पहिये की खोज कैसे हुई थी? वो सबसे अलग सोच के उदाहरण हैं, लेकिन गुफाओं में भित्ति चित्रों के रूप में आदिमानवों के रचनात्मक कलात्मक खोज के स्पष्ट साक्ष्य मौजूद हैं। रचनात्मक होना ही मनुष्य का काम है, लेकिन आप इसे जिस तरह से व्यक्त करते हैं वो आपको दूसरों से अलग बनाता है। रचनात्मक होना कलात्मक गतिविधियों तक सीमित नहीं है।

अपनी जगह पर बने रहें, पटकथा लेखक! हम जल्दी ही सीमित संख्या में बीटा टेस्टरों के लिए SoCreate का पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर शुरू करने वाले हैं। इस पेज से बाहर निकले बिना,

कई बार, लोग रचनात्मकता को किसी चीज़ में अच्छा होने और फिर उससे, पैसा कमाने में सक्षम होने के साथ जोड़ देते हैं। रचनात्मकता को सीधे लाभ से जोड़ने की ज़रूरत नहीं है! आप रचनात्मक गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं और आपको उनका आनंद लेना भी चाहिए, भले ही आप उनसे कितने भी पैसा कमाएं। रचनात्मक गतिविधि का आनंद लेने के लिए आपको उसमें "अच्छा" होने की भी आवश्यकता नहीं है। रचनात्मक कामों का उद्देश्य स्वयं को अभिव्यक्त करना, कुछ नया करने की कोशिश करना, या कुछ असाधारण करना है! रचनात्मकता के साथ आनंद लेना इस प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण घटक है।

रचनात्मकता के लाभ

रचनात्मक अभिव्यक्ति मस्तिष्क के काम और मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छी है

रचनात्मकता का मस्तिष्क के काम पर काफी प्रभाव पड़ता है और यह समग्र स्वास्थ्य का एक आवश्यक घटक है। रचनात्मक आउटलेट होने से एक प्रसन्न, स्वस्थ और कम तनावग्रस्त मस्तिष्क का निर्माण हो सकता है। जब आप किसी रचनात्मक काम में लीन होते हैं, तो यह चिंता और नकारात्मक भावनाओं को कम करता है, आपकी हृदय गति को धीमा करता है, और आपके मूड में सुधार करता है। जब आप कुछ बनाने में सफल हो जाते हैं, तो मस्तिष्क डोपामाइन का उत्पादन करके प्रतिक्रिया करता है, जो एक ऐसा रसायन है जो अच्छी, सकारात्मक भावनाओं और ख़ुशी के लिए ज़िम्मेदार होता है, जो आपको रचना जारी रखने के लिए प्रेरित करता है।

मस्तिष्क पर सकारात्मक प्रभाव के संबंध में रचनात्मकता की तुलना ध्यान से की गई है। अध्ययनों से पता चला है कि रचनात्मकता की खोज अवसाद, अवसादग्रस्तता के लक्षणों और चिंता को कम करने में मदद कर सकती है और आघात से निपटने में मदद कर सकती है।

रचनात्मक कार्य मनोभ्रंश या अन्य संज्ञानात्मक गिरावट की बीमारियों वाले रोगियों में अवसाद और अलगाव का भी प्रभावी ढंग से मुकाबला कर सकते हैं।

मस्तिष्क पर रचनात्मक गतिविधि के प्रभाव से जुड़े तथ्य:

  • संगीत सुनने को चिंता कम करने, नकारात्मक मूड को दूर करने और रक्तचाप कम करने के लिए जाना जाता है।

  • अतिरिक्त अध्ययनों से पता चलता है कि अर्थपूर्ण लेखन लोगों को घटनाओं, अनुभवों और भावनाओं को संसाधित करने में मदद कर सकता है। ऐसा माना जाता है कि लेखन का किसी व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

  • वाद्य यंत्र बजाने से मस्तिष्क के बाएँ और दाएँ हिस्सों के बीच जुड़ाव में सुधार होता है, जिससे संज्ञानात्मक कार्यक्षमता बेहतर होती है।

  • दृश्य कला उपचार कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का सामना करते समय एक सहायक गतिविधि होती है। कला उपचार रोगी को अपनी बीमारी की चिंता करने और उसपर केंद्रित रहने से छुटकारा देती है।

रचनात्मक अभिव्यक्ति शारीरिक स्वास्थ्य के लिए अच्छी है

अध्ययनों से पता चला है कि रचनात्मक अभिव्यक्ति से होने वाले लाभ केवल मानसिक स्वास्थ्य तक सीमित नहीं हैं, बल्कि यह शारीरिक स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद है। रचनात्मक काम लोगों को पुराने दर्द से निपटने, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने और रोगियों के मोटर कौशल को बहाल करने में मदद कर सकते हैं। संगीत उपचार और गायन जैसी गतिविधियों को सूजन कम करने, जोड़ों पर तनाव कम करने के लिए भी जाना जाता है!

कुछ रचनात्मक गतिविधियों में दूसरों से ज़्यादा शारीरिक रूप से संलग्न होना पड़ता है। अभिनय, नृत्य, योग, बागवानी और मूर्तिकला अपने शरीर में गतिविधि बनाये रखने के कुछ अच्छे तरीके हो सकते हैं।

आपके जीवन में शामिल करने के लिए कुछ रचनात्मक गतिविधियों के आईडिया

क्या आप अपने स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव प्राप्त करने के लिए नई रचनात्मक गतिविधियों की तलाश कर रहे हैं? ठीक है, यहाँ पर आपको शुरू करने के लिए कलात्मक अभिव्यक्ति के विचारों की एक सूची दी गई है!

  • रचनात्मक लेखन

  • नृत्य

  • जिल्दसाजी

  • चित्रकारी

  • कढ़ाई

  • फूल व्यवस्थित करना

  • वाद्ययंत्र बजाना सीखना

  • गायन

  • गीत लेखन

  • ध्यान

  • रंग भरना

  • ग्लास ब्लोइंग

  • बागवानी

  • पेंटिंग

  • मूर्तिकला

  • खाना बनाना

  • अभिनय करना

  • लकड़ी पर नक्काशी

  • डिज़ाइन

  • क्राफ्टिंग

  • स्क्रैपबुकिंग

  • फोटोग्राफी

  • पहेलियाँ

  • गेम

  • अपसाइक्लिंग

  • योग

क्या आपको यह ब्लॉग पोस्ट अच्छा लगा? बांटना परवाह करना है! अगर आप इसे अपने मनपसंद सोशल प्लेटफॉर्म पर शेयर करते हैं तो हमें बहुत अच्छा लगेगा।

उम्मीद है, इस ब्लॉग से आपको इस बारे में थोड़ी जानकारी मिली होगी कि रचनात्मकता हमारे समग्र स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करती है! मुझे आशा है कि आप अपने खाली समय में कोई रचनात्मक काम करने के लिए थोड़ा समय निकालेंगे, जो आपके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करती है और आपको अच्छे मूड में रखती है। मज़े करें, रचनात्मक बनें, और लिखते रहें!

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

ध्यान तकिया

अपनी रचनात्मकता तक पहुँचने के लिए पटकथा लेखक के ध्यान का प्रयोग करें

हाल ही में एक ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से मेरा सामना डॉ. मिहाइला ईवान होल्ट्ज़ से हुआ जिसमें उन्होंने ज्यादा परिपूर्ण कलाकार होने के बारे में लिखा था। मैंने SoCreate के ट्विटर खाते से उनके ब्लॉग का लिंक पोस्ट किया था, और यह हमारा आज तक का सबसे ज्यादा क्लिक किया गया लेख बना हुआ है। फिल्म, टीवी, और प्रदर्शन एवं फाइन आर्ट्स से संबंधित लोगों का इलाज करने में विशेषज्ञ होने के नाते, उनके पास रचनात्मक अवरोधों को पार करने के संबंध में हमारे लिए एक विशेष दृष्टिकोण था। उनका तरीका ऐसा नहीं था जिसे मैंने पहले कभी किसी पटकथा लेखन ब्लॉग पर देखा हो, जो ज्यादातर कैसे करें के निर्देशों, पेशेवर लोगों के साथ साक्षात्कारों और फॉर्मेटिंग के नियमों पर आधारित होते हैं। यह उससे भी ज्यादा गहराई में जाता है, और मुझे पता था कि मैं ...
"कहानियां क्यों लिखें" के ग्राफ़िक पर जोनाथन मैबेरी, जीन बोमरन, और डग रिचर्डसन

कहानियां क्यों लिखें? ये 3 पेशेवर अपने जवाब से हमें जीवन दे रहे हैं

पिछले साल एक साक्षात्कार सत्र के दौरान हम पेशेवर रचनात्मक लोगों के इस प्रभावशाली-पैनल को किसी तरह एक साथ जुटाने में सफल हुए थे, और यहाँ कहानियों के विषय पर बहुत शानदार चर्चा हुई, विशेष रूप से इस बारे में कि हम कहानियां क्यों लिखते हैं। लिखने की प्रेरणा पाने के लिए नीचे साक्षात्कार से लिखने के लिए प्रेरणादायक अनमोल वचन पढ़ें या पांच मिनट समय निकालकर वीडियो साक्षात्कार देखें। इस चर्चा में अलग-अलग पृष्ठभूमियों से आने वाले हमारे कुछ पसंदीदा लेखक मौजूद थे। जोनाथन मैबरी न्यूयॉर्क टाइम्स के बेस्टसेलिंग सस्पेंस लेखक, कॉमिक बुक लेखक, नाटककार और शिक्षक हैं। मैबेरी की बेहद लोकप्रिय कॉमिक सीरीज़ पर आधारित नेटफ्लिक्स की सीरीज़ "वी-वॉर्स" 2019 में आयी थी। जीन वी. बोवेरमन पटकथा लेखिका, पाइपलाइन आर्टिस्ट्स की प्रमुख संपादिका...
निर्माता डेविड अल्परट जेनेट वालेस से बात करते हैं

अजीब को लेकर महान कैसे बनाएं पर निर्माता डेविड एलपर्ट की राय

एक हाई स्कूल छात्र के रूप में एक महीने में 6,000 कॉमिक बुक्स बेचने से लेकर, वाकिंग डेड जैसी मेगा-हिट का निर्माण करने के बीच में, डेविड एलपर्ट ने "अजीब को लेकर महान बनाने" के बारे में कुछ चीजें सीखी हैं। और हाल ही में उन्होंने सैन लुइस ओबिस्पो काउंटी में अपनी यात्रा के दौरान इसी शीर्षक वाली एक शाम में इन सीखों को साझा किया। यह कार्यक्रम पेसो रॉबल्स में स्टूडियोज ऑन द पार्क में क्रिएटिव चैट्स की एक श्रृंखला में पहला था। जहाँ एलपर्ट को मुख्य रूप से द वाकिंग डेड श्रृंखला के लिए जाना जाता है, वहीं उन्होंने बीबीसी के डर्क जेंटलीज होलिस्टिक डिटेक्टिव एजेंसी, और जेसी ईसेनबर्ग और क्रिस्टन स्टीवर्ट अभिनीत अमेरिकन अल्ट्रा के निर्माण में भी सफलता हासिल की है। वह हार्वर्ड और एनवाईयू लॉ स्कूल के ...