पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

पटकथा लेखन प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने के 2 सबसे ज़रूरी कारण

क्या पटकथा लेखन प्रतियोगिताओं पर समय देना सही है? जीन वी. बोवरमैन कहती हैं, हाँ, कई पटकथा लेखकों के लिए यह ज़रूरी हैं, जो स्क्रिप्ट मैगज़ीन की प्रमुख संपादक, और एक ऐसी लेखिका हैं जिन्होंने ख़ुद पटकथा लेखन प्रतियोगिताओं में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। लेकिन इनाम जीतना सबकुछ नहीं होता।

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

कुछ पटकथा प्रतियोगिताएं नकद इनाम से लेकर परामर्श तक, और सदस्यता से लेकर पटकथा के पूरे निर्माण तक, विजेताओं के लिए शानदार इनाम प्रदान करती हैं। ज़ाहिर तौर पर, ये इनाम बहुत अच्छे हैं, लेकिन आप जो भी प्रतियोगिता चुनते हैं (इसपर नीचे ज़्यादा जानकारी पाएं) उसके आधार पर, इसमें हिस्सा लेने के दो और अच्छे कारण हैं:

  • कारण #1: इससे प्रतिस्पर्धा का अनुमान लगता हैं

    "यह अनुमान लगाना बहुत ज़रूरी है कि आप प्रतिस्पर्धा में कहाँ हैं," जीन ने हमें बताया। आपको इसका अच्छा अंदाज़ा लगता है कि "झुण्ड में आप कहाँ आते हैं," उन्होंने कहा। आप यह भी सीखेंगे कि आपको किस चीज़ पर काम करने की ज़रूरत है, कौन सी चीज़ दूसरी पटकथाओं को अलग बनाती है, और आपको बेहतर कैसे होना है – ख़ास तौर पर अगर आप किसी ऐसी प्रतियोगिता में हिस्सा लेते हैं जो नोट्स प्रदान करती है तो आप यह अच्छे से जान पाते हैं।

  • कारण #2: यह आपके रिज्यूमे पर अच्छा लगता है

    ऐसा ज़रूरी नहीं है कि पटकथा लेखकों के पास कोई रिज्यूमे हो, लेकिन, एजेंट क्वेरी जैसे पत्रों पर आपके फ़ाइनलिस्ट, सेमी-फ़ाइनलिस्ट या यहाँ तक ​​कि क्वार्टर-फ़ाइनलिस्ट का बैज होने का अच्छा प्रभाव पड़ सकता है। और अगर आप कोई अच्छी प्रतियोगिता जीतते हैं तो लोग आपको खोजने भी आ सकते हैं।

    जीन आगे कहती हैं, "यह आपको थोड़ा जांचता है।"

    लेकिन ख़ुद को और अपनी पटकथा को बेचने के लिए केवल प्रतियोगिताओं पर निर्भर न रहें।

    "आपको यह याद रखना होगा कि सबकुछ व्यक्ति-निष्ठ होता है," जीन ने कहा। "आपकी एक ही पटकथा किसी प्रतियोगिता में बहुत अच्छा प्रदर्शन करेगी, और किसी दूसरी प्रतियोगिता में क्वार्टर-फ़ाइनल में भी नहीं पहुँच पायेगी। हो सकता है आपने कोई बहुत मज़ेदार रोमांटिक कॉमेडी लिखी हो, और इसे पढ़ने वाले का हाल ही में तलाक हुआ हो।"

पटकथा लेखन प्रतियोगिताओं का ज़्यादा से ज़्यादा लाभ उठाने के लिए कुछ ज़रूरी चीज़ें:

  • सफलता की कहानियां

    किसी भी प्रतियोगिता में हिस्सा लेने से पहले, और अगर इसके लिए शुल्क लगता है तो उसे भरने से पहले, देखें कि प्रतियोगिता के पिछले विजेताओं के लिए उस लागत की भरपाई कहाँ हुई है? अब वो कहाँ हैं? क्या उनका कोई प्रतिनिधित्व है? क्या उन्हें लेखकों के कमरे में काम दिया गया है? या वो पूरी तरह से गायब हो गए हैं?

  • बड़ा इनाम

    जीतने पर आपको क्या मिलता है? कुछ लोगों के लिए पैसा ज़रूरी होता है। दूसरों के लिए किसी बड़े पटकथा लेखक, मैनेजर, या परामर्शदाता से अपनी पटकथा की समीक्षा करवाने का मौका मिलना ज़रूरी होता है। इस बात का ध्यान रखें कि इनाम वैध हो, और आपके करियर को आगे बढ़ाने में मददगार हो। आख़िरकार, कोई भी इसे प्लास्टिक की ट्रॉफी के लिए नहीं करेगा!

  • अपने पैसों पर ध्यान दें

    जैसा कि जीन कहती हैं, "भुगतान पाने वाले पटकथा लेखकों के मुक़ाबले भुगतान चाहने वाले पटकथा लेखकों की संख्या ज़्यादा है।" चूँकि हममें से ज़्यादातर लोग अभी लाखों नहीं कमा रहे हैं, इसलिए अपने पैसे ध्यान से खर्च करें। कई पटकथा लेखन प्रतियोगिताओं के लिए आपको $100 से ज़्यादा देने पड़ सकते हैं, और वो सब एक समान नहीं होते हैं। कुछ के लिए, आप अपनी पटकथा पर प्रतिक्रिया पाने के लिए थोड़ा ज़्यादा पैसे देने का चुनाव कर सकते हैं, और वो आपके लिए फ़ायदेमंद हो सकता है। आप ऐसा नहीं चाहेंगे कि आपकी पटकथा को कोई कारण दिए बिना ही अस्वीकार कर दिया जाए या आपको इसे सुधारने का तरीका न बताया जाए।

प्रतियोगिता शुरू करें,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

पारंपरिक पटकथा में मोंटाज़ लिखने के 2 तरीके

पारंपरिक पटकथा में मोंटाज़ लिखने के 2 तरीके

मोंटाज़। हम सभी देखने पर इसे जान जाते हैं, लेकिन असल में वहां क्या हो रहा होता है? मैं अपनी पटकथा में मोंटाज़ कैसे फॉर्मेट करूँ? अगर मेरा मोंटाज़ एक से ज्यादा स्थानों में हो रहा है तो क्या होगा? यहाँ मोंटाज़ लिखने के बारे में कुछ उपाय और सुझाव दिए गए हैं जिनसे मुझे अपने लेखन में मदद मिली है। वास्तव में मोंटाज़ क्या होता है? मोंटाज़ छोटे दृश्यों या पलों का संग्रह होता है जिसे तेजी से समय का बीतना दिखाने के लिए एक साथ जोड़ा जाता है। आमतौर पर, मोंटाज़ में बहुत कम, या बिल्कुल संवाद नहीं होते हैं। मोंटाज़ का इस्तेमाल समय को संक्षिप्त करने के लिए किया जा सकता है और छोटी अवधि में हमें कहानी का बड़ा हिस्सा बताया जा सकता है। मोंटाज़ का प्रयोग कई स्थानों पर मौजूद चरित्रों को ऐसी चीजें करते हुए दिखाने के लिए किया जा ...

पारंपरिक पटकथा में 3 अंक और 5 अंक की संरचनाओं का विश्लेषण

पारंपरिक पटकथा में 3 अंक और 5 अंक की संरचनाओं का विश्लेषण

तो आपके पास कोई कहानी है, और आपको यह बहुत पसंद है! आपके पास ऐसे चरित्र हैं जो असली लोगों की तरह हैं, आप सभी बीट्स और कथानक को अच्छी तरह से जानते हैं, और आपके दिमाग में एक अलग मूड और टोन है। अब आप इस चीज की संरचना कैसे बनाते हैं? खैर, कभी-कभी मैं खुद भी इसके बारे में सोचती हूँ! मेरी पटकथा में कितने अंक होने चाहिए? फिल्म में 3 अंक की संरचना क्या है, और आप 5 अंक की संरचना कैसे लिखते हैं? 4 अंक की संरचना क्या है और इसका प्रयोग कब किया जाता है? पटकथा में 3 अंक की संरचना और 5 अंक की संरचना के बीच चुनाव करते समय मैं यहाँ पर दी गयी कुछ चीज़ों पर विचार करती हूँ...

पारंपरिक पटकथा में फ्लैशबैक

समय में पीछे जाना: पारंपरिक पटकथा में फ्लैशबैक कैसे लिखें

“फ्लैशबैक” शब्द सुनते ही मेरा दिमाग "वेन्स वर्ल्ड" पर चला जाता है, जहाँ वेन और गार्थ अपनी उंगलियां हिलाते हुए कहते हैं, "डिडले-इडले-उम, डिडले-इडली-उम" और हम अतीत में मिल जाते हैं। काश, सभी फ्लैशबैक इतने ही आसान और मज़ेदार होते! अगर आप यह सोच रहे हैं कि पटकथा में फ्लैशबैक के फॉर्मेट, और उन्हें पेश करने के संबंध में पारंपरिक पटकथा में फ्लैशबैक कैसे लिखा जाता है, तो यहाँ आपके लिए कुछ उपाय दिए गए हैं जिनसे आपको मदद मिल सकती है! फ्लैशबैक क्या है? फ्लैशबैक आपकी कहानी का एक ऐसा क्षण होता है, जहाँ आप चाहते हैं कि पाठक या दर्शक किरदार, उनकी पृष्ठभूमि और उनकी कहानी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण चीज़ें जानने के लिए समय में पीछे जाएँ। फ्लैश बैक ऐसे किसी भी समय से हो सकता है, जो आपकी पटकथा में दर्शाया गया वर्तमान समय नहीं है...