पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक विक्टोरिया लूसिया

पारंपरिक पटकथा में 3 अंक और 5 अंक की संरचनाओं का विश्लेषण

तो आपके पास कोई कहानी है, और आपको यह बहुत पसंद है! आपके पास ऐसे चरित्र हैं जो असली लोगों की तरह हैं, आप सभी बीट्स और कथानक को अच्छी तरह से जानते हैं, और आपके दिमाग में एक अलग मूड और टोन है। अब आप इस चीज की संरचना कैसे बनाते हैं?

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

खैर, कभी-कभी मैं खुद भी इसके बारे में सोचती हूँ! मेरी पटकथा में कितने अंक होने चाहिए? फिल्म में 3 अंक की संरचना क्या है, और आप 5 अंक की संरचना कैसे लिखते हैं? 4 अंक की संरचना क्या है और इसका प्रयोग कब किया जाता है? पटकथा में 3 अंक की संरचना और 5 अंक की संरचना के बीच चुनाव करते समय मैं यहाँ पर दी गयी कुछ चीज़ों पर विचार करती हूँ।

पारंपरिक पटकथा में 3 अंक और 5 अंक की संरचनाओं का विश्लेषण

3 अंक की संरचना

3 अंक की संरचना की रूपरेखा:

  • अंक 1:

    सेटअप, हमें पता चलता है कि क्या हो रहा है, प्रेरक घटना होती है।

  • अंक 2:

    बाधाएं/चुनौतियां आती हैं, गतिविधि बढ़ती है, हम जोखिम का स्तर बढ़ाते हैं, इस अंक में मध्य बिंदु आता है।

  • अंक 3:

    संकट/चरम सीमा आती है, और उस पतन गतिविधि के बाद, कहानी हल हो जाती है, और चीजों का कारण पता चल जाता है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • कुल मिलाकर इसमें अंक 1: सेटअप, अंक 2: सामना, अंक 3: समाधान होता है

  • मूल रूप से यह सरल, सहज है, सभी कहानियों में शुरुआत, मध्य और अंत होता है

  • दर्शकों के लिए बहुत जानी-पहचानी संरचना है

  • दूसरी संरचनाएं अक्सर अन्य चीजों के साथ 3 अंक की संरचना का ही विस्तृत संस्करण होती हैं

3 अंक की संरचना के उदाहरण:

"स्टार वार्स," "द गूनीज़," और "डाई हार्ड," 3 अंक की संरचना के अच्छे उदाहरण हैं।"

मुझे 3 अंक की संरचना प्रयोग करने पर क्यों विचार करना चाहिए?

यह उपयोगी है! यह समय के साथ परखी हुई है, यह सबसे जानी-पहचानी संरचना है, और इसके साथ काम करना आसान है।

5 अंक की संरचना

5 अंक की संरचना की रूपरेखा:

  • अंक 1:

    सेटअप। क्या चल रहा है? प्रेरक घटना होती है।

  • अंक 2:

    बढ़ती गतिविधि। संघर्ष शुरू होते हैं।

  • अंक 3:

    हर चीज चरम पर पहुंच जाती है।

  • अंक 4:

    पतन गतिविधि। समस्याएं सुलझने लगती हैं, चीजें समझ आने लगती हैं।

  • अंक 5:

    समाधान/निष्कर्ष। यह दिखा सकता है कि यहाँ से हम कहाँ जाते हैं।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • आमतौर पर एक-घंटे के टीवी शो में प्रयोग किया जाता है (हालाँकि, स्ट्रीमिंग सेवाओं या प्रीमियम केबल चैनलों की वजह से अब कम समय के शो में भी प्रयोग किया जाता है, जहाँ व्यावसायिक ब्रेक की कमी के कारण अंक चिंता का विषय नहीं होते)"

  • यह केवल 3 अंक की संरचना का विस्तारित संस्करण है

5 अंक की संरचना के उदाहरण:

"सिकारो," "गर्ल विद द ड्रैगन टैटू," और "ब्रेकिंग बैड," का पायलट 5 अंक की संरचना के अच्छे उदाहरण हैं।

मुझे 5 अंक की संरचना प्रयोग करने पर क्यों विचार करना चाहिए?

जैसा कि मैंने पहले बताया, अगर आप टीवी पायलट लिख रहे हैं, या अगर आप किसी फीचर-लेंथ पटकथा को 3 अंक की संरचना से थोड़ा ज्यादा विभाजित करना चाहते हैं तो आप इसका प्रयोग कर सकते हैं।

मैं इन दोनों तरीकों के संस्थापकों और उनके इरादों के बारे में बात कर सकती हूँ, लेकिन आपको वो सब जानने की आवश्यकता नहीं है। मैं एक मार्गदर्शक की तरह इन संरचनाओं का प्रयोग करने पर विश्वास करती हूँ, न कि धर्म की तरह। आपको इन नुस्खों पर जीने-मरने की जरूरत नहीं है।

क्योंकि अंत में अगर आपके पास कोई बहुत अच्छी पटकथा है तो क्या फर्क पड़ता है कि आपने कौन सी संरचना चुनी थी? वहां पहुंचना ही बड़ी बात है, इसलिए उन बुनियादी चीजों का चुनाव करना आपके ऊपर है जो आपको एक बहुत अच्छी पटकथा तक पहुंचाएंगी। मेरी सलाह है आप इसे लेकर ज्यादा परेशान न हों कि आपको कौन सा फॉर्मेट प्रयोग करना चाहिए, और इसके बजाय अपनी कहानी को सबसे अच्छे तरीके से बताने पर ध्यान दें। केवल इतना मायने रखता है कि कहानी रोचक, दिलचस्प, यादगार और अच्छी तरह बताई गयी हो।

लिखने के लिए शुभकामनाएं।

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

डग रिचर्डसन का ग्राफ़िक जो कहता है "थोड़े या बिना किसी संवाद वाली पटकथा कैसे लिखें"

मौन पर वापसी: थोड़े या बिना किसी संवाद वाली पटकथा कैसे लिखें

शॉर्ट फिल्मों से लेकर फीचर फिल्मों तक, आजकल ऐसी फिल्में बनाई जा रही हैं जिनमें थोड़े संवाद से लेकर कोई भी संवाद नहीं होते हैं। और इन फिल्मों की पटकथा अक्सर इसका सबसे अच्छा उदाहरण होती है कि पटकथा कैसी होनी चाहिए, जो केवल विजुअल स्टोरीटेलिंग की तकनीकों के प्रयोग से बताने का नहीं, बल्कि दिखाने का प्रदर्शन होती हैं। । हमने पटकथा लेखक डग रिचर्डसन ("बैड बॉयज़," "डाई हार्ड 2," "होस्टेज") से पूछा कि उनके अनुसार थोड़े संवाद या बिना किसी संवाद वाली पटकथा लिखने में सफल होने के लिए क्या महत्वपूर्ण है। उन्होंने हमें बताया, "ओह, यह बहुत आसान है। थोड़े या बिना किसी संवाद वाली पटकथा कैसे लिखें, और पाठक की दिलचस्पी कैसे बनाये रखें? यह बहुत आसान चीज है। एक ऐसी कहानी बताएं जो पाठक को पेज पलटने पर मजबूर कर दे।"पटकथाएं फिल्म का नक्शा होती हैं, ...
"अपना पहला पेज अच्छे से कैसे लिखें" के ग्राफ़िक पर जोनाथन मैबरी

न्यूयॉर्क टाइम्स बेस्टसेलर जोनाथन मैबरी आपको बताते हैं कि पहला पेज अच्छे से कैसे लिखें

कभी-कभी कुछ बुरा लिखने का विचार मुझे कुछ भी लिखने से रोकता है। लेकिन यह एहसास खत्म हो जाता है, A) क्योंकि मैंने अपने आपको वो अवरोध पार करने के लिए प्रशिक्षित किया है, और B) क्योंकि अगर मैं नहीं लिखता/लिखती तो मुझे पैसे नहीं मिलते! दूसरा कारण बहुत प्रेरक है, लेकिन यह कुछ ऐसा नहीं है जिसपर ज्यादातर पटकथा लेखक हमेशा निर्भर रह सकते हैं। नहीं, आपकी प्रेरणा आपके अंदर से आनी चाहिए। तो, अगर आप अपनी पटकथा के शीर्षक पेज से आगे नहीं बढ़ पाते तो आप क्या करते हैं? न्यूयॉर्क टाइम्स बेस्टसेलर जोनाथन मैबरी के पास अपनी पटकथा शुरू करने और सबसे अच्छा पहला पेज लिखने के लिए कुछ सलाह है, और यह उत्तमता को छोड़ने के साथ शुरू होता है...

पारंपरिक पटकथा लेखन में बड़े अक्षरों का इस्तेमाल

पटकथा में बड़े अक्षर में रखी जाने वाली 6 चीज़ें

पारंपरिक पटकथा लेखन में बड़े अक्षरों का इस्तेमाल कैसे करें

पारंपरिक पटकथा फॉर्मेटिंग के कुछ दूसरे नियमों के विपरीत, बड़े अक्षरों का नियम पत्थर की लकीर नहीं है। जहाँ प्रत्येक लेखक की अलग शैली पटकथा लेखन के दौरान बड़े अक्षरों के उनके व्यक्तिगत इस्तेमाल को प्रभावित करेगी, वहीं ऐसी 6 आम चीज़ें हैं जिन्हें आपको अपनी फ़िल्म की पटकथा में बड़े अक्षरों में रखना चाहिए। अपनी पटकथा में पहली बार चरित्र का परिचय देते समय। बाद में, केवल अपने नाम के पहले अक्षर को बड़े अक्षर में रखें। चरित्र के संवाद के ऊपर उनके नाम। पटकथा लेखन में बड़े अक्षरों में दृश्य की हेडिंग और स्लग लाइन। "वॉयस-ओवर" और "ऑफ़-स्क्रीन" के लिए कैरेक्टर एक्सटेंशन। फेड इन, कट टू, इंटरकट, फेड आउट सहित पारंपरिक पटकथा लेखन ट्रांज़िशन। आधारभूत ध्वनियां, विज़ुअल इफेक्ट्स, या प्रॉप्स जिन्हें एक दृश्य में कैद करने की आवश्यकता होती है...