पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक अल्ली अनगर

पारंपरिक पटकथा लेखन में बड़े अक्षरों का इस्तेमाल कैसे करें

पारंपरिक पटकथा फॉर्मेटिंग के कुछ दूसरे नियमों के विपरीत, बड़े अक्षरों का नियम पत्थर की लकीर नहीं है। जहाँ प्रत्येक लेखक की अलग शैली पटकथा लेखन के दौरान बड़े अक्षरों के उनके व्यक्तिगत इस्तेमाल को प्रभावित करेगी, वहीं ऐसी 6 आम चीज़ें हैं जिन्हें आपको अपनी फ़िल्म की पटकथा में बड़े अक्षरों में रखना चाहिए।

अपनी जगह पर बने रहें! हम जल्द ही सीमित संख्या में बीटा टेस्टरों के लिए SoCreate का पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर लॉन्च करने वाले हैं। इस पेज से बाहर निकले बिना,

पारंपरिक पटकथा लेखन में बड़े अक्षरों का इस्तेमाल

पटकथा में बड़े अक्षर में रखी जाने वाली 6 चीज़ें

विशेषज्ञों और लेखन समुदाय के अनुसार, पारंपरिक पटकथा लेखन में किन चीज़ों को बड़े अक्षरों में रखना चाहिए

जैसा कि आपको पहले ही पता चल चुका होगा, पारंपरिक पटकथा लेखन के हर नियम के लिए, एक विशेषज्ञ या लेखन समुदाय का एक ऐसा सदस्य ज़रूर होता है जो आपको बताएगा कि वो नियम गलत है। शुरुआती से लेकर पेशेवरों तक, फॉर्मेटिंग के बारे में सभी पटकथा लेखक सवाल करते हैं कि क्या वो "इसे सही कर रहे हैं", और इंडस्ट्री के रुझान बदलते रहते हैं। अगर आपके पास इंडस्ट्री का एक्सेस है तो आप कभी भी अपनी पटकथा किसी विश्वसनीय सलाहकार या दोस्त को दिखा सकते हैं, जो आपको बता सकता है कि आपने बड़े अक्षरों का इस्तेमाल सही से किया है या नहीं।

हालाँकि, अगर हम देखें कि पारंपरिक पटकथा लेखन में कुछ शब्दों को बड़े अक्षर में रखने के बारे में इन विशेषज्ञों का क्या कहना है, तो ज़्यादातर लोग फ़िल्म की पटकथा के लिए इंडस्ट्री के निम्नलिखित मानकों से सहमत होते हैं (टेलीविज़न की पटकथा इस आधार पर अलग हो सकती हैं कि यह सिंगल-कैमरा शो है या मल्टी-कैमरा)।

1) अपनी पटकथा में पहली बार चरित्र का परिचय देते समय। बाद में, केवल नाम के पहले अक्षर को बड़े अक्षर में रखें।

पहली बार किसी चरित्र का परिचय देते समय, चाहे यह दृश्य विवरण में हो, चरित्र विवरण में हो, या फिर एक्शन लाइन में, अगर उनके लिए संवाद निर्धारित किये गए हैं तो उन्हें बड़े अक्षरों में रखना चाहिए। इससे कास्टिंग निर्देशकों को यह समझने में मदद मिलती है कि कौन से चरित्रों को कास्ट करना है, और निर्देशकों को यह समझने में मदद मिलती है कि किसी चरित्र को पहली बार कब दिखाना है। अगर किसी चरित्र का परिचय कोई और देता है तो उनका नाम छोटे अक्षरों में रखा जा सकता है, लेकिन अगर यह आपका ख़ुद का परिचय है तो उनके नाम के सभी अक्षरों को बड़े में रखें। इसके बाद आने वाले सभी उल्लेखों में सामान्य व्याकरण के नियमों के अनुसार नाम के पहले अक्षर को बड़े अक्षरों में लिखना चाहिए।

स्क्रिप्ट स्निपेट

The man reaches down and picks up the feather. His name is FORREST GUMP. He looks at the feather oddly, moves aside a box of chocolates from an old suitcase, then opens the case.

2) चरित्र के संवाद के ऊपर उनके नाम।

पूरी पटकथा में, संवाद शुरू होने से पहले स्क्रिप्ट में चरित्रों के नाम बड़े अक्षरों में लिखे जाते हैं।

स्क्रिप्ट स्निपेट

Forrest

I could eat about a million and a half of these. My momma always said, "Life was like a box of chocolates. You never know what you're gonna get."

3) पटकथा लेखन में बड़े अक्षरों में दृश्य की हेडिंग और स्लग लाइन।

दृश्यों के हेडिंग और स्लग लाइन आम तौर पर बड़े अक्षरों में होते हैं। आप चाहते हैं कि पाठक इस बात को समझे कि दृश्य में कुछ बदल रहा है, इसलिए बड़े अक्षर इसपर ध्यान आकर्षित करेंगे।

स्क्रिप्ट स्निपेट

Int. - Country Doctor's Office - Greenbow, Alabama - Day (1951)

4) पारंपरिक पटकथा लेखन में "वॉयस-ओवर" और "ऑफ़-स्क्रीन" के लिए कैरेक्टर एक्सटेंशन।

जब किसी पटकथा में वॉयस ओवर या "VO" चलता है तो इसे यह संकेत देने के लिए बड़े अक्षरों में रखा जाता है कि चरित्र कहाँ से बात कर रहा है। आप "ऑफ़-स्क्रीन" कही गयी या हो रही किसी भी चीज़ की ओर भी ध्यान आकर्षित करना चाहेंगे, इसलिए एक्सटेंशन को भी बड़े अक्षर में रखा जाना चाहिए।

स्क्रिप्ट स्निपेट

Forrest (v.o.)

Now, when I was a baby, Momma named me after the great Civil War hero, General Nathan Bedford Forrest...

5) फेड इन, कट टू, इंटरकट, फेड आउट सहित पारंपरिक पटकथा लेखन ट्रांज़िशन।

आपको फेड इन:, फेड आउट:, कट टू सहित किसी भी अन्य प्रकार के ट्रांज़िशन के लिए अपनी पटकथा में बड़े अक्षरों का इस्तेमाल करने की ज़रूरत होती है। इससे पाठक का ध्यान इस ओर आकर्षित करने में मदद मिलती है कि फ़िल्म एक दृश्य से दूसरे दृश्य में किस प्रकार आगे बढ़ेगी।

स्क्रिप्ट स्निपेट

Fade in:
Ext. A Savannah Street - Day (1981)

A feather floats through the air. The falling feather.

6) आधारभूत ध्वनियां, विज़ुअल इफेक्ट्स, या प्रॉप्स जिन्हें एक दृश्य में कैद करने की आवश्यकता होती है

पटकथा में ध्वनि को बड़े अक्षर में रखने के बारे में क्या है? क्या आप प्रॉप को बड़े अक्षर में रखते हैं? किसी दृश्य में उनके महत्व को दर्शाने के लिए आधारभूत ध्वनियों, विज़ुअल इफेक्ट्स, और प्रॉप्स को बड़े अक्षर में रखा जाना चाहिए। किसी दृश्य के लिए हर ध्वनि ज़रूरी नहीं होती, और न ही हर प्रॉप ज़रूरी होता है।

ध्यान दें: विशेष ध्वनियों, विज़ुअल इफेक्ट्स और महत्वपूर्ण प्रॉप्स के लिए बड़े अक्षरों के इस्तेमाल को कम से कम रखने की कोशिश करनी चाहिए। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपकी पटकथा पढ़ने में आसान होनी चाहिए। आप जिस भी चीज़ को बड़े अक्षर में रखने का चुनाव करते हैं, उसके साथ सुसंगत रहें।

स्क्रिप्ट स्निपेट

The ROAR of approaching planes is deafening. Forrest looks up in fear. Three planes dive down toward the jungle. They fire napalm as the jungle EXPLODES with massive fireballs.

यहाँ दिए गए सभी उदाहरण एरिक रोथ द्वारा लिखित फॉरेस्ट गंप पटकथा से लिए गए हैं।

ऊपर दिए गए छह प्रयोगों में से, #6 (आधारभूत ध्वनियां, विज़ुअल इफेक्ट्स, या प्रॉप्स जिन्हें एक दृश्य में कैद करने की आवश्यकता होती है) को लेकर पटकथा लेखन समुदाय में सबसे ज़्यादा मतभेद है। इस बात का ध्यान रखें कि हर ध्वनि, विज़ुअल इफ़ेक्ट, और प्रॉप को बड़े अक्षर में रखने की ज़रूरत नहीं होती है। सबसे ज़्यादा ज़रूरी होता है, अपनी पटकथा को पढ़ने में बिल्कुल आसान रखना। ख़ुद से पूछें, "क्या शब्द को बड़े अक्षर में रखने से पाठक का अनुभव अच्छा होगा?" अगर इस सवाल के लिए आपका जवाब "हाँ" है तो इसे बड़े अक्षर में रखें। लेकिन, अगर आपका जवाब "शायद" या "नहीं" है तो इसे बड़े अक्षर में न रखना ही ज़्यादा अच्छा होगा। इस परिदृश्य के लिए बड़े अक्षर के अपने इस्तेमाल को न्यूनतम रखने की कोशिश करें। कोई भी बड़े अक्षरों से भरी हुई पटकथा नहीं पढ़ना चाहता। इस मामले में थोड़ा ही काफी है!

इस विषय पर कई बेहतरीन ब्लॉग पोस्ट और फ़ोरम स्ट्रिंग मौजूद हैं। ज़्यादा जानने के लिए उन्हें यहाँ देखें!:

पटकथा में बड़े अक्षरों के बारे में आपका क्या ख्याल है? नीचे टिप्पणियों में बताएं!

लिखने के लिए शुभकामनाएं!

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

पारंपरिक पटकथा लेखन में फोन कॉल फॉर्मेट: परिदृश्य 1

केवल एक चरित्र दिखाई और सुनाई देता है।

पारंपरिक पटकथा लेखन में फोन कॉल को कैसे फॉर्मेट करें: परिदृश्य 1

अपनी पटकथा में फोन कॉल फॉर्मेट करना मुश्किल हो सकता है। इससे पहले कि आप किसी फोन कॉल दृश्य में जाएं, इस बात का ध्यान रखें कि आपको उस फोन कॉल के प्रकार की अच्छी समझ हो जिसे आप अपने दृश्य में चाहते हैं और साथ ही आपको पारंपरिक पटकथा लेखन में इसे सही से फॉर्मेट करना आता हो। पटकथा के फोन कॉल के लिए 3 मुख्य परिदृश्य होते हैं: परिदृश्य 1: केवल एक चरित्र दिखाई और सुनाई देता है। परिदृश्य 2: दोनों चरित्र सुनाई देते हैं, लेकिन केवल एक दिखाई देता है। परिदृश्य 3: दोनों चरित्र दिखाई और सुनाई देते हैं। ऐसे फोन वार्तालापों के लिए, जहाँ केवल एक चरित्र दिखाई और सुनाई देता है, दृश्य को उसी तरह से फॉर्मेट करें जैसे आप सामान्य संवाद करेंगे। जब ऑफ-स्क्रीन चरित्र फोन के दूसरी तरफ बात करता है तो उस समय को सूचित...

पारंपरिक पटकथा लेखन में फोन कॉल फॉर्मेट करें

दोनों चरित्र सुनाई देते हैं, लेकिन केवल एक दिखाई देता है।

पारंपरिक पटकथा लेखन में फोन कॉल को कैसे फॉर्मेट करें: परिदृश्य 2

अपने पिछले ब्लॉग पोस्ट में, हमने आपको 3 मुख्य प्रकार के फोन कॉल्स के बारे में बताया जो एक पटकथा में आपको मिल सकते हैं: आज के पोस्ट में, हम परिदृश्य 2 के बारे में चर्चा करेंगे: जिसमें दोनों चरित्रों को सुना जाता है, लेकिन केवल एक दिखाई देता है। परिदृश्य 1 पर ज्यादा जानकारी पाने के लिए, कृपया हमारे पिछले ब्लॉग "पारंपरिक पटकथा लेखन में फोन कॉल को कैसे फॉर्मेट करें: परिदृश्य 1" पर जाएँ। जिस फोन वार्तालाप में दोनों चरित्रों को सुना जाता है, लेकिन दर्शक को केवल एक दिखाई देता है, उसमें ना दिखाई देने वाले चरित्र के वॉइस ओवर ("V.O.") के लिए चरित्र विस्तार शामिल किया जाता है। लेखक बहुत सारे कारणों से दूसरे चरित्र को ना दिखाने का चयन कर सकता है। इसके दो सामान्य कारण हैं: 1) लेखक ऑन-स्क्रीन चरित्र की ...

पारंपरिक पटकथा लेखन में फ़ोन कॉल फ़ॉर्मेट करें

दोनों चरित्र दिखाई और सुनाई देते हैं।

पारंपरिक पटकथा लेखन में फोन कॉल को कैसे फॉर्मेट करें: परिदृश्य 3

आपने अनुमान लगा लिया, हम "पारंपरिक पटकथा लेखन में फोन कॉल को कैसे फॉर्मेट करें" श्रृंखला में अपने अंतिम लेख -- परिदृश्य 3 के साथ वापस आ गए हैं। यदि आपने परिदृश्य 1 या परिदृश्य 2 नहीं देखा तो हम आपको उन्हें देखने का सुझाव देते हैं ताकि अपने पटकथा लेखन में फोन कॉल को फॉर्मेट करने के विषय में आपको पूरी जानकारी मिल सके। तो, बिना कोई देर किये चलिए शुरू करते हैं... ऐसे फोन वार्तालाप के लिए "INTERCUT" उपकरण का प्रयोग करें जहाँ दोनों चरित्र दिखाई और सुनाई देते हैं। INTERCUT उपकरण पाठकों के लिए दो अलग-अलग स्थानों के बीच वर्णन करने में सहायक होता है और अतिरिक्त स्थान के प्रयोग को समाप्त करता है, जो प्रत्येक चरित्र के संवाद के बीच मुख्य दृश्य के शीर्षक को शामिल ...