पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

एश्ली स्टॉर्मो: पटकथा लेखन के उपायों की परख

अपने लेखन में धीमेपन से उबरने के लिए आपने पटकथा लेखन से जुड़े कौन से सबसे अजीबोगरीब उपाय आजमाएं हैं? इस हफ़्ते के वीडियो में एश्ली स्टॉर्मो ऐसे ही चार उपायों को परखने वाली हैं और देखने वाली हैं कि कौन सा उपाय काम का है और कौन सा नहीं है।

"हैलो, SoCreators! आप मेरे साथ कौन से लेखन अभ्यास या उपाय शेयर कर सकते हैं? इस हफ़्ते मैंने विभिन्न पेशेवर पटकथा लेखकों के चार उपाय आजमाएं और देखा कि वो काम के हैं या नहीं। क्या आपने कभी इनमें से कोई उपाय आजमाएं हैं?"

एश्ली स्टॉर्मो

"हैलो दोस्तों! मेरा नाम एश्ली स्टॉर्मो है, और जैसा कि आप पिछले कुछ हफ़्तों से देख सकते हैं, SoCreate के साथ मिलकर मैं आपको दिखाने वाली हूँ कि एक महत्वाकांक्षी पटकथा लेखक की ज़िन्दगी कैसी होती है। आज मैं जो करने वाली हूँ वो यह कि मैं इंटरनेट पर मौजूद कुछ उपाय लेने वाली हूँ, और उन्हें परखकर देखने वाली हूँ कि वो मेरे काम आते हैं या नहीं।"

  • उपाय #1: टीवी देखते हुए लिखें

    सबसे पहला उपाय है कि टीवी देखते हुए लिखें। इसलिए, आप चाहे जो भी शो देख रहे हों, बस अपना पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर निकालें, और जैसे-जैसे आपकी आँखों के सामने कोई दृश्य चलता है, इसे वैसे लिखते जाएँ जैसे आप किसी पेज पर लिखेंगे। और इस अभ्यास का उद्देश्य यह है कि जो शो आप देख रहे हैं, वो गोल्डन टिकट था। इसे ख़रीदा गया था, इसे बनाया गया था, और अब यह टीवी पर है। आप यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि पटकथा लेखक, या लेखकों के समूह ने ऐसा क्या किया जिसकी वजह से इसे सफलता मिली। आप संवादों पर नज़र रखना चाहते हैं, और साथ ही देखना चाहते हैं कि हर एक पेज पर कहानी कैसे आगे बढ़ रही है, और फॉर्मेट पर ध्यान दें। और इसके बाद अगर हो सके तो एक और चीज़ करें जो मैंने की, वो यह कि इसके बाद मैं असली पटकथा का PDF खोजती हूँ और इसे अपनी रचना से मिलाकर देखती हूँ कि मैंने कौन सी चीज़ उनसे अलग की है।

    सफल उपाय। इससे मुझे पता चला कि मुझे अपने विवरणों को छोटा करने की ज़रुरत है।

  • उपाय #2: मूड बोर्ड

    अगला उपाय है, मूड बोर्ड। तो अगर आपको किसी चरित्र के अंदर सामंजस्य बनाये रखने में परेशानी हो रही है तो मूड बोर्ड बनाएं। इसमें आप उनके व्यक्तित्व के गुण शामिल कर सकते हैं, उन चीज़ों को शामिल कर सकते हैं जो उन्हें पसंद और नापसंद हैं, जो वाक्य उनपर सही लगते हैं, और अगर आप कोई ऐसी चीज़ लिख रहे हैं जो आपके बनाये गए मूड बोर्ड के सिद्धांतों से मेल नहीं करता, जैसे वो व्यक्तित्व जिसे आपने विज़ुअल तरीके से बनाया है तो इसे बाहर निकाल दें, क्योंकि आप चरित्र को हर रूप में सुसंगत बनाना चाहते हैं।

    असफल उपाय। मेरे मामले में, इसकी वजह से बस मेरा समय बर्बाद हुआ। लेकिन यह मज़ेदार था!

  • उपाय #3: संवाद की हर लाइन 5 शब्द या उससे कम में बनाएं

    मुझे संवाद में बहुत परेशानी होती है। तो अगला जो उपाय मैंने आजमाने के लिए चुना वो इस विचार पर केंद्रित था कि आपके चरित्रों के बीच की भाषा और बातचीत वो चीज़ें नहीं होनी चाहिए जो कथानक को आगे बढ़ाती हैं। इसलिए, आपको यह करना होता है कि आप संवाद की पांच लाइनें लेते हैं, या अगर यह दो लोगों के बीच है तो आप दस लाइनें ले सकते हैं, और हर लाइन को पांच या उससे कम शब्दों में रखते हैं। और इसका एकमात्र उद्देश्य है कि इसकी वजह से आप अपनी पटकथा में दृश्यात्मक चीज़ों पर ज़्यादा ध्यान देने के लिए मजबूर होंगे और भाषा पर कम ध्यान देंगे, क्योंकि जहाँ बातचीत कथानक का खुलासा कर सकती है और आपके चरित्र के बारे में चीज़ें ज़ाहिर कर सकती है, लेकिन इसे हर चीज़ का खुलासा नहीं करना चाहिए, और ये वो चीज़ नहीं है जिसे कहानी को आगे बढ़ाना चाहिए।

    सफल उपाय: इससे मुझे विज़ुअल पर ज़्यादा ध्यान देते हुए, चरित्र के शब्दों के संबंध में ज़्यादा चुनिंदा बनने में मदद मिली।

  • उपाय #4: प्यार/नफ़रत के नज़रिये से लिखें

    आख़िरी और चौथा उपाय मेरा पसंदीदा है। इसके लिए आपको टीवी या फ़िल्म के अपने किसी पसंदीदा किरदार को चुनने की ज़रुरत होती है, और आपको किसी ऐसे व्यक्ति के नज़रिये से उनके बारे में चार या पांच वाक्य लिखने होते हैं जिसे उससे प्यार है, और इसके बाद आपको उसी किरदार के बारे में किसी ऐसे व्यक्ति के नज़रिये से चार से पांच वाक्य लिखने होते हैं जो उससे बहुत नफ़रत करता है, और इसके बाद आप दोनों की तुलना करते हैं और उनमें अंतर दिखाते हैं। और आप यह अपने खुद के किरदारों के साथ करते है तो इससे आपको एक ऐसा किरदार लिखने में मदद मिलेगी जो पूरी तरह से विकसित है और जिसे न तो बहुत ज़्यादा पसंद किया जायेगा और न ही बहुत ज़्यादा नापसंद किया जायेगा।

    सफल उपाय। इससे मुझे चरित्रों को पसंद या नापसंद करने लायक बनाने पर ज़ोर देने में मदद मिली।

"ये बस कुछ छोटे अभ्यास हैं जिनकी सलाह असली, पेशेवर पटकथा लेखकों ने दी है। उम्मीद है उनसे आपको मदद मिली होगी। मुझे ऐसा लगता है कि आपको ऐसे अभ्यास ज़रुर खोजने चाहिए जो उन चीज़ों के लिए उपयोगी होते हैं जिसमें आपको समस्या होती है या जिसपर आप काम करना चाहते हैं। SoCreate को फॉलो करना न भूलें – उनका एक ब्लॉग है, और आपको उनके ब्लॉग पर ऐसे कुछ उपाय मिल सकते हैं जिनका आप अभ्यास करना चाहते हैं। उनके पास मोंटाज, या गतिविधि विवरण, आदि जैसी चीज़ें लिखने के बारे में भी कुछ लेख मौजूद हैं। इसलिए उन्हें फॉलो करना न भूलें।

नीचे कमेंट्स में बताएं कि आपमें इनमें से कोई उपाय आजमाएं हैं या नहीं और इनसे आपको कैसे मदद मिली, या अगर आपके पास हमारे साथ शेयर करने के लिए कोई और उपाय हैं तो उनके बारे में हमें ज़रुर बताएं। वीडियो देखने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। मैं आपसे जल्द ही मिलूंगी।"

एश्ली स्टॉर्मो, महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

Ashlee Stormo: A Day in the Life of An Aspiring Screenwriter

एश्ली स्टॉर्मो: एक महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका की ज़िंदगी का एक दिन

हैलो, पटकथा लेखकों! एश्ली स्टॉर्मो एक महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका हैं, और वो अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी को रिकॉर्ड करके हमारे साथ शेयर करने वाली हैं। आप उनसे कुछ सीख सकते हैं, या शायद पटकथा लेखन में नया संपर्क बना सकते हैं! जो भी हो, हमें उम्मीद है कि अगले कुछ महीनों के दौरान उनके साप्ताहिक सीरीज़ से आपको कुछ सीखने का मौका मिलेगा। आप @AshleeStormo पर उनसे इंस्टाग्राम या ट्विटर के माध्यम से जुड़ सकते हैं, और आप हमारे यूट्यूब चैनल पर "महत्वाकांक्षी लेखिका की ज़िन्दगी का एक दिन" पर जाकर उनकी पूरी सीरीज़ भी देख सकते हैं। "आज मैं आपको दिखाना चाहती थी कि दो नौकरियां करते हुए भी...

टिप्पणियां