पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

एश्ली स्टॉर्मो: महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका की ज़िन्दगी का एक दिन - संपादन प्रक्रिया

हम महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका एश्ली स्टॉर्मो के साथ एकजुट होकर आपको यह दिखाने वाले हैं कि असली दुनिया में पटकथा लेखन के सपने कैसे दिखाई देते हैं। आज, वो हमें दिखाने वाली हैं कि वो अपनी पटकथाएं कैसे संपादित करती हैं। पटकथा का संपादन और इसे दोबारा लिखना पटकथा लेखकों के लिए काफ़ी मुश्किल प्रक्रिया है; ऐसा करते हुए आपको अपने कुछ पसंदीदा किरदारों को मारना पड़ सकता है, कुछ बेहतरीन संवाद हटाने पड़ सकते हैं, या कहानी को ज़्यादा रोचक बनाने के लिए दृश्यों को दोबारा व्यवस्थित करना पड़ सकता है। हर पूरी होने वाली पटकथा के साथ एश्ली संपादन के बारे में थोड़ा और सीखती हैं, और आज वो हमारे साथ वो महत्वपूर्ण जानकारियां शेयर करने वाली हैं जो उन्होंने अब तक सीखी हैं। आपकी संपादन की प्रक्रिया कैसी होती है? नीचे कमेंट्स में बताएं!

"हैलो दोस्तों! मेरा नाम एश्ली स्टॉर्मो है। मैं एक पटकथा लेखिका बनना चाहती हूँ, और मैं आपको बताना चाहती थी कि कैसे मैंने अपनी उस पटकथा को संपादित किया, जिसे मैंने छह महीने पहले लिखा था। मैं इसे एक प्रतियोगिता के लिए ज़्यादा अच्छा बनाना चाहती थी, जिसमें मैं इसे जमा करने वाली हूँ, और मेरे पास वक़्त बहुत कम था।

हैलो दोस्तों, और हैप्पी मंडे। इस हफ्ते, मुझे बहुत ज़्यादा पटकथा लिखनी है, और बहुत सारा संपादन करना है। दरअसल, मैं एक प्रतियोगिता की समय-सीमा में काम कर रही हूँ। इस रविवार, मैं अपने माँ और डैड से अपनी पटकथा पढ़वाने वाली हूँ क्योंकि यह उनसे ही प्रेरित है, इसलिए मैं यह सुनिश्चित करना चाहती थी कि मैंने सभी विवरण सही से डाले हैं, और उन्हें इससे कोई आपत्ति नहीं है। ताकि, वो मुझे बता सकें कि उन्हें क्या पसंद है और क्या पसंद नहीं है। पूरी पटकथा को संपादित करने के लिए मेरे पास सात दिन का वक़्त है।

संपादन शुरू करने पर जो सबसे पहली चीज़ मैंने की वो यह कि मैंने इसे दोबारा पढ़ा। मैंने सबकुछ दोबारा पढ़ने के लिए और अपने किरदार, किरदार के विकास, कथानक के मोड़ों, पटकथा की गति, और संवाद से संबंधित समस्याओं पर नोट्स बनाने के लिए ख़ुद को दो दिन का वक़्त दिया। संवाद वो ऐसी चीज़ है जिसमें मुझे सबसे ज़्यादा परेशानी होती है, जो बहुत बेवकूफी भरा लगता है क्योंकि पटकथा का ज़्यादातर हिस्सा संवाद से ही बना होता है। लेकिन, मुझे चरित्रों को एक-दूसरे से अलग बनाने में थोड़ी ज़्यादा मुश्किल आती है, क्योंकि उन सभी की आवाज़ें मुझसे आती हैं। इसलिए, मैंने संवाद पर ध्यान देने की कोशिश की। ब्रेनस्टॉर्म बबल लिस्ट बनाने के बाद, मैंने एक शेड्यूल बनाया ताकि मुझे यह पता रहे कि मैं हर घंटे कितने पेज लिख सकती हूँ और हर घंटे कितने पेज संपादित कर सकती हूँ। मैंने अपना कैलेंडर निकाला, और इसकी सूची बनाई कि हर दिन मुझे कितना काम करना पड़ेगा। और इसके बाद, हर दिन, मैंने ख़ुद को उतने पन्ने संपादित करने के लिए मजबूर किया।

जब तक मेरा कंप्यूटर चार्ज हो रहा है, मैं इसके बारे में अपने नोट्स बना लेती हूँ कि बाकी के हफ़्ते के लिए मुझे क्या करना है। मूल रूप से, अगर आप अभी मेरी पटकथा पढ़ रहे हैं तो यह कालक्रम में है, और मुझे हमेशा से पता था कि मुझे अरेखीय बनना है, लेकिन इसे दोबारा व्यवस्थित करने के लिए मैंने संपादन प्रक्रिया तक रुकने का इंतज़ार किया, जो मैं दोबारा कभी नहीं करने वाली हूँ क्योंकि यह बहुत बुरा है। तो, मूल रूप से, मैं इसे तीन-अंक वाले चार्ट में बांटने वाली हूँ, लेकिन मैं भविष्य और वर्तमान दोनों के लिए तीन-अंक वाला चार्ट बनाने वाली हूँ ताकि मैं वो रोमांच बना सकूँ जिसकी मुझे तलाश है।

इसे विज़ुअल तरीके से ड्रा करने से मुझे बहुत मदद मिली क्योंकि इससे मैं यह देख पायी कि मुझे कौन से दृश्य जोड़ने चाहिए। मैंने बहुत कुछ काटा भी। शायद मैंने अपनी पटकथा का 40 से 50 प्रतिशत तक काट दिया, और इसमें से बहुत कुछ जल्दी में दोबारा लिखा। मैंने किताबों के पीछे दिए गए छोटे साक्षात्कार में पढ़कर, एक लेखिका से सीखा था कि आपको कभी भी अपने दस्तावेज़ के अंदर संपादन नहीं करना चाहिए। तो, काम पर, मेरे पास एक लैपटॉप है, और इसके बाद मेरे पास एक वर्क डेस्कटॉप भी है। तो, मेरे पास दो स्क्रीन मौजूद हैं। अपने लैपटॉप पर, मैं पुरानी पटकथा रखती हूँ, और डेस्कटॉप पर, मैं एक खाली डॉक्यूमेंट बनाकर सबकुछ दोबारा टाइप करती हूँ। सबकुछ दोबारा लिखने पर, मैं उन बारीकियों में बदलाव कर पाती हूँ जिनपर शायद मेरा ध्यान नहीं जाता। शायद मुझे इसे संपादित करने में समय नहीं लगा होगा। मुझे लगता है सबकुछ फिर से दोबारा टाइप करने पर बहुत मदद मिलती है। अगर आपके पास दो लैपटॉप नहीं हैं तो भी आप यह कर सकते हैं। ऐसे में, आप स्प्लिट स्क्रीन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

हैलो दोस्तों, हैप्पी फ्राइडे। आज शुक्रवार हो गया। मुझे रविवार तक अपनी पटकथा पूरी करनी है, और मैं बहुत परेशान हूँ क्योंकि मैं अभी वहां तक नहीं पहुंची जहाँ मुझे होना चाहिए। असल में, मैं इतना पीछे इसलिए हो गयी क्योंकि मुझे कुछ ऐसे दृश्य जोड़ने में समय लगा जिन्हें मैं कभी शामिल नहीं करने वाली थी। वक़्त की कमी के अलावा, सबकुछ ठीक जा रहा है। मुझे बिल्कुल भी तनाव नहीं है। जब मैं एक किताब लिख रही थी तब मुझे बहुत तनाव हो गया था, क्योंकि मुझे ऐसा लगता था कि मुझे यह करना ही पड़ेगा। लेकिन, जहाँ तक इसकी बात आती है, यह इसलिए तनावपूर्ण है क्योंकि मेरे पास एक समय-सीमा है, और मैं इसपर बहुत ज़्यादा काम और मेहनत करना चाहती क्योंकि मुझे यह बेहद पसंद है, और मैं इसमें अच्छी होना चाहती हूँ। इसलिए, यह तनाव अच्छा है। लेकिन, हाँ, आज मुझे इसपर काम करते रहना होगा। अंदर के बजाय डॉक्यूमेंट के बाहर संपादन करने वाली तरक़ीब की वजह से काफ़ी ज़्यादा समय लग रहा है, लेकिन यह फ़ायदेमंद है।

हम एक पटकथा की समय-सीमा ख़त्म होने के अंतिम दौर में चल रहे हैं जिसपर मैं सितम्बर से काम कर रही थी। और हाँ, मैंने आख़िरी, सबसे ज़रूरी दृश्य को संपादित करने में देर कर दी है। इसलिए, मैं काम करने जा रही हूँ। मैं अपने आख़िरी दृश्य के संपादन पर काम करने वाली हूँ। मैंने अपने इंस्टाग्राम पर लोगों से उनका पसंदीदा प्रेरणादायक भाषण बताने के लिए कहा है, जो ग्रेजुएशन के भाषण से फ़िल्म के भाषण, कार्टून, रील तक कुछ भी हो सकता है। उनका पसंदीदा भाषण कौन सा है, हो सकता है मैं इसे लगभग एक घंटे देखूं, इसके बाद मैं इसपर नोट्स बनाऊंगी कि प्रेरणादायक भाषण की संरचना कैसी होती है, और इसके बाद मैं उस परियोजना पर काम करने वाली हूँ जिसमें मैंने देरी कर दी है। हमें यह पसंद है! हमें यह पसंद है — ज़िन्दगी का एक दिन।

इसके बाद मैंने आख़िरी बार संपादन किया। इसे अपनी माँ को पढ़वाया। उन्होंने मुझे नोट्स दिए। और इसके बाद मैंने इसे बहुत तेज़ी (टाइप करती हुई उंगलियां) से संपादित किया और अपनी प्रतियोगिता में भेज दिया। मैं इसमें अभी भी और अधिक परिवर्तन कर सकती हूँ। मुझे ऐसा नहीं लगता कि इसे भेजने का यह मतलब है कि यह 100 प्रतिशत पूरा हो गया है, और इसमें सुधार की कोई गुंजाइश नहीं है। मैं वापस पीछे जाना चाहूंगी।

अपनी पहली पटकथा के संपादन की प्रक्रिया से मेरे पास आपके लिए कुछ उपाय हैं।

1. एक के बजाय दो स्क्रीन बेहतर होते हैं।

2. संपादन करने के लिए छह महीने इंतज़ार करने की वजह से मैं यह भूल गयी थी कि मैंने अपनी पटकथा में कुछ चीज़ें क्यों डाली थीं। तीन महीने अधिकतम होते हैं।

3. इसे किसी और से ज़रुर पढ़वायें।

4. दृश्यों को लेकर ज़्यादा न सोचें: अगर इससे कथानक या चरित्र का विवरण आगे नहीं बढ़ रहा है तो इसे काट दें!

5. शुरू करने से पहले संरचना पता करें।

6. संपादन करते समय, उसी शैली की दूसरी सामग्रियां प्रयोग करें।

संपादन पर मेरी राय जानने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। SoCreate को फॉलो करना न भूलें। वो बेहतरीन हैं। उनके पास शानदार संसाधन हैं। उनके पास ऐसे बहुत सारे टूल्स हैं जिनसे मुझे संपादन करते समय मदद मिली। वो पटकथाओं की भी सलाह देते हैं, और उनके सुझाव पेशेवर लोगों से आते हैं। इसलिए, उन्हें फॉलो करना बिल्कुल भी न भूलें। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद, आपकी पटकथाओं के लिए शुभकामना!

नीचे मुझे बताएं कि संपादन की प्रक्रिया के लिए आपके पास क्या उपाय हैं, आप क्या संपादित कर रहे हैं, और आप कौन सी परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं। मुझे इसके बारे में सुनकर अच्छा लगेगा!"

एश्ली स्टॉर्मो, महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

Ashlee Stormo: A Day in the Life of An Aspiring Screenwriter

एश्ली स्टॉर्मो: एक महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका की ज़िंदगी का एक दिन

हैलो, पटकथा लेखकों! एश्ली स्टॉर्मो एक महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका हैं, और वो अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी को रिकॉर्ड करके हमारे साथ शेयर करने वाली हैं। आप उनसे कुछ सीख सकते हैं, या शायद पटकथा लेखन में नया संपर्क बना सकते हैं! जो भी हो, हमें उम्मीद है कि अगले कुछ महीनों के दौरान उनके साप्ताहिक सीरीज़ से आपको कुछ सीखने का मौका मिलेगा। आप @AshleeStormo पर उनसे इंस्टाग्राम या ट्विटर के माध्यम से जुड़ सकते हैं, और आप हमारे यूट्यूब चैनल पर "महत्वाकांक्षी लेखिका की ज़िन्दगी का एक दिन" पर जाकर उनकी पूरी सीरीज़ भी देख सकते हैं। "आज मैं आपको दिखाना चाहती थी कि दो नौकरियां करते हुए भी...
कॉन्सेप्ट बोर्ड देखता हुआ पटकथा लेखक

पटकथा लेखक के रोजगार का विवरण

पटकथा लेखक क्या करता है? पटकथा लेखक पटकथाएं लिखता है, लेकिन शायद आपके मन में यह ख्याल आया होगा कि वास्तव में इसका क्या मतलब है। पेशेवर पटकथा लेखक अपने काम के बारे में कैसे बताते हैं? आगे पढ़ते रहिये क्योंकि आज मैं आपके सामने पटकथा लेखक के रोजगार के बारे में सारे राज़ खोलने वाली हूँ! पटकथा लेखक के रोजगार की मूलभूत चीज़ें: पटकथा किसलिए इस्तेमाल की जाती है? पटकथाओं को फ़िल्म, टेलीविज़न, नाटकों, प्रचारों, ऑनलाइन प्लेटफॉर्म, और यहाँ तक कि वीडियो गेम्स सहित, सभी तरह के माध्यमों के लिए इस्तेमाल में लाया जा सकता है। मूल रूप से, पटकथा उन सभी चीज़ों का ब्लूप्रिंट है जो होने वाली हैं...

दुनिया के सबसे युवा पटकथा लेखक

दुनिया के सबसे युवा पटकथा लेखक

कभी-कभी कुछ लोगों को ज़िन्दगी में बहुत जल्दी बड़ी सफलता हासिल हो जाती है, और हम सबको इसकी ख़ुशी होनी चाहिए। इसी वजह से, अक्सर हमें बहुत सारे क्षेत्रों में सबसे कम उम्र में सफलता हासिल करने वाले लोगों की सूची वाले लेख देखने को मिलते हैं, जिनमें एथलीट्स, लेखक, निर्देशक और आविष्कारक जैसे बहुत से क्षेत्र शामिल हैं। तो फिर मुझे पटकथा लेखकों की ऐसी कोई सूची क्यों नहीं दिखाई दी? मैंने यह ब्लॉग इसीलिए लिखा है, जो सबसे कम उम्र में सफलता हासिल करने वाले पटकथा लेखकों की सूची है! लेकिन याद रखें, आपको किसी भी उम्र में सफलता मिल सकती है। श्रेय पाने वाले सबसे कम उम्र के पटकथा लेखक...

टिप्पणियां