पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

लेखकों के लिए USC फ़िल्म स्कूल के फायदे

मुझे यह समझ नहीं आता कि हम 16 या 17 साल के बच्चों से यह उम्मीद कैसे करते हैं कि वो अपने कॉलेज से जुड़े सही फैसले कर सकते हैं, जैसे - उन्हें कॉलेज जाना है या नहीं, क्या पढ़ाई करनी है, और इसके लिए कैसे पैसे देने हैं - क्योंकि उस वक़्त उनके पास जीवन से जुड़े ज़्यादा अनुभव नहीं होते तो फिर वो किस आधार पर चुनाव कर सकते हैं। लेकिन, फिर भी, यहाँ पर उन्हीं बच्चों को अंडरग्रेजुएट के विषय का चुनाव करना पड़ता है और बिना कुछ जाने-समझे ज़िन्दगी की ओर कदम बढ़ाना पड़ता है। इसलिए उम्मीद है कि लेखन स्कूल चुनना चाहिए या नहीं इसपर हमारा यह विश्लेषण छात्रों और उनके भाग्यशाली फाइनेंसरों (यानी, माता-पिता) के लिए चीज़ों को थोड़ा आसान बना पायेगा। अगर किसी को भी MFA के लिए फ़िल्म प्रोग्रामों के मामले में किसी तरह की उलझन है तो यहाँ पर हम उस विषय से भी निपटने वाले हैं।

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

जहाँ तक मुझे लगता है, आपने पहले ही पटकथा लेखन स्कूल के रास्ते पर जाने का फैसला कर लिया है, और अब आप यह चुनना चाहते हैं कि आप कौन से फ़िल्म प्रोग्राम के लिए आवेदन करना चाहते हैं और किसमें जाना चाहते हैं। आज, मैं ख़ास तौर पर लॉस एंजेल्स में दक्षिणी कैलिफ़ोर्निया विश्वविद्यालय के लेखन प्रोग्राम के फायदों और नुकसान के बारे में बात करने वाली हूँ। क्या आप अभी भी स्कूल चुनने के शुरुआती चरणों में है? फ़िल्म स्कूल चुनने से पहले हमारे पास एक पटकथा लेखक के पास से फ़िल्म स्कूल चुनने से पहले विचार की जाने वाली चीज़ों के बारे में एक लंबी-चौड़ी सूची है, जिन्होंने इसे बहुत मुश्किल से जाना। हमारा सौभाग्य है कि वो लेखन समुदाय के साथ अपना व्यक्तिगत अनुभव साझा करने के लिए तैयार हुए हैं ताकि आप अपने पटकथा लेखन स्कूल के अनुभव से सबकुछ और साथ ही बहुत कुछ पा सकें!

आज मेरी मदद करने के लिए, निर्माता, पटकथा लेखिका, टेलीविज़न लेखिका, और उपन्यासकार स्टेफनी के. स्मिथ ने USC में अपनी मास्टर डिग्री करने के अपने अनुभव के बारे में हमें बताया (उन्होंने न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय से अपनी अंडरग्रेजुएट की डिग्री प्राप्त की थी)। USC राइटिंग फॉर स्क्रीन एंड टेलीविज़न प्रोग्राम के बारे में लेखकों के अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब देने में उन्होंने हमारी बहुत मदद की है। स्टेफ़नी फ़िल्म इंडस्ट्री की अनुभवी हैं, और आप अमेज़ॅन प्राइम के "कार्निवल रो," उपन्यास "टैंगल इन द डार्क," एमी-नॉमिनेटेड लिमिटेड सीरीज़ "जीनियस," और "जॉन विक" की स्पिनऑफ़ "द कॉन्टिनेंटल" पर सह-निर्माता के रूप में क्रेडिट में उनके नाम देख सकते हैं।

क्या USC में कोई पटकथा लेखन प्रोग्राम है?

जी हाँ। USC में पटकथा लेखन और टेलीविज़न लेखन प्रोग्राम स्कूल ऑफ़ सिनेमैटिक आर्ट्स का हिस्सा है, और इसका औपचारिक नाम जॉन वेल्स डिवीज़न ऑफ़ राइटिंग फॉर स्क्रीन एंड टेलीविज़न है। सिनेमैटिक आर्ट्स स्कूल सात डिवीज़नों से बना है, जिसे छात्र अपने मेजर के रूप में चुन सकते हैं, जिनमें से कुछ अलग ट्रैक के साथ हैं, जिनमें शामिल हैं:

फ़िल्म और टेलीविज़न निर्माण

निर्देशन, निर्माण, छायांकन, संपादन, ध्वनि, या उत्पादन डिज़ाइन में आगे बढ़ने के इच्छुक छात्रों के लिए इस डिवीज़न में अलग-अलग ट्रैक हैं।

सिनेमा और मीडिया अध्ययन

सिनेमा और मीडिया अध्ययन डिवीज़न के प्रोफेसर अनिको इमरे के अनुसार, यह मेजर सभी प्लेटफॉर्म, शैलियों, ऐतिहासिक अवधियों और संस्कृतियों में "अपनी सभी अभिव्यक्तियों और प्रभावों में मीडिया को एक्स्प्लोर करता है"। यह डिवीज़न छात्रों को कई कौशल सेट बनाने के लिए ज़्यादा लचीलापन और अवसर प्रदान करता है।

जॉन वेल्स डिवीज़न ऑफ़ राइटिंग फॉर स्क्रीन एंड टेलीविज़न

हम इसे पटकथा लेखन का डिवीज़न कहेंगे, क्योंकि इसमें छात्र टेलीविज़न, वीडियो गेम, डिजिटल प्लेटफॉर्म और मोशन पिक्चर्स के लिए लिखना सीखेंगे। इस डिवीज़न में, छात्र एक पेशेवर लेखक बनने के मार्ग में बैचलर्स ऑफ़ फाइन आर्ट्स या मास्टर्स ऑफ़ फाइन आर्ट्स प्राप्त कर सकते हैं।

USC पटकथा लेखन BFA

USC के पटकथा लेखन डिवीज़न में अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम उन छात्रों के लिए चार साल का प्रोग्राम है जो अंत में टेलीविज़न या फ़िल्म के लिए लेखन में अपना करियर बनाना चाहते हैं। इसकी कक्षाएं कार्यशाला की शैली में और छोटी हैं, जो छात्रों को दुनिया भर के इंडस्ट्री के पेशेवरों के सामने लाती हैं। पटकथा लेखन के छात्र सबसे अच्छी मनोरंजन कंपनियों में प्रशिक्षण भी प्राप्त कर सकते हैं। 

स्क्रीन और टेलीविज़न के लिए USC लेखन MFA

USC के पटकथा लेखन डिवीज़न में ग्रेजुएट प्रोग्राम छात्रों के लिए फाइन आर्ट्स में मास्टर डिग्री हासिल करने के लिए दो साल का डिग्री प्रोग्राम है। यह लेखन प्रोग्राम छात्रों को मनोरंजन इंडस्ट्री में लेखकों के रूप में काम करने के लिए तैयार करने में मदद करता है, और छात्रों को USC के इंडस्ट्री के साथ मजबूत कनेक्शन और हॉलीवुड से भौगोलिक निकटता से बहुत लाभ होता है। छात्र शीर्ष मनोरंजन कंपनियों में मेंटरशिप और इंटर्नशिप पूरी करने की भी उम्मीद कर सकते हैं।

पीटर स्टार्क निर्माण प्रोग्राम

USC में यह निर्माण प्रोग्राम आज के समय में छात्रों को हॉलीवुड में फ़िल्मों के निर्माण की बारीकियों के बारे में सिखाता है। जैसा कि डिवीज़न के अध्यक्ष लैरी टरमैन कहते हैं, "अमेरिका का हर फ़िल्म स्कूल आपको फ़िल्में बनाना सिखाता है। लेकिन स्टार्क प्रोग्राम आपको सिखाता है कि फ़िल्में कैसे बनाई जाती हैं। इन दोनों में अंतर है।"

जॉन सी. हेंच एनीमेशन और डिजिटल आर्ट्स डिवीज़न

जो छात्र एनीमेशन या डिजिटल कलात्मकता में करियर बनाना चाहते हैं, उनके लिए यह प्रोग्राम मुख्यधारा से लेकर प्रायोगिक तक, उद्दीपक कहानी कहने से लेकर मन को लुभाने वाली दृश्य कल्पना तक हर शैली को कवर करता है।

मीडिया आर्ट्स एंड प्रैक्टिस

USC में मीडिया आर्ट्स एंड प्रैक्टिस डिवीज़न "उन छात्रों के लिए डिज़ाइन किया गया है जो सिनेमैटिक आर्ट्स से आगे बढ़ना चाहते हैं, और मीडिया और शहरीकरण, कहानी कहने की कला और राजनीति, व्यापार और कला जैसे क्षेत्रों के जुड़ाव पर गंभीर और रचनात्मक रूप से काम करना चाहते हैं," एंड्रियास क्रैटकी, अनुसंधान के डीन और मीडिया आर्ट्स एंड प्रैक्टिस के प्रोफेसर। 

इंटरैक्टिव मीडिया और गेम

इंटरैक्टिव मीडिया और वीडियो गेम डिज़ाइन में रुचि रखने वाले छात्र मनोरंजक और इंटरैक्टिव अनुभव की मूल क्रियाविधि सीखने के लिए इस प्रोग्राम में हिस्सा ले सकते हैं। छात्र कहानी सीखेंगे, दर्शकों के साथ भावनात्मक संबंध बनाना सीखें, और नाटक की नई शैलियों को जानेंगे।

आपको यहाँ पर USC का पूरा कैटलॉग मिल सकता है। 

USC पटकथा लेखन प्रोग्राम के फायदे और नुकसान

USC पटकथा लेखन प्रोग्राम में हिस्सा लेने के फायदे और नुकसानों को अपने ख़ुद के दृष्टिकोण से आंकें, लेकिन अपने निर्णय में मदद पाने के लिए हर श्रेणी में इनमें से कुछ चीज़ों का प्रयोग करें।

USC के स्क्रीन और टेलीविज़न प्रोग्राम के लिए लेखन में हिस्सा लेने के फायदे

कनेक्शन और अवसर

"मैं एक अलग स्थिति में USC आयी थी, क्योंकि मैंने NYU से अंडरग्रेजुएशन किया था और ड्रामेटिक राइटिंग की पढ़ाई भी की थी," स्टेफनी ने बताना शुरू किया। "वैसे अपनी युवावस्था में, मैंने लिखने के बारे में सीखने के लिए कम, और कनेक्शन बनाने के लिए और ख़ुद को एक ऐसी स्थिति में रखने के लिए USC जाने का फैसला किया था जहाँ से मैं आसानी से इंडस्ट्री में "प्रवेश" कर सकूँ।"

आप मनोरंजन इंडस्ट्री के केंद्र में ऐसे प्रोफेसरों वाले स्कूल में जाएंगे जो हॉलीवुड से अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं। एक लेखक के रूम में कनेक्शन बनाना आपके लिए सबसे मुश्किल चीज़ों में से एक होता है, इसलिए यह प्रोग्राम आपको एक सही शुरुआत देता है।

शिक्षा की गुणवत्ता

स्टेफनी ने बताया, "USC के बारे में मुझे एक चीज़ बहुत पसंद है और मेरे अनुसार यह इसे उस प्रोग्राम से बिल्कुल अलग बनाती है जो मैंने पहले किया था वो ये कि यह आपको सच में संरचना के बारे में सिखाता है। इसपर बहुत ध्यान दिया जाता था, आप जानते हैं - USC का मूलमंत्र है "कोई व्यक्ति किसी चीज़ को बहुत चाहता है और उसे पाने में उसे मुश्किल हो रही है" – और वो उस समय के संबंध में था जब आप कोई फीचर फ़िल्म लिख रहे होते हैं, और मुझे वो बहुत अच्छा लगता था।"

पाठ्यक्रम फ़िल्म और टेलीविज़न इंडस्ट्री के कुछ बड़े पेशेवरों द्वारा पढ़ाए जाते हैं, जो आपको बस किसी किताब से नहीं पढ़ाते बल्कि आपको यह भी बताते हैं कि इस इंडस्ट्री में लिखने का काम पाने के लिए असल में आपको किन चीज़ों की ज़रूरत होती है। निश्चित रूप से आपको उनसे कुछ ऐसी चीज़ें मिलेंगे जो आपको ऑनलाइन या फिर किसी पटकथा लेखन की किताब में नहीं मिलेंगी।

कार्यशाला

"फ़िल्म और टेलीविज़न के इतिहास में एक बहुत अच्छी शिक्षा है, सभी बेहतरीन स्क्रिप्ट पढ़ना, फ़िल्मों का विश्लेषण करना, और साथ ही साथ अपनी ख़ुद की चीज़ पर काम करना।"

कक्षाएं छोटी हैं और कार्यशाला की शैली में पढ़ाई जाती हैं, इसलिए आपको दूसरों के साथ काम करने का व्यावहारिक अनुभव मिलेगा जो वही चीज़ें चाहते हैं जो आप चाहते हैं। आप उनसे सीखेंगे और उनके साथ काम करना सीखेंगे, जो किसी भी राइटर्स रूम में जाने के लिए एक महत्वपूर्ण कौशल है।

USC के स्क्रीन और टेलीविज़न प्रोग्राम के लिए लेखन में हिस्सा लेने के नुकसान

महंगा

"बीस साल बाद, फ़िल्म और टेलीविज़न दोनों में, और सच कहूं तो, ईमानदारी से, यहाँ तक कि किताब लिखते समय भी, मैं ऐसी बहुत सारी चीज़ों पर निर्भर हूँ जो मुझे USC में सिखाई गई थीं। वहाँ के प्रोफेसर बेहतरीन थे। मैं अभी भी उनका क़र्ज़ चुका रही हूँ, इसलिए यह ऐसा नहीं है जिसे सभी लोग वहन कर सकते हैं।"

ज़्यादातर लोगों के लिए, ~$70,000 वार्षिक ट्यूशन (प्रति वर्ष दो सेमेस्टर, प्रति सेमेस्टर 12 यूनिट) स्कूल को देने के लिए एक बहुत बड़ी राशि है। इसमें सामान्य जीवन का खर्च शामिल नहीं है, जैसे - भोजन, रहने की जगह, बिजली-पानी और परिवहन। और ऐसा नहीं है कि ग्रेजुएशन करने के बाद आपके लिए वेतन पाने की गारंटी होती है—पटकथा लेखन में करियर का मतलब है अनिश्चित, अस्थिर काम और कभी-कभी प्रवेश-स्तर का वेतन भी काफी कम होता है। ज़्यादातर लेखकों को अलग से भी कोई नौकरी करनी पड़ती है जिससे लिखने का काम आने पर वो उसे अपना समय और ऊर्जा दे पाते हैं।

स्थान

यह नुकसान भी कुछ हद तक एक फायदा ही है। निश्चित रूप से, आप लॉस एंजेल्स में सभी मनोरंजन गतिविधियों के केंद्र में होंगे। लेकिन एलए देश में रहने के लिए सबसे महंगी जगहों में से एक है। सार्वजनिक परिवहन का कोई भरोसा नहीं है। किराया बहुत ज़्यादा है। भयानक ट्रैफिक लगता है। लेकिन, यहाँ धूप रहती है और हर दिन लगभग 75 डिग्री तापमान होता है!

आपको अभी भी सबकुछ नहीं पता होगा

"ऐसा हो सकता है कि मैं युवा और नादान थी, जैसे फ़िल्म स्कूल के कई सारे लोग होते हैं, जहाँ मुझे लगता था, "ओह, यह मेरे ऊपर लागू नहीं होगा।" लेकिन मुझे व्यवसाय की बारीकियों और वो कैसा दिखाई देता है इसके बारे में बहुत ज़्यादा शिक्षा नहीं मिली। मुझे लगता है कि वो उस समय आंशिक रूप से सच था और आंशिक रूप से नहीं और अब यह अलग है।"

कुछ सबक ऐसे होते हैं जिन्हें कक्षा में बैठकर नहीं सीखा जा सकता। जैसा कि स्टेफनी ने बताया कि उन्हें ग्रेजुएट होने के बाद भी व्यवसाय की पूरी समझ नहीं हुई थी। लेकिन इसमें प्रोफेसरों की कोई गलती नहीं है—कुछ चीज़ों को समझने के लिए आपको उन्हें अनुभव करना पड़ता है। आपको सफलता के लिए तैयार किया जाएगा, लेकिन अपनी कला में माहिर होने से पहले, आपको अपने करियर में थोड़ा अनुभव पाने की ज़रूरत होगी।

क्या USC स्कूल ऑफ़ सिनेमैटिक आर्ट्स से पटकथा लेखन में BFA या MFA लेखकों के लिए सही है?

तो, अब तक आपको जो भी पता चला है, उसके अनुसार आप ख़ुद यह फैसला कर सकते हैं कि BFA या MFA आपके लायक है या नहीं। कुछ लोग कहेंगे कि पटकथा लेखन में डिग्री का कोई मोल नहीं होता क्योंकि, अंत में, कोई भी बस यह देखता है कि आपकी स्क्रिप्ट अच्छी है या नहीं। लेकिन दूसरे कहेंगे कि पटकथा लेखन की डिग्री, वो भी विशेष रूप से USC की, आपके लिए ऐसे दरवाज़े खोल सकती है जो किसी और स्थिति में आपके लिए नहीं खुल पाते। कॉलेज से निकलते ही आपके पास कनेक्शन और मेंटरशिप के अवसर होंगे, और साथ ही आपके पास वहाँ के मशहूर पूर्व-छात्रों की एक लंबी-चौड़ी सूची होगी (जॉर्ज लुकास; डेविड गोयर; रॉन हॉवर्ड; और टीवी लेखक जैसे डाना फॉक्स, "न्यू गर्ल," "बेन एंड केट"; नहनचका खान, "फ्रेश ऑफ़ द बोट," "डॉट ट्रस्ट द बी___ इन अपार्टमेंट 23" ; प्रेंटिस पेनी, "ब्रुकलिन नाइन-नाइन," "हैप्पी एंडिंग्स"; जॉन चू, "क्रेज़ी रिच एशियन")। आपके ऊपर छात्र ऋण का बहुत बड़ा क़र्ज़ भी हो सकता है। लेकिन यह इसके लायक हो सकता है क्योंकि USC जैसी जगह पर आपके द्वारा बनाए गए कनेक्शन और समुदाय की कीमत लगाना बहुत मुश्किल है।

USC पटकथा लेखन में जाना कितना मुश्किल है?

अगर आप USC में फ़िल्म स्कूल का आवेदन जमा करना चाहते हैं तो आप पैसे देकर आसानी से ऐसा नहीं कर सकते। यहाँ की आवेदन प्रक्रिया प्रतिस्पर्धात्मक है, और ग्रेजुएशन की आवश्यकताएं बहुत सख्त हैं।

स्क्रीन और टेलीविज़न के लिए लेखन का BFA प्रोग्राम हर शरद ऋतु में बस 30 छात्रों को स्वीकार करता है (वसंत ऋतु में कोई भर्ती नहीं होती), और छात्रों को अपनी डिग्री पाने के लिए 128 यूनिट पूरी करने की ज़रूरत पड़ती है। हालाँकि, छात्रों के लिए हाई स्कूल की कोई पूर्व-आवश्यकताएं नहीं होतीं, लेकिन USC के बारे में सबको पता है कि यह आवेदकों से उम्मीद करती है कि उन्होंने अपने हाई स्कूल में उपलब्ध सबसे मुश्किल पाठ्यक्रम पूरा किया हो। आवेदकों को एक सामान्य फ़िल्म स्कूल आवेदन, एक USC राइटिंग सप्लीमेंट (एक आत्मकथात्मक चरित्र स्केच, दो रचनात्मक चुनौतियाँ, अपने सबसे चुनौतीपूर्ण क्षण के बारे में एक लिखित कहानी, एक प्रतिबद्धता संकेत, व्यक्तिगत लेखन का एक सैंपल, और रचनात्मक पोर्टफोलियो सूची सहित), एकाधिक सप्लीमेंटल सामग्रियां (प्रतिलेख, परीक्षण स्कोर, आदि), और सिफारिश के लिए दो पत्र जमा करने की आवश्यकता होती है।

स्क्रीन और टेलीविज़न के लिए लेखन का MFA प्रोग्राम प्रत्येक शरद ऋतु में केवल 32 छात्रों को स्वीकार करता है, और उन कुछ भाग्यशाली छात्रों को अपनी पूरी पढ़ाई के दौरान 3.0 का न्यूनतम ग्रेड पॉइंट औसत बनाए रखने की ज़रूरत होती है। अंत में, MFA पाने के लिए, छात्रों को एक फीचर-लेंथ स्क्रीनप्ले, एक पायलट स्क्रिप्ट और सीरीज़ बाइबिल, या एक घंटे का ओरिजिनल ड्रामा टीवी पायलट, मिड-सीज़न एपिसोड और सीरीज़ बाइबिल पूरा करने की ज़रूरत होती है। आवेदकों को एक ग्रेजुएट फ़िल्म स्कूल आवेदन, आधिकारिक प्रतिलेख, वित्तीय दस्तावेज़, USC राइटिंग सप्लीमेंट (एक आत्मकथात्मक चरित्र स्केच, दो रचनात्मक चुनौतियाँ, अपने सबसे चुनौतीपूर्ण क्षण के बारे में एक लिखित कहानी, व्यक्तिगत लेखन का एक सैंपल, बायोडेटा और रचनात्मक पोर्टफोलियो सूची सहित), और सिफारिश के लिए दो पत्र जमा करने की आवश्यकता होगी।

आवेदन की अवधि 1 अगस्त को खुलती है और BFA आवेदकों के लिए 1 दिसंबर और MFA आवेदकों के लिए 15 नवंबर को बंद हो जाती है।

याद रखें, हॉलीवुड रिपोर्टर और USA टुडे दोनों ने USC स्कूल ऑफ़ सिनेमैटिक आर्ट्स को दुनिया में सर्वश्रेष्ठ का स्थान दिया है, इसलिए यहाँ स्वीकृति के आंकड़े थोड़े चौंकाने वाले हैं। विकिपीडिया के अनुसार, वर्तमान प्रवेश दर 3 प्रतिशत है।

क्या आप क्रिएटिव राइटिंग स्कूल के दूसरे विकल्पों की तलाश में हैं? यहाँ पर कुछ अन्य टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल दिए गए हैं।

"अगर आप असीम तरीके से सीखना चाहते हैं – यानी मैंने संपादन, निर्माण आदि की कक्षाएं की थीं – मैंने वो सारी चीज़ें की थीं जो आपको इंडस्ट्री में करनी पड़ती हैं," स्टेफनी ने अंत में कहा।" अगर आपको ये सारी चीज़ें अच्छी लगती हैं जो मैं आपको इसकी सलाह दूंगी।"

क्या आपको यह ब्लॉग पोस्ट पसंद आया? चीज़ें शेयर करना अच्छी बात है! इसलिए अगर आप इसे अपने मनपसंद सोशल प्लेटफॉर्म पर शेयर करते हैं तो हमें बहुत अच्छा लगेगा।

अंतिम विचार

फ़िल्म स्कूल जाना है या नहीं जाना (और इसके लिए पैसे देने हैं या नहीं) ...यही सवाल है। डेटा की समीक्षा करने और इस विषय पर स्टेफनी का साक्षात्कार करने के बाद, मुझे नहीं लगता कि कोई भी विकल्प दूसरे से बेहतर है, लेकिन मुझे लगता है कि दोनों विकल्प कुछ अनोखा प्रदान करते हैं। यदि आप अपने लेखन कौशल को सुधारने से पहले जीवन का ज़्यादा अनुभव करना चाहते हैं, तो MFA आपकी पसंद का प्रोग्राम हो सकता है, और आप किसी अन्य विषय में अपना अंडरग्रेजुएशन कर सकते हैं जो आपको एक वैकल्पिक करियर विकल्प प्रदान करता है। यदि आपने सोच लिया है कि आप फ़िल्में या टीवी लिखना चाहते हैं, तो BFA आपके लिए बेहतर हो सकता है क्योंकि आपको ऐसे मूल्यवान कौशल प्राप्त होंगे जो अपने रास्ते में आपकी मदद कर सकते हैं और साथ ही अनमोल कनेक्शन भी मिलेंगे। आपकी कहानियां महत्वपूर्ण हैं चाहे आप कहीं से भी पढ़ाई करें, इसलिए वही करें जो आपके लिए सही है।

आप महान चीज़ें कर सकते हैं,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

फ़िल्म स्कूल

उस पटकथा लेखक से जानें जिसने यह किया है

फ़िल्म स्कूल कैसे चुनें, उस पटकथा लेखक से जानें जिसने यह किया है

चाहे आपने पहले ही फ़िल्म स्कूल जाने का फैसला कर लिया हो या आप यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हों कि यह आपके लिए सही रास्ता है या नहीं, आप पटकथा लेखक केलॉर्ड हिल की यह सलाह पढ़ना चाहेंगे। आपको केलॉर्ड 2020 के अंत में SoCreate के स्क्रीनराइटर स्टिम्यूलस के विजेता के रूप में याद होंगे, जहाँ उन्होंने केवल 30 दिनों में फीचर-लेंथ पटकथा लिखने के लिए अपने पटकथा लेखन कौशल का इस्तेमाल किया था। ऐसा करने के लिए, उन्होंने अपने फ़िल्म स्कूल के साथियों और प्रशिक्षकों से प्राप्त सीखों का सहारा लिया था। लेकिन, स्क्रीनराइटिंग में मास्टर्स के अनुभव के सकारात्मक परिणामों के बावजूद...

टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल

पटकथा लेखन में MFA के लिए USC, UCLA, NYU, और अन्य टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल

पटकथा लेखन में MFA के लिए USC, UCLA, NYU, और अन्य टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल

पटकथा लेखक के रूप में फ़िल्म जगत में जाने का कोई एक आसान रास्ता नहीं है; यह सबके लिए अलग है। कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि पटकथा लेखन में मास्टर ऑफ़ आर्ट्स या मास्टर ऑफ़ फाइन आर्ट्स प्रोग्राम उन्हें यह कला सीखा सकता है, और वो इसे अपना करियर बनाते हुए कर सकते हैं। UCLA स्क्रीनराइटिंग, NYU के ड्रामेटिक राइटिंग, या USC के राइटिंग फॉर स्क्रीन एंड टीवी, आदि सहित दुनिया भर में इसके लिए कई सम्मानित प्रोग्राम मौजूद हैं। क्या आप और अधिक प्रोग्रामों के बारे में जानना चाहते हैं? मेरे साथ बने रहें, क्योंकि आज मैं आपके सामने लाने वाली हूँ, दुनिया भर के टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल...

हॉलीवुड कैसे काम करता है?

हॉलीवुड कैसे काम करता है?

क्या आपने कभी कोई फ़िल्म या टीवी शो देखते समय यह सोचा है कि इसे कैसे बनाया गया होगा? इससे मेरा कोई बुरा मतलब नहीं है कि, "यह कैसे बन गया?!", बल्कि मेरा सवाल काफी हद तक इसके पूरे निर्माण के बारे में है। कैसे कोई फ़िल्म या टीवी शो कल्पना से लेकर पूर्णता तक पहुंचता है? हॉलीवुड कैसे काम करता है, यह जानने के लिए कृपया आगे पढ़ें! सबसे पहले, किसी फ़िल्म या टीवी शो का निर्माण एक लंबी-चौड़ी प्रक्रिया है, जिसमें बहुत सारे चरण होते हैं जिन्हें पूरा करने में वर्षों लग सकते हैं। हालाँकि, फ़िल्म और टेलीविज़न अलग-अलग माध्यम हैं, फिर भी आपको इनमें काफी समानताएं दिखाई देंगी क्योंकि, मूल रूप से, उनका निर्माण तीन विशेष चरणों में होता है: प्री-प्रोडक्शन, प्रोडक्शन और पोस्ट-प्रोडक्शन...