पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

क्या आपको पटकथा लेखक बनने के लिए डिग्री की ज़रूरत है?

आपको पटकथा लेखक बनने के लिए डिग्री की ज़रूरत नहीं होती है।

यदि आपने हाल ही में पटकथा लेखन में करियर बनाने के बारे में सोचना शुरू किया है तो इतना जानें कि पेशेवर टेलीविज़न या फ़िल्म का लेखक बनने के लिए आपको कॉलेज जाने की ज़रूरत नहीं है। लेकिन साथ ही यह भी जानें कि यदि आप फ़िल्म इंडस्ट्री में कदम रखने की योजना बना रहे हैं तो इसका कोई नुकसान भी नहीं है।

आज के ब्लॉग में आप जानेंगे कि उन पटकथा लेखकों का जीवन कैसे अलग होता है जो इस आधार पर आगे बढ़ना चाहते हैं कि वो फ़िल्म स्कूल गए हैं या नहीं।

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

उसके बाद, उम्मीद है, आप उस मार्ग के बारे में एक सूचित निर्णय ले पाएंगे, जिसपर आप अपने पटकथा लेखन के सफ़र में आगे बढ़ना चाहते हैं!

क्या आपको पटकथा लेखक बनने के लिए डिग्री की ज़रूरत है?

क्या मैं डिग्री के बिना पटकथा लेखक बन सकता हूँ?

आप बिना किसी डिग्री के पटकथा लेखक बन सकते हैं। आपको पटकथा लेखक बनने के लिए हाई स्कूल डिप्लोमा भी नहीं चाहिए! जब तक आपको लिखना आता है और आप अच्छी कहानियां बता सकते हैं, आप फ़िल्म और टेलीविज़न शोज़ के लिए लिख सकते हैं, और किसी को इससे फर्क नहीं पड़ेगा कि आप कौन से स्कूल गए थे या नहीं गए थे।

पटकथा लेखक बनने के लिए आपको किस तरह की शिक्षा की ज़रूरत होती है?

एक पेशेवर पटकथा लेखक बनने के लिए, आपको इन क्षेत्रों में महारत हासिल करनी पड़ती है:

  • कहानी की संरचना

  • संवाद

  • दृश्यात्मक कहानी कहने की कला

  • पटकथा का फॉर्मेट (लेकिन यह SoCreate के साथ बदल जाएगा!)

अध्ययन के उपरोक्त क्षेत्रों में महारत हासिल करने के लिए, आप बहुत सारी फ़िल्में देख सकते हैं, बहुत सारी पटकथाएं पढ़ सकते हैं, ख़ुद किसी फ़िल्म की शूटिंग में अपना हाथ आज़मा सकते हैं (इसके लिए आपको बस एक आईफोन चाहिए), और टेलीविज़न और फ़िल्म के लिए लेखन की कला पर कुछ लोकप्रिय किताबें पढ़ सकते हैं।

क्या आपको इस सूची में कुछ कमी दिखाई दे रही है? सही सोचा; पटकथा लेखन में महारत हासिल करने के लिए किसी स्कूली शिक्षा की आवश्यकता नहीं है। बहुत से प्रसिद्ध पटकथा लेखकों के पास कोई औपचारिक शिक्षा नहीं है, और आप भी उसी रास्ते पर चल सकते हैं।

क्या पटकथा लेखन में डिग्री उपयोगी है?

कुछ कारणों से पटकथा लेखन में डिग्री उपयोगी तो है लेकिन ज़रूरी नहीं।

1. आप कनेक्शन बनाएंगे

विश्वविद्यालय में मिलने वाले कई लोग आपके जीवन भर के दोस्त और परिचित बन जाएंगे। अपनी पटकथा के बारे में कोई सवाल होने पर आप उन लोगों पर भरोसा कर सकते हैं और किसी नए शहर जाने पर आप उन्हें कॉल कर सकते हैं। लेकिन दोस्तों के अलावा, आपको ऐसे लोग भी मिलेंगे जो पहले से इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं, जिनमें पटकथा लेखक, निर्देशक, और स्टूडियो कार्यकारी शामिल हैं। नौकरी की तलाश में बड़ी दुनिया में बाहर आने के बाद इस तरह के कनेक्शन बनाना आपके लिए बहुत अच्छा हो सकता है क्योंकि कनेक्शन ही वो चीज़ है जो अक्सर सफलता पाने वाले और संघर्ष करने वाले लेखकों को अलग करती है।

2. तत्काल समुदाय

कभी-कभी, अपने जैसे लोगों को ढूंढना मुश्किल होता है। लेकिन फ़िल्म स्कूल में नहीं। आपकी तरह वहाँ पर हर किसी का एक ही उद्देश्य होता है, इसलिए आपके लिए एक सामान्य आधार ढूंढना आसान होगा।

आपके आस-पास लेखकों का एक समुदाय होने से आपके काम पर भी असर पड़ता है: आप लक्ष्य पर अधिक ध्यान केंद्रित करेंगे क्योंकि आप उसी दिशा में जाने वाले लोगों से घिरे रहेंगे।

3. संसाधन

फ़िल्म स्कूल जाने पर, आपके पास ऐसे निर्माण संसाधनों का एक्सेस होगा जो वास्तविक दुनिया में आपके लिए बेहद महंगे या पहुंच से बाहर होंगे। हम कैमरा, सेट, लाइट, एक्टर आदि की बात कर रहे हैं, जो आपके इस्तेमाल और प्रयोग के लिए उपलब्ध होते हैं।

भौतिक संसाधनों के अलावा, जब लेखन, मनोरंजन के व्यवसाय और अन्य पेशेवर मामलों की बात आती है, तो आपके पास व्यवसाय के कुछ बेहतरीन दिमागों का एक्सेस होगा। वास्तविक दुनिया में, इन प्रशिक्षकों को पाना काफी मुश्किल होता है – और आम तौर पर वो अपनी इच्छा से आपका मार्गदर्शन भी नहीं करना चाहते।

4. अनुभव

इससे कोई इंकार नहीं कर सकता कि कागज़ पर डिग्री अच्छी लगती है। यदि आप पटकथा लेखन के व्यवसाय में नहीं जा पाते, तो आप मनोरंजन उद्योग में कोई और पद पाना चाह सकते हैं जहाँ डिग्री दिखाने वाले रिज्यूमे से आपको दरवाज़े पर पैर जमाने में मदद मिलती है।

डिग्री किसी संभावित नियोक्ता को दिखाती है कि शिक्षा आपके लिए आवश्यक है, कि आप कई वर्षों तक कुछ कठिन काम कर सकते हैं, और यह कि आप जानते हैं कि फ़िल्म व्यवसाय कैसे काम करता है।

लेकिन याद रखें, पटकथा बेचने के लिए केवल एक डिग्री काफी नहीं है। आपको लेखन की कला में अच्छा होने की आवश्यकता पड़ती है, और डिग्री इस बात की गारंटी नहीं है कि आप इसमें अच्छे हैं।

5. तेज़ी से सीखना

अपने से पटकथा लेखन सीखना पूरी तरह से संभव है, लेकिन कक्षा के माहौल में आप यह तेज़ी से कर सकते हैं।

ज़ाहिर तौर पर, यह आप पर निर्भर करता है: आप कैसे सीखते हैं, आप सबसे अच्छा ध्यान कहाँ केंद्रित करते हैं, आप क्या करना चाहते हैं, आपकी परिपक्वता, आदि।

फ़िल्म स्कूल में, आप अपेक्षाकृत कम समय में टेलीविज़न और फ़िल्में बनाने के बारे में बहुत कुछ सीखेंगे। यह ऐसी फ़िल्म निर्माण शैलियों, फ़िल्म इतिहास और मनोरंजन रोजगारों के लिए आपकी आँखें खोल सकता है, जिन्हें शायद आप अपने से नहीं जान पाते।

दूसरी तरफ, यह समझना भी महत्वपूर्ण है कि पटकथा लेखन की डिग्री से आपको क्या नहीं मिलेगा ताकि आप एक सूचित निर्णय ले सकें।

1. विश्वविद्यालयों में डिग्री सीमित है

पटकथा लेखन एक विशेषता है, इसलिए ऐसे कई विश्वविद्यालय नहीं हैं जहाँ आपको इस कला में डिग्री मिल सके। इसके बजाय, आप आम तौर पर, किसी फ़िल्म कार्यक्रम या मीडिया अध्ययन में डिग्री हासिल करेंगे। इसके साथ ही, यह डिग्री देने वाले स्कूलों के लिए आपके पास सीमित विकल्प होंगे। यदि आपको इसमें रूचि है तो हमारे पास दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ पटकथा लेखन स्कूलों की सूची मौजूद है।

2. आप उतने ही अच्छे होते हैं जितना कि आपका पाठ्यक्रम होता है

यदि एक पेशेवर लेखक बनने के बारे में आपको जो कुछ भी जानना है उसके लिए आप अपने फ़िल्म स्टूडियो के प्रशिक्षकों पर निर्भर रहते हैं तो आपका पाठ्यक्रम आपको सीमित कर देगा। डिग्री प्रोग्राम से आप केवल एक हद तक ही सीख सकते हैं; अलग-अलग दर्शनों को समझने, असली दुनिया का अनुभव पाने, अपने लेखन कौशलों को सुधारने, और लिखने की शैली के साथ प्रयोग करने के लिए आपको क्लासरूम के अंदर और बाहर दोनों जगह सीखने के लिए सारा नियंत्रण अपने हाथों में लेने की ज़रूरत पड़ेगी।

3. लेखन समुदायों का एक्सेस मुफ़्त है

हालाँकि, फ़िल्म स्कूल में आपको बहुत सारे अच्छे लोगों से मिलने का मौका मिलेगा, लेकिन आप दुनिया भर के मुफ़्त लेखन समुदायों में सक्रिय भागीदार बनकर अपने दम पर भी अच्छा काम कर सकते हैं। ऑफलाइन और ऑनलाइन, ये लेखन समुदाय मजबूत और आप जैसे लेखकों से भरे हुए हैं। सबरेडिट्स से लेकर नेटवर्किंग समूहों तक, जो महीने में एक बार कॉफी के लिए मिलते हैं, लेखक हर जगह हैं, और आपको उनसे मिलने और ज्ञान व जीवन भर की दोस्ती पाने के लिए एक पैसा भी देने की आवश्यकता नहीं है।

4. हो सकता है पटकथा लेखन की डिग्री से आपको मदद न मिले

जहाँ इस विषय में डिग्री पाने की कोशिश में आप पटकथा लेखन के बारे में बहुत कुछ सीखेंगे, वहीं अगर बाद में आपको लगता है कि पटकथा लेखन आपके लिए नहीं है तो क्या होगा? मान लीजिये आपको पता है कि आप डिग्री पाना चाहते हैं, लेकिन आप इस बात के लिए निश्चित नहीं हैं कि आप पटकथा लेखन में ही करियर बनाना चाहते हैं। ऐसे में अच्छा होगा आप कोई दूसरी डिग्री चुनें जो और ज़्यादा उद्योगों के लिए लागू होती है – जैसे, उदाहरण के लिए, रचनात्मक लेखन की डिग्री। इस तरह, अगर पटकथा लेखन में आपका मन नहीं लगता तो आप किसी दूसरे क्षेत्र में नौकरी पा सकते हैं।

5. ज़्यादा समय-सीमा और कम रचनात्मक स्वतंत्रता

कभी-कभी लेखकों को अपने लिए समय-सीमा निर्धारित करने की आवश्यकता होती है, इसलिए समय-सीमा में कोई बुराई नहीं है। लेकिन यह जान लें कि जब आप होमवर्क की नियत तारीखों के दबाव में होते हैं तो आपके पास वास्तव में अपनी शैली और रचनात्मक दिशा का पता लगाने के लिए ज़्यादा समय नहीं होता है। इसके अलावा, आपको अपने काम के आधार पर वर्गीकृत किया जाएगा, जो रचनात्मक स्वतंत्रता का मज़ा किरकिरा कर देती है।

6. अगर आपका काम अच्छा है तो यह ख़ुद अपने लिए बोलता है!

फ़िल्म की डिग्री आपकी पटकथा को बेहतर नहीं बनाएगी। आप विश्वसनीयता पाने के लिए निर्माण कंपनियों के सामने पिच देने के बाद यह नहीं कहते कि "ओह, वैसे, मेरे पास पटकथा लेखन की डिग्री भी है।" नहीं, आपका पटकथा लेखन कौशल ख़ुद अपने लिए बोलता है। डिग्री से निर्माताओं और स्टूडियो कार्यकारियों के लिए आपकी पटकथा और ज़्यादा आकर्षक नहीं बन जाती।

7. आप मुफ़्त में सीख सकते हैं

ऑनलाइन पटकथा लेखन के बारे में इतनी ज़्यादा जानकारी उपलब्ध है कि आप सोच भी नहीं सकते। यूट्यूब वीडियो से लेकर इस तरह के पटकथा लेखन ब्लॉग तक, पटकथा लेखन, कहानी कहने की कला और मनोरंजन व्यवसाय के बारे में अपने सवालों के जवाब खोजना आसान है। और अगर किसी कारण से, यह पर्याप्त नहीं है, तो लेखकों ने इस विषय पर सैकड़ों किताबें लिखी हैं जिन्हें आप औपचारिक शिक्षा की लागत से बहुत कम में ख़रीद सकते हैं।

8. प्रतिस्पर्धा अभी भी रहती है

जहाँ पटकथा लेखन कार्यक्रम और डिग्री आपको कुछ उद्योगों में रोजगार बाज़ार की प्रतिस्पर्धा से अलग कर सकते हैं, वहीं फ़िल्म और टेलीविज़न उद्योग में ऐसा कुछ नहीं होता। नौकरी पाने की आपकी क्षमता केवल आपके कनेक्शन, कला और सही समय पर सही जगह पर होने पर निर्भर करेगी!

सारांश

पटकथा लेखकों को सफल होने के लिए किसी डिग्री की आवश्यकता नहीं होती, जो उद्योग के उन सभी पेशेवरों द्वारा बार-बार साबित किया गया है जो औपचारिक शिक्षा के बिना पुरस्कार विजेता फ़िल्म स्क्रिप्ट लिख रहे हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे अशिक्षित हैं: उन्होंने पटकथा लेखन की कला में ख़ुद को प्रशिक्षित करने के लिए समय लिया है, यह सीखा है कि व्यवसाय कैसे काम करता है, और अपना लेखन नेटवर्क बनाया है। एक लेखक होने के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि कहानी का आईडिया रखने वाला कोई भी व्यक्ति इसे कर सकता है, जिसमें आप भी शामिल हैं! पैसे लगाने से पहले यह समझने की कोशिश करें कि पटकथा लेखन की डिग्री आपके लिए सही है या नहीं।

क्या आपको यह ब्लॉग पोस्ट पसंद आया? इसे अपने मनपसंद सोशल प्लेटफॉर्म पर शेयर करें! हमें बहुत अच्छा लगेगा।

और अगर आप पटकथा लेखन की डिग्री नहीं लेना चाहते, लेकिन फिर भी कॉलेज जाना चाहते हैं, तो यह बहुत अच्छी बात है। कोई अन्य क्षेत्र चुनें जिसमें आपकी रुचि हो, जैसे रचनात्मक लेखन, और याद रखें: ग्रेजुएशन स्कूल आपके लिए हमेशा मौजूद हैं!

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

ग्राफ़िक के ऊपर पटकथा लेखिका स्टेफनी के. स्मिथ जो कहता है, "राइटिंग अंडरग्रेजुएट या ग्रेजुएट स्कूल के बीच चुनाव करना"

राइटिंग अंडरग्रेजुएट या ग्रेजुएट स्कूल के बीच कैसे फैसला करें

इन दिनों लेखन में औपचारिक शिक्षा पाने की इच्छा रखने वाले लोगों के लिए सर्टिफिकेट प्रोग्राम से लेकर बैचलर्स डिग्री, मास्टर्स डिग्री आदि तक कई विकल्प मौजूद हैं। लेकिन आप ऐसा प्रोग्राम कैसे चुनते हैं जिससे आपको सबसे ज़्यादा फायदा होगा? यह कुछ चीज़ों पर निर्भर करता है, जिनमें आपका बैकग्राउंड, लक्ष्य, क्षमताएं और कभी-कभी आपका वित्त शामिल होता है। अनगिनत फायदे-नुकसान वाली चीज़ों को सुलझाने में हमारी मदद करने के लिए, हमने निर्माता, पटकथा लेखक, टेलीविज़न लेखक और उपन्यासकार स्टेफनी के. स्मिथ से बात की। वह फ़िल्म इंडस्ट्री की अनुभवी इंसान हैं, और आप अमेज़ॅन प्राइम के...

फ़िल्म स्कूल

उस पटकथा लेखक से जानें जिसने यह किया है

फ़िल्म स्कूल कैसे चुनें, उस पटकथा लेखक से जानें जिसने यह किया है

चाहे आपने पहले ही फ़िल्म स्कूल जाने का फैसला कर लिया हो या आप यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हों कि यह आपके लिए सही रास्ता है या नहीं, आप पटकथा लेखक केलॉर्ड हिल की यह सलाह पढ़ना चाहेंगे। आपको केलॉर्ड 2020 के अंत में SoCreate के स्क्रीनराइटर स्टिम्यूलस के विजेता के रूप में याद होंगे, जहाँ उन्होंने केवल 30 दिनों में फीचर-लेंथ पटकथा लिखने के लिए अपने पटकथा लेखन कौशल का इस्तेमाल किया था। ऐसा करने के लिए, उन्होंने अपने फ़िल्म स्कूल के साथियों और प्रशिक्षकों से प्राप्त सीखों का सहारा लिया था। लेकिन, स्क्रीनराइटिंग में मास्टर्स के अनुभव के सकारात्मक परिणामों के बावजूद...

टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल

पटकथा लेखन में MFA के लिए USC, UCLA, NYU, और अन्य टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल

पटकथा लेखन में MFA के लिए USC, UCLA, NYU, और अन्य टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल

पटकथा लेखक के रूप में फ़िल्म जगत में जाने का कोई एक आसान रास्ता नहीं है; यह सबके लिए अलग है। कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि पटकथा लेखन में मास्टर ऑफ़ आर्ट्स या मास्टर ऑफ़ फाइन आर्ट्स प्रोग्राम उन्हें यह कला सीखा सकता है, और वो इसे अपना करियर बनाते हुए कर सकते हैं। UCLA स्क्रीनराइटिंग, NYU के ड्रामेटिक राइटिंग, या USC के राइटिंग फॉर स्क्रीन एंड टीवी, आदि सहित दुनिया भर में इसके लिए कई सम्मानित प्रोग्राम मौजूद हैं। क्या आप और अधिक प्रोग्रामों के बारे में जानना चाहते हैं? मेरे साथ बने रहें, क्योंकि आज मैं आपके सामने लाने वाली हूँ, दुनिया भर के टॉप स्क्रिप्ट राइटिंग स्कूल...