पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

इन रोमांटिक फिल्मों के पटकथा लेखकों के प्यार में पड़िये

आपको ये पसंद हों या ना हों, प्यार के बारे में बनने वाली भावुक फिल्में हमेशा रहेंगी। चाहे आपको प्यार से प्यार हो या चाहे आप दिल के आकार की कैंडी देखना तक पसंद ना करते हों, उन पटकथा लेखकों के बारे में हमें कुछ विशेष जरूर कहना होगा जो आखिरकार किसी अपने से मिलने वाली कहानियों से हमारे दिल के तार को झकझोर देते हैं। निम्नलिखित रोमांस लेखकों ने दुनिया भर के लाखों लोगों के दिलों में अपनी जगह बनाई है।

लाइन में अपनी जगह पकड़ो, पटकथा लेखक! हम SoCreate स्क्रीन राइटिंग सॉफ़्टवेयर को लॉन्च करने के करीब पहुंच रहे हैं, सीमित संख्या में बीटा परीक्षक।

कैसाब्लांका

"सभी शहरों के सभी जिन जॉइंट्स में से वो मेरे जिन जॉइंट में आती है।"

रिक ब्लेन, कैसाब्लांका

बिना किसी अच्छे अंत वाली प्रेम कहानी कैसी होगी? आज तक की सबसे बेहतरीन रोमांस फिल्मों में से एक, कैसाब्लांका, में लगभग कोई अच्छा अंत नहीं था।

"जब हमने शुरुआत की थी तब हमारे पास पूरी पटकथा नहीं थी," पटकथा लेखक हॉवर्ड कोच ने कहा। "इंग्रिड बर्गमन (इल्सा लैंड) मेरे पास आयीं और उन्होंने कहा, 'मुझे किस आदमी से ज्यादा प्यार करना चाहिए?' मैंने उनसे कहा, 'मुझे नहीं पता...उन दोनों को बराबर प्यार करिये।' हमारे पास कोई अंत नहीं था, इसलिए हमें नहीं पता था कि क्या होने वाला था!" (हॉलीवुड हॉटलाइन, मई 1995)।

पटकथा लेखकों और जुड़वाँ भाइयों जूलियस जे. एपस्टीन और फिलिप जी. एपस्टीन ने एक साथ मिलकर, आखिरकार एक अंत निर्धारित किया। कहानी में, मोरक्को में नाइटक्लब चलाने वाला एक हताश प्रवासी अपनी पूर्व प्रेमिका और उसके पति को नाज़ियों से बचाने का फैसला करता है, जब वो पति-पत्नी उसके नाइटक्लब में आते हैं। अंत में, उसे एक कठिन फैसला करना पड़ता है।

आश्चर्य की बात यह कि एपस्टीन और कोच ने कभी भी एक कमरे में पटकथा पर काम नहीं किया। यह पटकथा मुरे बर्नेट और जोआन एलिसन द्वारा लिखित "एवरीबॉडी कम्स टू रिक्स" नामक नाटक पर आधारित है जिसे कभी निर्मित नहीं किया गया था।

टाइटैनिक

"मैं कभी नहीं जाने दूंगी, जैक। मैं कभी नहीं जाने दूंगी।"

रोज, टाइटैनिक

दुखद होने के बावजूद, टाइटैनिक बहुत महत्वपूर्ण प्रेम कहानी है। रोमियो और जूलिएट की तरह, जहाज़ पर अपनी पहली यात्रा के दौरान एक अमीर लड़की उसी जहाज़ पर यात्रा करने वाले एक गरीब चित्रकार के प्यार में पड़ जाती है। लेकिन 1997 की जेम्स कैमरन की इस बेहतरीन कलाकृति में ऐसे अद्भुत मोड़ हैं जिन्होंने शुरुआत में पैरामाउंट के कार्यकारियों को इसकी पटकथा की ओर आकर्षित किया।

फिल्म के बारे में अपने पुराने साक्षात्कारों में उस समय पैरामाउंट पिक्चर्स की सीईओ, शैरी लैंसिंग ने कहा, “महिला सशक्तिकरण के अंतर्निहित संदेश वाली यह एक बेहतरीन प्रेम कहानी है। रोज [केट विंस्लेट] शुरुआत से ही एक मजबूत और आत्म-विश्वासी औरत थी – वो एक स्वतंत्र महिला थी जो अपने वर्ग के बंधनों को तोड़कर उस आदमी [लेओनार्डो डिकार्पिओ] के पास जाती है जिससे वो प्यार करती है। लोगों ने उन चरित्रों की ताकत और अपरंपरागत रूप को कम आँका।"

इस फिल्म के लेखक और निर्देशक, कैमरन, ने इस फिल्म से बॉक्स ऑफिस रिकॉर्ड तोड़े और इस फिल्म के लिए उन्हें 11 अकादमी पुरस्कार मिले – जो पटकथा लेखक और निर्देशक के रूप में उनके शुरूआती खराब वर्षों से बिलकुल अलग था। कॉलेज से निकलने के बाद, अपने पटकथा लेखन की महत्वाकांक्षा को सहारा देने के लिए कैमरन ट्रक चलाते थे। 1981 में उन्हें निर्देशक के रूप में अपने पहले काम से निकाल दिया गया था और 1984 में द टर्मिनेटर के लेखन और निर्देशन से पहले तक उन्हें बहुत ज्यादा सफलता नहीं मिली थी।

स्लीपलेस इन सीएटल

"आप लाखों फैसले करते हैं और उनका कोई मतलब नहीं होता है, और तभी एक दिन, आप टेकआउट ऑर्डर करते हैं, और आपकी ज़िन्दगी बदल जाती है।"

एनी रिड, स्लीपलेस इन सीएटल

अपनी रोमांटिक फिल्म स्लीपलेस इन सीएटल में अपने चरित्रों के विपरीत, पटकथा लेखक जेफ़ आर्च ने सब किया लेकिन अंत में सबकुछ भाग्य पर छोड़ दिया। उन्होंने सोचा कि उन्हें एक पेशेवर पटकथा लेखक बनना होगा, लेकिन चार पटकथाओं के ना बिकने पर और विफल ऑफ-ब्रॉडवे प्रयास के बाद, उन्होंने हिम्मत हार दी। इसके बाद, सात साल से पहले तक उनका समय नहीं आया।

“वर्जिनिया। 1990। मैं पैंतीस वर्ष का शादीशुदा, दो छोटे बच्चों का बाप हूँ। कोई मुझसे नहीं पूछ रहा, लेकिन मेरे पास एक प्रेम कहानी की योजना है जहाँ कहानी के दो मुख्य किरदार अंत तक एक-दूसरे से नहीं मिलते हैं - लेकिन जब वे मिलते हैं तब उनकी मुलाकात वैलेंटाइन्स डे के दिन एम्पायर स्टेट बिल्डिंग पर होती है," उन्होंने गो इनटू द स्टोरी के साथ अपने साक्षात्कार में कहा था। "मैं इसे स्लीपलेस इन सीएटल कहता हूँ, और मुझे पता है यह शानदार होगा। मैं यह महसूस कर सकता हूँ।"

नोरा एफ्रोन और डेविड वार्ड के साथ मिलकर, आर्च ने अपनी पटकथा पूरी की, और इसे आलोचकों की प्रशंसा मिली। 1994 में इसे सर्वश्रेष्ठ लेखन, सीधे स्क्रीन के लिए लिखी गयी पटकथा के लिए ऑस्कर के लिए नामित किया गया, और उसी साल दोबारा गोल्डन ग्लोब में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता, अभिनेत्री और मोशन पिक्चर के लिए नामित किया गया।

वॉल-ई

“ववव...ललल...लईईई"

ईव

“ई-वा!”

वॉल-ई

पिक्सर एनीमेशन स्टूडियो प्रोडक्शन की फिल्म वॉल-ई की पटकथा के बारे में शानदार बात यह है कि इसके दो मुख्य किरदारों के बीच लगभग कोई संवाद नहीं है। वॉल-ई एक अकेले रोबोट की दुःख भरी प्रेम कहानी है जिसे भविष्य की धरती पर कूड़ा बीनने के लिए छोड़ा गया है, और ईव के आने से पहले तक एक कॉकरोच उसका एकमात्र दोस्त रहता है। कहानी पात्रों के आपसी संबंधों के माध्यम से जीवंत होती है, और दर्शक जल्द ही खुद को एक रोबोट की प्रेम कहानी में डूबा हुआ पाते हैं जो दुःख और उदासी से भरी है।

पटकथा लेखक और निर्देशक एंड्रू स्टैंटन (अ बग्स लाइफ, टॉय स्टोरी, फाइंडिंग निमो, मॉन्स्टर्स इंक.) ने पीटर डॉक्टर (अप, इनसाइड आउट) और जिम रियरडन (रेक इट राल्फ, जूटोपिआ) के साथ मिलकर इसके कथानक की कल्पना की थी, जिसके बारे में कुछ लोग कहते हैं कि इसमें पर्यावरणवाद का एक अंतर्निहित विषय भी शामिल है। लेकिन स्टैंटन ने कहा कि प्रेम कहानी वहां से नहीं आयी थी।

डॉक्टर और रियरडन के साथ अपने विचार मंथन सत्रों में स्टैंटन ने कहा, "हे! चलो साई-फाई फिल्म करते हैं। धरती के आखिरी रोबोट के बारे में क्या कहना है?...चरित्र का कोई नाम नहीं था। हमें यह भी नहीं पता था कि यह कैसा लगेगा। लेकिन यह सबसे अकेलेपन से भरा परिदृश्य था जो मैंने आज तक सुना था, और मुझे यह काफी अच्छा लगा।"

वॉल-ई ने 2009 में सर्वश्रेष्ठ एनिमेटेड फीचर के लिए ऑस्कर जीता था।

द शेप ऑफ वॉटर

"अगर मैं तुम्हें उसके बारे में बताता तो तुम क्या कहते? कि उसके बाद वो हमेशा खुशी-खुशी रहे? मुझे विश्वास है वो रहे। कि उन्हें प्यार था?... मुझे यकीन यह सच है। लेकिन जब मैं उसके बारे में सोचता हूँ - एलिसा के बारे में - मेरे दिमाग में बस एक कविता आती है, जो किसी ने प्यार में कहीं थी, सैंकड़ों साल पहले: मैं तुम्हारा आकार नहीं ले सकता, लेकिन तुम्हें चारों तरफ पाता हूँ। तुम्हारे होने से मेरी आँखें तुम्हारे प्यार से भर जाती हैं, इससे मेरा दिल भर आता है, क्योंकि तुम हर जगह हो।"

गिल्स, द शेप ऑफ वॉटर

एक और सुंदर प्रेम कहानी जहाँ मुख्य किरदारों के बीच कोई संवाद नहीं था। शेप ऑफ वॉटर की पटकथा एक गूंगी सफाई कर्मचारी और एक समुद्री प्राणी पर आधारित है जो एक दूसरे से कुछ कहे बिना ही एक-दूसरे से प्यार कर बैठते हैं।

इसी प्रकार, पटकथा लेखकों गुइलेर्मो डेल टोरो (द हॉबिट: एन अनएक्सपेक्टेड जर्नी; हेलबॉय के लेखक) और वनेसा टेलर (गेम ऑफ थ्रोन्स, डाइवर्जेन्ट, एवरवुड, अलियास) ने भी एक-दूसरे को कुछ मेल भेजने के अलावा आपस में कोई बात नहीं की थी।

अपने पिछले साक्षात्कारों में गुइलेर्मो डेल टोरो ने कहा कि, "मुझे लगता है, 50 प्रतिशत कहानी ऑडियो/विज़ुअल कहानी कहने की कला में होती है। मुझे ऐसा लगता है कि पटकथा इन सभी का आधार है...लेकिन निश्चित रूप से यह पूरी फिल्म नहीं बताती है। बहुत सारी कहानी इसकी बारीकियों में होती है।"

एक साक्षात्कार में टेलर ने कहा था कि डेल टोरो की कल्पना को समझने के बाद, उन्हें यह बेहद पसंद आया।

“जब मैं उस हिस्से पर पहुंची जहाँ मुझे पता चला कि यह एक परिकथा है, मैं बिलकुल हैरान हो गयी! ये बिलकुल साधारण होते हैं और यही कारण है कि हम बार-बार उन्हीं कहानियों को दोहराते रहते हैं," उन्होंने कहा। "मुझे लगता है बच्चों की उनके लिए एक प्रतिक्रिया होती है और बड़ों की भी उनके लिए एक प्रतिक्रिया होती है। उनके द्वारा उभरने वाली भावनाएं बहुत गहरी होती हैं। मुझे इन सभी में 'क्या होता अगर' पसंद है।"

टेलर और डेल टोरो दोनों ने, किसी परिवर्तनकारी तत्व के बिना, द शेप ऑफ वॉटर के लिए ब्यूटी एंड द बीस्ट की कहानी से प्रेरणा ली है।

ब्यूटी एंड द बीस्ट

"मैं कहीं दूर बहुत सारा रोमांच चाहती हूँ! मैं यह इतना ज्यादा चाहती हूँ कि बता नहीं सकती!"

बेला, ब्यूटी एंड द बीस्ट

इस डिज्नी क्लासिक में, एक स्वार्थी राजकुमार को अपना बाकी का जीवन एक दानव के रूप में बिताने का श्राप मिलता है, जब तक कि वो सच्चा प्यार करना नहीं सीख जाता। लेकिन एक नौजवान लड़की के उसके किले में बंद होने के अलावा, यह प्रेम कहानी पहले की डिज्नी राजकुमारियों की कहानी की तरह परेशान लड़की की कहानी नहीं है।

पटकथा लेखक लिंडा वूल्वरटन बीते जमाने की परिकथा वाली प्रेम कहानियों के सांचे को तोड़ना चाहती थीं, और उन्होंने डिज्नी की एनिमेटेड फिल्म, ब्यूटी एंड द बीस्ट, की अपनी पटकथा में यह जोखिम उठाया। लिखने की प्रक्रिया के दौरान अपनी सोची गयी कहानी कहने के लिए उन्हें कर्मचारियों से लड़ाई करनी पड़ी थी।

"मुझे लगता है आप परिकथाओं या मिथक के माध्यम से आज के समय के मुद्दों पर आवाज़ उठा सकते हैं," अपने एक पुराने साक्षात्कार में उन्होंने कहा था। "तो यही मेरी लड़ाई थी, हमेशा यह कहना कि 'दर्शक अब इसपर विश्वास नहीं करने वाले हैं।' बेला से पहले की सभी डिज्नी राजकुमारियों को देखिये। ब्यूटी एंड द बीस्ट एक परिकथा जरूर है, लेकिन वो एक स्वतंत्र, खुले विचारों वाली लड़की है। उसे पढ़ना और बाहर घूमना पसंद है," वूल्वरटन ने कहा (एंटरटेनमेंट वीकली)।

किसी स्टूडियो कार्यकारी द्वारा उनका एक उपन्यास पढ़ने के बाद वूल्वरटन ने डिज्नी (मलेफिसेंट, द लायन किंग, ऐलिस थ्रू द लुकिंग ग्लास, ऐलिस इन वंडरलैंड) के लिए लिखना शुरू किया था। उन्होंने बच्चों की रंगमंच कंपनी चलाते हुए दो पटकथाएं लिखी थी।

ब्यूटी एंड द बीस्ट के अतिरिक्त लेखकों के श्रेय में ब्रेंडा चैपमैन, क्रिस सैंडर्स, बर्नी मैटिन्सन, केविन हर्के, ब्रायन पिमेन्टल, ब्रूस वुडसाइड, जो रानफ्ट, टॉम एलेरी, केली असबरी, रॉबर्ट लेन्स शामिल हैं।

प्यार के बारे में महान फिल्मों में एक चीज निश्चित है: पटकथा लेखक उनका केंद्र थे। और उसके लिए, हम अपने पास और दूर के सभी लेखकों को वैलेंटाइन्स डे की बहुत-बहुत शुभकामनाएं देते हैं!

हमें लेखकों से प्यार है,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

हमारे पसंदीदा छुट्टियों पर आधारित फिल्मों के उद्धरण और उन्हें लिखने वाले पटकथा लेखक

वो आपको हसाएंगे, आँखों में आंसू ला देंगे, और "ओह" कहने पर मजबूर कर देंगे। लेकिन इससे अच्छा क्या है? छुट्टियों पर आधारित क्लासिक फिल्में देखना हमेशा घर जाने जैसा लगता है। सबसे अच्छी पंक्तियों के पीछे छिपे बुद्धिमान पटकथा लेखक सभी इंसानी भावनाओं का लाभ उठाने में और ऐसे दृश्य बनाने में विशेषज्ञ होते हैं जो हमें सांता की तरह खूब हंसाते हैं, लेकिन इन शानदार लेखकों को बहुत कम ही स्पॉटलाइट मिलता है। इसलिए, इस बार के हॉलीडे एडिशन ब्लॉग में, हम आपके लिए लाये हैं छुट्टियों पर आधारित फिल्मों से सबसे अच्छे उद्धरण और साथ ही वो लेखक भी जिन्होंने उन्हें लिखकर वर्ष के उस सबसे अद्भुत समय को पर्दे पर ज़िंदा कर दिया है। होम अलोन - हम केवल एक उद्धरण नहीं चुन पाएं! होम अलोन एक ही समय पर हर बच्चे के ...
हॉलीवुड साइन

आज के पटकथा लेखकों के लिए रीमेक और रिबूट के लिए हॉलीवुड के प्रेम का क्या अर्थ है

टॉम्ब रेडर, एक्स-फाइल्स, ब्यूटी एंड द बीस्ट, स्टार वार्स, रोज़ेन, जुरासिक वर्ल्ड। यह सूची ऐसे ही जारी रहती है... कभी-कभी ऐसा लगता है कि जैसे ही आप अपना टीवी या वेब ब्राउज़र खोलते हैं तो फिर से किसी फिल्म के रीमेक या टेलीविज़न शो के रिबूट के लिए एक नए ट्रेलर के साथ आपका स्वागत किया जाता है। इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि इन रीमेक और रिबूट के लिए हॉलीवुड के मन में एक विशेष जगह है। लेकिन क्या अफवाहें सही हैं? क्या हम सचमुच में वास्तविक पटकथा की मौत का दौर देख रहे हैं जैसा कि कई दर्शक कहते हैं? चलिए इसे करीब से देखते हैं! द ड्रॉइड यू आर लुकिंग फॉर डेटा ब्लॉग के अनुसार, 2003 से 2012 के बीच सिनेमाघरों में 122 रीमेक रिलीज़ किये गए हैं। रॉटेन टोमैटोस पर इन सभी फिल्मों का औसत क्रिटिक ...
पटकथा लेखन कार्टून में एक हरा क्या है

पटकथा लेखन में एक बीट क्या है?

फिल्म उद्योग में, बीट शब्द का अक्सर जिक्र आता है, और इसका हमेशा एक ही मतलब नहीं होता। पटकथा के संदर्भ में, और इसके विपरीत फिल्म के समय-निर्धारण के संदर्भ में बात करने पर बीट के विभिन्न मतलब होते हैं। समझ नहीं आया! डरिये नहीं, हमारा विश्लेषण यहाँ मौजूद है। पटकथा में बीट क्या है? आमतौर पर संवाद में बीट का मतलब होता है कि पटकथा का लेखक विराम दर्शाना चाहता है। यह एक नाट्‍य संबंधी शब्द है जिसे आपको सीधे पटकथा में प्रयोग नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह अभिनेता और/या निर्देशक के लिए निर्देश के रूप में दिखाई देता है। और अभिनेताओं और निर्देशकों को हमेशा यह सुनना पसंद नहीं होता कि उन्हें क्या करना है! इसके अलावा, पटकथा में केवल बीट जोड़ देने से चरित्र-चित्रण में कोई वृद्धि नहीं होती। ...

टिप्पणियां