पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

अपनी लेखन प्रक्रिया कैसे विकसित करें

"रचनात्मकता अराजकता की संतान है, कला व्यवस्था की संतान है।"

के.एम. वेलैंड

कम से कम शुरू में, लिखना मुझे हमेशा से अस्त-व्यस्त सा लगता है। चाहे मैं कोई ईमेल लिख रही हूँ या ब्लॉग पोस्ट, अपने शब्दों को कागज़ (या स्क्रीन) पर उतारने से पहले मेरे शरीर में थोड़ा तनाव रहता है: प्रत्याशा, ख़ुद की आलोचना, उलझन, बहुत ज़्यादा विश्लेषण, ये सारी चीज़ें मेरे रास्ते में आकर खड़ी हो जाती हैं। लेकिन अपनी उंगलियों को चलाना शुरू करने पर, मैं रेस के तैयार हो जाती हूँ! लिखना ख़त्म करने के बाद, मैं उस प्रक्रिया को दोहराने का तरीका ढूंढती हूँ, ताकि मैं यह दोबारा कर सकूँ -- बल्कि अगली बार -- ज़्यादा अच्छे से कर सकूँ। इस बात का ध्यान रखें कि मैं लगभग 15 साल से पेशेवर तौर पर लिख रही हूँ।

लेकिन इस ब्लॉग पोस्ट को लिखते समय भी, मैं अपने ख़ुद की लिखने की प्रक्रिया को मजबूत बना रही हूँ। तो, यह कैसा लग रहा है? यह पटकथा लेखक और पटकथा समन्वयक मार्क गैफेन से बहुत ज़्यादा अलग नहीं है। हमने इस विषय पर मार्क का साक्षात्कार लिया था, और यह एक ऐसा सवाल है जो हमें सभी प्रकार के लेखकों से पूछना अच्छा लगता है: आपकी लेखन प्रक्रिया कैसी दिखती है, और क्यों? यह कोई ऐसा जवाब नहीं है जिसे शुरूआती लेखक आसानी से दे सकते हैं क्योंकि वो अभी भी यह समझने की कोशिश में होते हैं कि उनके लिए कौन सी चीज़ सबसे अच्छी है। लेकिन अनुभवी लेखक बनने और कुछ परियोजनाएं तैयार करने के बाद, आपके लिए यह कहना आसान हो जाता है कि आपके लिए कौन सी चीज़ काम करती है और कौन सी नहीं करती। और यह सभी के लिए अलग दिखता है। आप जिस प्रकार के लेखन पर काम कर रहे हैं, उसके आधार पर यह बदल भी सकता है। उदाहरण के लिए, पारंपरिक पटकथाएं बहुत फार्मूलाबद्ध होती हैं, लेकिन कविताएं इतनी नहीं होतीं।

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

हालाँकि, हर बार यह सवाल करने पर कुछ ऐसी रणनीतियां हैं, जो मुझे बार-बार सुनने को मिलती हैं, जिससे मैं यह सोचने पर मजबूर हो जाती हूँ कि उनमें कुछ तो बात है। अगर आपने अभी तक अपनी ख़ुद की कोई लिखने की प्रक्रिया नहीं बनाई है तो इन्हें आज़मा सकते हैं। मैं मार्क की प्रक्रिया के साथ शुरू करने वाली हूँ, क्योंकि यह वो सबसे लोकप्रिय प्रक्रिया है जो मुझे किसी भी लेखन फॉर्मेट की बात आने पर सुनने को मिलती हैं, चाहे आप पटकथाएं लिख रहे हों, कॉमिक बुक लिख रहे हों, उपन्यास लिख रहे हों, या फिर नॉनफिक्शन और शैक्षिक सामग्री लिख रहे हों। लेकिन इतना जानें कि यहाँ कोई सही जवाब नहीं है सिवाय उसके जो अपने शब्दों को कागज़ पर उतारने में आपकी मदद करता है। कुछ लेखकों को रूपरेखा तैयार करना रचनात्मकता को ख़त्म करने वाला लगता है, और वहीं कुछ इसके बिना शुरुआत नहीं कर सकते; कुछ लेखक बस कुछ ही दिनों में कोई पटकथा लिखकर तैयार कर सकते हैं, जबकि दूसरे कई महीनों या फिर सालों तक कड़ी मेहनत करते हैं। ये सभी विकल्प लिखने का "सही" तरीका हैं क्योंकि आख़िरकार वो आपकी रचना पूरी करते हैं।

लेखन प्रक्रिया 1: रूपरेखा तैयार करना

"अब, हर किसी की लेखन प्रक्रिया अलग होती है," मार्क ने शुरू किया। "जहाँ तक मेरी बात है, मुझे रूपरेखा तैयार करनी पड़ती है। मेरे लिए रूपरेखा इतनी महत्वपूर्ण इसलिए है क्योंकि मुझे एक रोडमैप की ज़रूरत होती है। अगर मेरे पास रोडमैप नहीं है, तो मैं मूल रूप से इधर-उधर भटकता रहता हूँ, वास्तव में कुछ भी उत्पादक नहीं कर पाटा। या फिर मैं बस रुक जाता हूँ, और इंटरनेट देखकर अपना समय बर्बाद करना शुरू कर देता हूँ।"

मार्क की तरह, मैं भी पहले अपनी लेखन परियोजनाओं की रूपरेखा तैयार करती हूँ। सबसे पहले, यह मुझे अपने शुरुआती विचारों को याद रखने में मदद करता है और वास्तविक लेखन के लिए मेरे दिमाग में जगह खाली करता है। यह मेरे लिए इस बात की भी पुष्टि करता है कि तथाकथित लेखन परियोजना सही दिशा में आगे बढ़ रही है। क्या मैंने वो सारे विषय कवर कर लिए जो मैं चाहती थी? क्या वो उस तरह से व्यवस्थित हैं जिससे पाठक के लिए चीज़ें आसान हो जाती हैं? अगर आप कोई कहानी लिख रहे हैं तो यह इस बात का ध्यान रखने का मौका होता है कि आप कहानी कहने की कला के सभी पारंपरिक बीट्स को प्रयोग कर रहे हैं। अंत में, जैसा कि मार्क ने कहा, यह मुझे इंस्टाग्राम ज़ोन में जाने के बजाय लेखन ज़ोन में रखता है।

हालाँकि, अगर आप मेरे जैसे योजनाकार हैं, तो इस तरीके के कुछ नुकसान भी हैं। अगर मैंने कोई योजना बना ली तो उसे बदलने के लिए मुझे मजबूर करने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ेगी। अगर आप लचीले नहीं हैं तो रूपरेखा तैयार करना आपकी कठोरता का कारण बन सकती है और रचनात्मकता को मुश्किल बना सकती है। रूपरेखा को एक गाइड के तौर पर देखें, न कि नियम-पुस्तिका की तरह।

लेखन प्रक्रिया 2: वोमिट ड्राफ्टिंग

कुछ लेखक अपने दिमाग में पूरी कहानी बना लेते हैं। और मुझे यह बहुत अद्भुत लगता है कि वो इसे याद रख सकते हैं! मैं ऐसी नहीं हूँ, इसलिए वोमिट ड्राफ्ट की संभावना मेरे लिए बहुत डरावनी है। लेकिन, यह बहुत सारे मशहूर लेखकों के बहुत काम आती है।

वोमिट ड्राफ्ट को ऐसा नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि आप इस चीज़ को लेकर कम परेशान रहते हैं कि आपका पहला ड्राफ्ट कैसा लगता है और बस जल्दी से जल्दी इसे पेज पर उतारना चाहते हैं। कुछ लोग वोमिट ड्राफ्ट लिख लेते हैं और फिर बाद में उन्हीं बीट्स पर वापस काम शुरू कर देते हैं।

वोमिट ड्राफ्टिंग प्रक्रिया की अच्छी बात यह है कि आपको तुरंत एक अच्छा शुरूआती स्थान मिल जाता है। आपको आख़िर में अपनी सर्वश्रेष्ठ पटकथा देखने को नहीं मिलेगी, लेकिन आप किसी खाली पेज को भी नहीं घूर रहे होंगे। वोमिट ड्राफ्ट की प्रक्रिया आपको तुरंत हरक़त में ले आती है, और ऐसे ढेर सारे पेजों को देखकर बहुत संतोष भी होता है, जिसपर आपको काम करने की ज़रूरत होती है।

वोमिट ड्राफ्टिंग का खतरा यह होता है कि यह ज़्यादातर पूरी नहीं हो पाती। 

"जब मैंने पहली बार लिखना शुरू किया था तब मैंने कोई रोडमैप इस्तेमाल नहीं किया,' मार्क ने हमें अपनी शुरूआती वोमिट ड्राफ्टिंग प्रक्रिया के बारे में बताया। "मैं बस जो भी मेरे मन में आ रहा था उसे लिखता जा रहा था। लेकिन उसमें से कभी कुछ अच्छा निकलकर नहीं आता था। अंक दो का मध्य-बिंदु आने पर मेरे पास हमेशा शब्द कम पड़ जाते थे क्योंकि मुझे समझ नहीं आता था कि मैं कहाँ जा रहा हूँ। इस तरह, मूल रूप से मेरे पास दस से बारह पटकथाएं ऐसी थीं जो आधी लिखी हुई थीं, जिसकी वजह से मेरा बहुत सारा समय बर्बाद हुआ।"

वोमिट ड्राफ्ट की प्रक्रिया उन लेखकों के लिए सबसे अच्छा काम करती है जो जानते हैं कि वो कहाँ जा रहे हैं, और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि कहानी कैसे समाप्त होती है।

लेखन प्रक्रिया 3: पहले अंत

दूसरे अंक के अलावा, कई लेखक मुझे बताते हैं कि लिखने की प्रक्रिया में उन्हें अंत लिखना सबसे ज़्यादा मुश्किल लगता है। तो फिर क्यों न अंत ही पहले लिख लिया जाए? कुछ लेखक अपनी कहानी पीछे से शुरू करते हैं, जिससे वो सभी बिंदुओं को रिवर्स इंजीनियर कर पाते हैं जो उन्हें तीसरे अंक के आख़िरी पेज तक ले जाती है।

मैंने उन लेखकों से भी बात की है जिनके दिमाग में केवल अंत का आईडिया आया था; या फिर नहाते समय उनके दिमाग में कोई शानदार आईडिया आ गया होगा, तो अब उन्हें बाकी की कहानी सोचने की ज़रूरत थी।

रूपरेखा तैयार करने की तरह ही, पहले अंत लिखना आपको एक अंतिम स्थान देकर एक शुरूआती स्थान देता है। यदि आप नहीं जानते कि आप कहाँ जा रहे हैं, तो आप यह कैसे जानेंगे कि वहां कैसे पहुंचा जाए?

अपनी लेखन प्रक्रिया को औपचारिक बनाएं

कुछ भी लिखने के औपचारिक, पारंपरिक तरीके में पूर्वलेखन (विचार-मंथन, रूपरेखा, शोध, चरित्र का विकास), ड्राफ्टिंग, संशोधन (आम तौर पर प्रतिक्रिया और नोट्स के बाद, कथानक, संवाद, पात्रों, आदि की जांच करना) और पॉलिशिंग (फॉर्मेट, व्याकरण, निरंतरता, और अन्य त्रुटियों का पता लगाने के लिए एक तकनीकी जांच जो कहानी का अभिन्न अंग नहीं होता है) शामिल हैं। लेखन परियोजना को पूरा करने के लिए, आप वास्तव में इनमें से किसी भी चरण को छोड़ नहीं सकते हैं, लेकिन उन्हें इस तरह रैखिक रूप से करने की आवश्यकता नहीं होती है। अंत में, चरणों को पूरा करने के लिए प्रत्येक लेखक को उस तरीके को अनुकूलित बनाने की ज़रूरत होती है जो उनके लिए काम करता है।

"मैं इसे ऐसे करता हूँ कि मैं एक आईडिया सोचता हूँ, उदाहरण के लिए, "टस्कर्स" ग्राफ़िक उपन्यास को ले लीजिये," मार्क ने कहा। "मुझे बेसिक आईडिया पता है। आपके पास एक हाथी, एक छोटा हाथी होता है, जो अपने परिवार का शिकार होते हुए देखता है, तो वो पहला शुरूआती बिंदु है। मुझे पता है उन्हें नर्सरी लाया जायेगा, इसलिए मैं बस "नर्सरी" लिख लेता हूँ। वो किसी दूसरे देश में जा रहे हैं क्योंकि शिकारी उनके पीछे पड़े हैं तो वो एक और बिंदु है। और काफी हद तक मुझे पता है कि अंत क्या है, इसलिए अब मेरे पास अपने रोडमैप पर पांच बिंदु हैं जहाँ मुझे अब पहुंचना है। वहां से, मैं शोध करने के साथ शुरू करता हूँ। मैं बहुत पढता हूँ। और जब भी मैं कुछ ऐसा पढ़ता हूँ जो मुझे अच्छा या दिलचस्प लगता है, तो मैं उसे कॉपी कर लेता हूँ और रोडमैप में उस जगह चिपका देता हूँ जहाँ मुझे लगता है कि वो फिट होगा। और इस तरह, अपना शोध पूरा करने तक, मेरे पास इन सभी छोटे तथ्यों या आंकड़ों या छोटी कहानी के विचारों का रोडमैप तैयार होता है। और फिर, मैं उन्हें धागे में एक साथ पिरोना शुरू करता हूँ, और ऐसे बनाने की कोशिश करता हूँ कि वो लोगों को समझ आये।"

मार्क हर नई कहानी के आईडिया या राइटिंग असाइनमेंट पर इस प्रक्रिया को दोहराते हैं, क्योंकि यह उनके लिए काम करता है।

लेकिन, डाइट की तरह, आपके लिए केवल वही प्रक्रिया काम करेगी जो ज़्यादा लंबे समय तक चल सके। एक प्रभावी लेखन प्रक्रिया विकसित करते समय, पहले अपने लेखन कौशल के बारे में अपना साक्षात्कार करने का प्रयास करें:

  • आपकी लेखन से जुड़ी कमज़ोरियां क्या हैं?

    इनसे निपटने के लिए अपनी प्रक्रिया को इस तरह से सेट करें जो आपके लिए काम करे। अपनी कहानी कहने की प्रक्रिया के किसी भी चुनौतीपूर्ण हिस्से को टालने की कोशिश न करें - जानें कि आप उसे कैसे पार कर सकते हैं, और इसका मतलब पहले कठिन चीजों से निपटना हो सकता है।

  • आपकी लेखन से जुड़ी ताकतें क्या हैं?

    अपनी कहानी कहने की कला की प्रक्रिया को इस तरह से सेट करने पर विचार करें जो "आसान" चीज़ों को अंत में रखे, ताकि आप अपनी दिमागी शक्ति को लेखन प्रक्रिया के उन हिस्सों के लिए सुरक्षित कर सकें जो सबसे कठिन हैं।

  • आपका सर्वोत्तम लेखन शेड्यूल और स्थान कैसा दिखता है?

    केवल प्रक्रिया के अलावा, इस बारे में भी सोचें कि आप ऐसी समय-सूची और परिवेश कैसे बना सकते हैं, जो अपना सबसे अच्छा काम करने के लिए आपके लिए फायदेमंद हो।

  • क्या संभव है?

    जीवन आदर्श नहीं होता, इसलिए अपनी लेखन प्रक्रिया में उन परिस्थितियों के लिए स्थान दें जो आपके नियंत्रण से परे हैं। आप वास्तव में कितनी बार लिख सकते हैं? यदि आप आमतौर पर सुबह 5 बजे नहीं उठते, तो यह मत सोचिए कि आप अचानक से सुबह उठने वाले बन जाएंगे जो हर दिन सूरज उगने से पहले लिख सकता है। यदि आपने कभी एक महीने से कम समय में कोई लेखन परियोजना समाप्त नहीं की है, तो ऐसा कैलेंडर न बनाएं जो आपको पटकथा लिखने के लिए 21 दिन का समय देती है। ख़ुद के प्रति और अपनी क्षमताओं, समय और लक्ष्यों के प्रति ईमानदार रहें।

अंत में मार्क ने कहा, "मैं जिस तरह से काम करता हूँ वो बहुत मेहनत वाली प्रक्रिया है, लेकिन मुझे वो वैसे करना पड़ता है क्योंकि वही तरीका मेरे लिए सबसे अच्छा काम करता है। और मुझे यह हर समय लिखते रहने की वजह से पता चला है।"

क्या आपको यह ब्लॉग पोस्ट पसंद आया? चीज़ें शेयर करना अच्छी बात है! इसलिए अगर आप इसे अपने मनपसंद सोशल प्लेटफॉर्म पर शेयर करते हैं तो हमें बहुत अच्छा लगेगा।

अपनी रचनात्मक प्रक्रिया पर भरोसा करें,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

Hey Screenwriters! Here's How to Go from Good to Great

अच्छे नौसिखिया लेखक महान पेशेवर लेखक कैसे बन सकते हैं

हर पेशेवर लेखक कभी नौसिखिया था, जिसने हार नहीं मानी। मुझे यकीन है, आपने यह वाक्य पहले भी सुना होगा, और इसका मूल मंत्र बस यही है कि पेशेवर बनने के लिए, आपको अपनी नज़र महान बनने पर रखने की ज़रुरत होती है (और केवल लेखन पर नहीं, लेकिन उसके बारे में हम किसी और ब्लॉग पोस्ट में बात करेंगे)। पेशेवरों को केवल इसलिए पेशेवर नहीं माना जाता, क्योंकि उन्हें अपने काम के पैसे मिलते हैं। मुझे नहीं लगता भुगतान किसी भी तरह का पैमाना होना चाहिए। लेखन में असली पेशेवर वो लोग होते हैं, जो केवल ठीक-ठाक पर नहीं रुकते। तो, आप अपनी लिखने की कला को अच्छे से महान में, नौसिखिया से पेशेवर में कैसे बदलते हैं...
Why Disney Writer Ricky Roxburgh's Writing Process Might Work For You, Too

वो लेखन शेड्यूल जिसने डिज्नी लेखक रिकी रॉक्सबर्ग की बेहतर बनने में मदद की

हमने बहुत सारे पटकथा लेखकों का साक्षात्कार लिया है, और उन सबमें एक चीज़ बहुत आम है कि लिखने के अपने निजी और पेशेवर समय की बात आने पर वो सभी बहुत अनुशासित होते हैं। अगर किसी पटकथा लेखक के पास अच्छा ख़ासा काम होता है, फिर भी वो अपने ख़ुद के लिखने के समय को फुल-टाइम नौकरी की तरह लेकर चलते हैं। अगर आपको अपनी लिखने की प्रक्रिया में मुश्किल आ रही है तो रिकी रॉक्सबर्ग जैसे पेशेवरों से कुछ उपाय पाएं, जिन्होंने "टैंगल्ड: द सीरीज़" लिखी है और नियमित रूप से डिज्नी के दूसरे कार्यक्रमों पर काम करते हैं। यहाँ तक कि उनके अनुशासन और जितना ज़्यादा समय...
How to Become a Disciplined Screenwriter, According to Writer & Journalist Bryan Young

लेखक और पत्रकार ब्रायन यंग बताते हैं कि अनुशासित पटकथा लेखक कैसे बनें

कुछ रचनात्मक लोगों को अनुशासन रखने में परेशानी होती है। हम चाहते हैं कि हमारे अंदर स्वाभाविक रूप से विचारों का प्रवाह होता रहे, और हम प्रेरित महसूस करने पर ही काम करते हैं। अगर आप भी ऐसे हैं तो आप पटकथा लेखक और पत्रकार ब्रायन यंग (SyFy.com, HowStuffWorks.com, StarWars.com) के इन प्रेरणादायक उपायों को ज़रुर सुनना चाहेंगे। वो हमें बताते हैं कि वो किस तरह से लिखने पर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं, और जहाँ तक पिछले कई सालों से लिखने के लिए ख़ुद से किये गए वादे की बात आती है, उसके बारे में वो हमें एक बहुत प्रभावशाली चीज़ बताते हैं। यंग ने हमें बताया, "निजी तौर पर...