पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

लेखक और पत्रकार ब्रायन यंग बताते हैं कि अनुशासित पटकथा लेखक कैसे बनें

कुछ रचनात्मक लोगों को अनुशासन रखने में परेशानी होती है। हम चाहते हैं कि हमारे अंदर स्वाभाविक रूप से विचारों का प्रवाह होता रहे, और हम प्रेरित महसूस करने पर ही काम करते हैं। अगर आप भी ऐसे हैं तो आप पटकथा लेखक और पत्रकार ब्रायन यंग (SyFy.com, HowStuffWorks.com, StarWars.com) के इन प्रेरणादायक उपायों को ज़रुर सुनना चाहेंगे। वो हमें बताते हैं कि वो किस तरह से लिखने पर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं, और जहाँ तक पिछले कई सालों से लिखने के लिए ख़ुद से किये गए वादे की बात आती है, उसके बारे में वो हमें एक बहुत प्रभावशाली चीज़ बताते हैं।

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

यंग ने हमें बताया, "निजी तौर पर, लिखने के लिए मेरा अनुशासन इस तथ्य से आता है कि मैं चाहे कुछ भी हो जाए हर दिन लिखता हूँ, या हर दिन लिखने से जुड़ी किसी चीज़ में अपना समय बिताता हूँ।" विशेषज्ञों का मानना है कि अपनी दिनचर्या में किसी लक्ष्य पर काम करना सफल होने के प्रमुख कारणों में से एक है। दुनिया के कुछ सबसे बड़े एथलीट्स के बारे में सोचिये; वो अपना कोई भी प्रशिक्षण सत्र नहीं छोड़ते क्योंकि उन्हें पता है कि हर एक पल अहमियत रखता है। "मैं हर रोज़ सुबह उठता हूँ, और इसके बाद कॉफ़ी शॉप जाता हूँ, और हर सुबह लिखने में दो घंटे बिताता हूँ।"

यह बोलना कि मेरे दिमाग में कोई आईडिया नहीं आ रहा है, आपके लिए कोई दिन छोड़ने का बहाना नहीं होना चाहिए। इसके बजाय यंग आपको अपने लेखन से जुड़ी किसी चीज़ पर काम करने का सुझाव देते हैं। "कभी-कभी वो संशोधन, पिच करना, क्वेरी भेजना, नयी चीज़ लिखना, इनवॉइस भेजना, या ऐसी कोई चीज़ पढ़ना या सुनना होता है जो मुझे ज़्यादा अच्छा काम करने के लिए प्रेरित करेगी।"

निजी तौर पर, लिखने के लिए मेरा अनुशासन इस तथ्य से आता है कि मैं चाहे कुछ भी हो जाए हर दिन लिखता हूँ, या हर दिन लिखने से जुड़ी किसी चीज़ में अपना समय बिताता हूँ। मैं हर रोज़ सुबह उठता हूँ, और इसके बाद कॉफ़ी शॉप जाता हूँ, और हर सुबह लिखने में दो घंटे बिताता हूँ... आपको बस इतना करने की ज़रुरत है कि उस चीज़ का पता लगाएं जो आपके लिए कारगर साबित होती है।
ब्रायन यंग

अगर आप अपना करियर बनाने के लिए लिख रहे हैं तो आपको यह जानना चाहिए कि ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो इसी लक्ष्य तक पहुँचने की कोशिश कर रहे हैं, और वो कोई ब्रेक नहीं ले रहे हैं।

"मैं हर दिन यह करता हूँ, सोमवार से रविवार तक," यंग ने हमें बताया। "मैं कोई छुट्टी नहीं लेता। दरअसल, इसे रिकॉर्ड करते समय, आज मेरा लगातार लिखने का 1,544वां दिन है। तो, मेरे मामले में, यह मुझे हर दिन करना होता है।"

सभी लोग अलग होते हैं, लेकिन अपने लक्ष्यों तक पहुँचने के लिए अनुशासन ज़रुरी है।

"आपको यह पता लगाने की ज़रुरत होती है कि आपके लिए कौन सी चीज़ कारगर है," यंग ने कहा। "मैं ऐसे बहुत सारे लोगों को जानता हूँ जो हर दिन लिखने का काम नहीं कर सकते क्योंकि ये उन्हें थका देता है, और यह बिल्कुल ठीक है। आपको बस वो सबकुछ आजमाने की ज़रुरत होती है जो आप आजमा सकते हैं, जब तक कि आपको अपने लिए कोई कारगर चीज़ नहीं मिल जाती।"

क्या आप अनुशासन बनाने में ज़्यादा मदद चाहते हैं? कई लोगों को यह कौशल सीखना पड़ता है, जिसका मतलब है कि आप भी ख़ुद को इसमें प्रशिक्षित कर सकते हैं!

Success.com ये उपाय बताता है:

  1. बड़े लक्ष्य बनाएं। लक्ष्य जितना बड़ा होगा, आप उसमें उतना ज़्यादा मन लगाएंगे।

  2. स्पष्ट लक्ष्य बनाएं। अपने बड़े लक्ष्य तक पहुँचने के लिए आप कौन से कदम उठाएंगे?

  3. हर दिन मायने रखता है। आप एथलीट्स को छुट्टी लेते हुए नहीं देखते, क्योंकि एक दिन की छुट्टी का मतलब है कि आप प्रतियोगिता में पीछे हो सकते हैं।

  4. पीछे न हटें। योजना बनाएं और इसपर आगे बढ़ें, इसपर सवाल न उठाएं, और पीछे न लौटें।

  5. ख़ुद पर दबाव डालें। अपने लिए दबाव बनाएं, और अपने सपने हासिल करने के लिए हर दिन काम करें, चाहे कुछ भी हो जाए।

  6. एक दिनचर्या बनाएं। एक ऐसी दिनचर्या बनाएं जो आपकी आदत और आपके दिन या हफ़्ते का हिस्सा बने। इसपर टिके रहें जब तक कि यह ऑटोमेटिक न बन जाए।

  7. वादा करें। लिखना शुरू करें और इसे ख़त्म करने का वादा करें।

  8. हार मानने की इच्छा से लड़ें। आपका दिमाग आपकी प्रक्रिया पर सवाल खड़े करने और आपको हार मानने के लिए मनाने की पूरी कोशिश करेगा। आपको उन इच्छाओं से लड़ना होगा।

  9. भावनाओं पर काबू पाएं। आप परेशानी, चिड़चिड़ापन, थकान, या आलस महसूस कर सकते हैं, लेकिन अपने आपको उन भावनाओं से अलग करें और अपना लक्ष्य सबसे ऊपर रखें।

  10. कठिन मेहनत में सुख पाएं। कुछ मुश्किल पूरा करने के बाद, क्या आपको अच्छा नहीं लगता? उस भावना को अपने अंदर जगाये रखें, और उसे याद रखते हुए हर लिखने की प्रक्रिया में ख़ुद को चुनौती दें। इस बार अपने अंदर तेज़ी लाएं।

अनुशासन बनाना आसान नहीं है, नहीं तो, हम सभी सुपरस्टार होते। लेकिन, सही सोच के साथ यह मुमकिन है, और यह आपके लेखन के सपनों को बना या बिगाड़ सकता है। शुरू करने का इंतज़ार न करें। आज ही शुरू करें!

रोम एक दिन में नहीं बना था,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

लेखक के अवरोध को दूर करें

अपनी रचनात्मकता दोबारा शुरू करने के 10 उपाय

लेखक के अवरोध को दूर करें - अपनी रचनात्मकता दोबारा शुरू करने के 10 उपाय

चलिए, हम सभी मान लेते हैं कि हम ऐसी स्थिति में रह चुके हैं। आखिरकार, आप आराम से बैठकर लिखने का समय निकालते हैं। आप पेज खोलते हैं, कीबोर्ड पर उंगली रखते हैं, और इसके बाद...कुछ नहीं। एक भी रचनात्मक विचार आपके दिमाग में नहीं आता। लेखक का भयानक अवरोध एक बार फिर से वापस आ गया, और आप अटक गए। यह याद रखना जरुरी है कि आप ऐसे अकेले नहीं हैं! दुनिया भर के लेखक हर दिन इस अवरोध का सामना करते हैं, लेकिन इस खालीपन की भावना पर काबू पाकर आगे बढ़ना संभव है! यहाँ अपनी रचनात्मकता को दोबारा प्रवाहित करने के लिए हमारे 10 पसंदीदा उपाय दिए गए हैं: 1. किसी अलग जगह लिखने का प्रयास करें। क्या आप हमेशा अपने डेस्क पर लिखते हैं? या अपने किचन टेबल पर लिखते हैं? इसे बदलें! ...
20

पटकथा लेखन के बारे मेंप्रेरणादायकअनमोल वचन

पटकथा लेखन के बारे में 20 प्रेरणादायक अनमोल वचन

क्या आज आपको लिखने के लिए थोड़ी प्रेरणा की जरुरत है? पटकथा लेखन से संबंधित हमारे 20 पसंदीदा अनमोल वचन देखिये! "मुझे लगता है लेखक इसे लेकर बहुत चिंतित रहते हैं कि सबकुछ पहले ही कह दिया गया है। निश्चित रूप से यह पहले कहा गया है, लेकिन आपके द्वारा नहीं।" - आशा डॉर्नफेस्ट. "अच्छी फिल्म बनाने के लिए आपको केवल तीन चीजों की जरुरत है - स्क्रिप्ट, स्क्रिप्ट और स्क्रिप्ट।" - अल्फ्रेड हिचकॉक. "इस बात का ध्यान रखें कि आपकी स्क्रिप्ट बिलकुल तैयार हो। यदि यह पेज पर नहीं है तो यह स्क्रीन पर कभी भी जादू से नहीं दिखाई देगी।" - रिचर्ड ई. ग्रांट. "कहानी कहे बिना कोई भी संस्कृति विकसित नहीं हो सकती है। जब समाज बार-बार भड़कीली, खोखली और छद्म कहानियां सुनता है तो इसका पतन होता है। हमें सच्चे व्यंग और त्रासदी, ...
"कहानियां क्यों लिखें?" के ग्राफ़िक पर माइकल स्टैकपोल और पीटर डन

एमी विजेता पीटर डन और एनवाई टाइम्स बेस्ट सेलर माइकल स्टैकपोल SoCreate से कहानी की बात करते हैं

लेखक कहानियां क्यों लिखते हैं? SoCreate में, हमने उपन्यासकारों से लेकर पटकथा लेखकों तक, ज़्यादातर लेखकों के सामने यह सवाल रखा है, क्योंकि उनके जवाब हमेशा आपको प्रेरणा देते हैं। हालाँकि, आम तौर पर हम यह जानना चाहते हैं कि फ़िल्मों के लिए कहानियां कैसे लिखी जाती हैं, लेकिन "क्यों" भी उतना ही ज़रूरी है, जितना कि "कहाँ"। लेखकों को लिखने के लिए प्रेरणा कहाँ से मिलती है? लिखी जाने वाली कहानियों से लेकर, लिखने के लिए प्रेरणा पाने तक, हर लेखक का अलग उद्देश्य और दृष्टिकोण अलग होता है। एमी विजेता पीटर डन और न्यूयॉर्क टाइम्स के बेस्टसेलिंग लेखक माइकल स्टैकपोल के साथ हमारा साक्षात्कार भी अलग नहीं था। मुझे उम्मीद है कि उनके जवाब आपको लिखने की प्रेरणा देंगे...