पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

टेम्पलेट के साथ अपनी फ़िल्म का बजट बनाना सीखें

सीखें टेम्पलेट के साथ अपनी फ़िल्म का बजट

अगर आप अपनी पटकथा पर कोई इंडिपेंडेंट फ़िल्म बनाने की सोच रहे हैं, तो इसका मतलब है कि आपके पास किसी बड़े फ़िल्म स्टूडियो का आर्थिक समर्थन और सहयोग नहीं है, और इसलिए आपको कुछ पैसों की ज़रूरत पड़ेगी। लेकिन कितने पैसों की? नीचे हम वो कैलकुलेट करेंगे। लेकिन इंडिपेंडेंट निर्माणों के लिए उससे कहीं ज़्यादा पैसों की ज़रूरत पड़ेगी, जितने आपके या हमारे बैंक अकाउंट में कभी नहीं होंगे। आख़िर में, इस बात को ध्यान में रखें कि एक औसत इंडिपेंडेंट फीचर बनाने में लगभग $750,000 का खर्च आता है।

अब, अगर आप अपनी फ़िल्म बनाने की लागत की भरपाई करना चाहते हैं और आपके पास अपनी फ़िल्म में पैसा लगाने के लिए ऐसे निवेशक मौजूद हैं जो मुनाफे की तलाश में नहीं हैं तो बेशक आपके पास एक अच्छी डील है! लेकिन, शायद ही कभी ऐसा होगा कि आपके फंडिंग सोर्स को इस बात से मतलब न हो कि फ़िल्म पूरी होने के बाद क्या होगा। इसलिए, अपनी पटकथा में आख़िरी बार समायोजन करते समय अपने प्रोडक्शन बजट को ध्यान में रखें ताकि यह अनुचित न बने।

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

ज़ाहिर तौर पर, कुछ फ़िल्में 3-बेडरूम/2-बाथरूम (मैं कैलिफोर्निया में रहती हूँ) से भी कम के खर्चे में बनाई गयी हैं, और कुछ के लिए तो किसी बजट की ज़रूरत नहीं पड़ी। आपको बस एक ऐसा बजट बनाने की कोशिश करनी है जिसके लिए आप पैसे जुटा सकें, अपनी मर्ज़ी से निर्माण कर सकें, और आपके पैसे भी ख़त्म न हों।

फ़िल्म निर्माता अपने बजट को चार भागों में बांटते हैं, अबव-द-लाइन, प्रोडक्शन, पोस्ट-प्रोडक्शन, और अन्य। अबव-द-लाइन लागतों में निर्माण से पहले की और विकास की लागतें शामिल होती हैं; प्रोडक्शन, यह पूरे बजट का लगभग 50% होता है, और इसमें श्रम, सेट, कॉस्ट्यूम, उपकरण आदि शामिल होते हैं ; पोस्ट-प्रोडक्शन में निर्माण के बाद का श्रम, संपादन, सुविधाएं आदि शामिल हैं; और आम तौर पर अन्य श्रेणी में एक रिज़र्व बजट, और मार्केटिंग की लागतें (उत्सव और स्व-वितरण) शामिल होती हैं। ज़्यादा बड़े प्रोडक्शन में शामिल होने पर, हो सकता है कि मार्केटिंग और वितरण को असली बजट में शामिल न किया जाए। लेकिन, अगर आप यह (ज़्यादातर) अकेले कर रहे हैं तो निर्माण के बाद आपको जो भी करना है उसके लिए आपके पास एक आर्थिक योजना मौजूद होनी चाहिए।

हमारे उद्देश्यों के लिए (हम यह मानकर चल रहे हैं कि आपके पास बजट बनाने के लिए कोई फ़िल्म बजट सॉफ्टवेयर या लाइन निर्माता या प्रोडक्शन मैनेजर नहीं है), मैं इन नंबरों को इनपुट करना शुरू करने के लिए एक नई एक्सेल स्प्रेडशीट खोलने की सलाह दूंगी। या, शुरुआत करने के लिए इस ब्लॉग के नीचे दिया गया टेम्पलेट प्रयोग करें।

अपनी फ़िल्म का बजट कैसे बनाएं:

1. स्क्रिप्ट ब्रेकडाउन करें

अपनी पटकथा के हर दृश्य पर जाएँ, और विस्तार से बताएं कि उस दृश्य को शूट करने में आपको किसकी ज़रूरत होगी। आपको स्थान, प्रॉप, कॉस्ट्यूम, कोई विशेष मेकअप या प्रभाव, कलाकार, और बहुत कुछ शामिल करना चाहिए। प्रत्येक दृश्य के लिए, निम्नलिखित को पूरा करें:

  • परियोजना का शीर्षक, दृश्य नंबर, अंदर/बाहर, दिन/रात, पटकथा पेज नंबर, दृश्य का नाम, स्थान

  • कलाकार

  • अतिरिक्त कलाकार

  • स्टंट या स्टैंड-इन

  • प्रॉप

  • सेट

  • गाड़ियां या अन्य सुविधाएँ जैसे जानवर

  • कॉस्ट्यूम

  • मेकअप और बाल

  • स्पेशल इफ़ेक्ट

  • स्पेशल इफ़ेक्ट या संगीत

  • विशेष उपकरण

  • अन्य नोट

2. अपने प्रोडक्शन शेड्यूल की योजना बनाएं

आपकी फ़िल्म की शूटिंग पूरी करने में कितने दिन लगेंगे? दिन की शूटिंग और रात की शूटिंग की सूची बनाएं, और हर दिन प्रत्येक में से कम से कम एक की शूटिंग करके अपना समय बचाएँ। आम तौर पर, फ़िल्म की शूटिंग हर दिन 10-12 घंटे चलती है, और आपको एक घंटे का लंच ब्रेक मिलता है। हर दिन के लिए और उस दिन शूट किये जाने वाले हर दृश्य के लिए निम्नलिखित जानकारी भरकर अपना प्रोडक्शन शेड्यूल पूरा करें। प्रत्येक प्रोडक्शन शेड्यूल शीट पूरे दिन की शूटिंग को कवर करेगी, जिसमें उस दिन लिया गया हर दृश्य शामिल होता है:

  • प्रोडक्शन शीर्षक, शूटिंग का दिन, जिस क्रू को बुलाने की ज़रूरत है, अनुमानित समाप्ति समय, अनुमानित ब्रेकफास्ट, लंच, या डिनर का समय

  • शूटिंग का समय (शूटिंग के हर दिन इनमें से कई कॉल टाइम सूचीबद्ध होंगे)

  • सीन शॉट नंबर

  • अंदर/बाहर, दिन/रात

  • स्थान

  • शॉट विवरण

  • कास्ट कॉल

3. कठोर लागत निर्धारित करें

उन सभी कठोर लागतों की रूपरेखा बनाने के साथ शुरुआत करें जो आपको पहले से पता हैं, जैसे कैमरा, लाइटिंग, स्थान का किराया, और अतिरिक्त उपकरण का किराया। आपकी फ़िल्म की शूटिंग के लिए ये सब मूलभूत ज़रूरतें हैं।

4. अपना कास्ट और क्रू इकट्ठा करें

आपको कितने कलाकारों की ज़रूरत है? प्रोडक्शन कर्मचारी कितने होंगे? प्रोडक्शन पूरा करने के लिए आपको कितने सहायकों की ज़रूरत होगी, और आपके पास जितने शूटिंग के दिन मौजूद हैं उनके आधार पर आप क्या वहन कर सकते हैं? हर क्रू मेंबर कितने पैसे पाने की उम्मीद करेगा इसके बारे में एक सामान्य अंदाज़ा लगाने के लिए, मनोरंजन इंडस्ट्री के इन लोगों का प्रतिनिधित्व करने वाले संघों के पास जाएँ, जैसे इंटरनेशनल एलायंस ऑफ़ थिएट्रिकल स्टेज एम्प्लाइज या IATSE। अपने अनुसार, इस चरण पर आप जितने भी पैसे जुटा सकते हैं, उसके आधार पर आपको क्रू, किरदारों की संख्या, और शूटिंग के दिनों जैसी चीज़ों को संतुलित करना शुरू करना होगा। आप अपनी पटकथा में कुछ बदलाव करने पर भी विचार कर सकते हैं।

5. पोस्ट-प्रोडक्शन टाइमिंग और लागत पर विचार करें

कई फ़िल्म निर्माता पोस्ट प्रोडक्शन में लगने वाले समय को कम आंकते हैं। सामान्य तौर पर, पटकथा के पांच या उससे ज़्यादा पेजों के संपादन में तीन से पांच घंटे लगेंगे, साथ ही संशोधन में अतिरिक्त समय लगेगा। जो 120 पेज की किसी पारंपरिक फीचर-लेंथ पटकथा के लिए न्यूनतम 72 घंटे का संपादन समय है या भुगतान किये जाने वाले संपादक के समय के लगभग दो हफ्ते हैं। आपको हार्ड ड्राइव, म्यूज़िक लाइसेंसिंग अधिकारों, और सारा काम करने के लिए एक जगह की ज़रूरत होगी।

6. खाली जगह भरें

अब आपको समय, क्रू और कास्ट की संख्या, और पोस्ट-प्रोडक्शन की ज़रूरतों के बारे में एक आईडिया लग चुका है, इसलिए अब बाकी चीज़ें भरें। कास्ट और क्रू का खाना, कास्ट और क्रू के खर्च (गैस, लॉजिंग, यात्रा), कॉस्ट्यूम, संगीत, वैकल्पिक स्थान, प्रोडक्शन डिज़ाइन, मेकअप और बाल, बीमा, प्रचार, और आकस्मिक निधि सभी पर विचार करने की ज़रूरत पड़ेगी।

फ़िल्म बजट के उदाहरण:

निम्नलिखित वर्गीकरणों को लाइन आइटम में रखा गया है, जिन्हें आगे भी वर्गीकृत किया जा सकता है (और किया जाना चाहिए) जब आपको इस बात का सही तरीके से अंदाज़ा लग जाता है कि परियोजना पूरी करने के लिए आपको क्या और किसकी ज़रूरत पड़ेगी। चलिए प्रत्येक बजट ब्रेकडाउन के नीचे रियल-लाइफ उदाहरणों को देखकर जानें कि दूसरे फ़िल्म निर्माता यह कैसे करते हैं।

$40,000 की फ़िल्म का बजट

  • अबव-द-लाइन:
    • टैलेंट = $7,000
  • प्रोडक्शन:
    • आर्ट डायरेक्शन = $3,000
    • कैमरा = $3,000
    • इलेक्ट्रिक = $3,000
    • ग्रिप = $1,000
    • साउंड = $3,000
    • सेट ऑपरेशन = $3,000
    • कॉस्ट्यूम = $4,000
    • मेकअप और बाल = $1,000
  • पोस्ट-प्रोडक्शन:
    • संपादन, संगीत = $5,000
  • अन्य:
    • आकस्मिक निधि = $4,000
  • अबव-द-लाइन:
    • टैलेंट = $15,000
      अन्य (लेखक, निर्माता, निर्देशक, छायाकार) = $3,000
  • प्रोडक्शन:
    • कैमरा = $20,000
    • आर्ट डायरेक्शन = $12,000
    • प्रोडक्शन क्रू = $12,000
    • इलेक्ट्रिक = $10,000
    • ग्रिप = $7,000
    • साउंड = $10,000
    • सेट ऑपरेशन = $10,000
    • कॉस्ट्यूम = $10,000
    • बाल और मेकअप = $8,000
  • पोस्ट प्रोडक्शन:
    • संपादन = $20,000
    • साउंड डिज़ाइन = $20,000
    • संगीत के अधिकार/संगीतकार = $10,000
  • अन्य:
    • प्रचार = $8,000
    • बीमा = $3,500
    • कानूनी = $1,500
    • आकस्मिक निधि = $20,000

यहाँ पर "ऑडी एंड द वुल्फ" फ़िल्म के लिए सबसे अच्छी परिस्थिति में ब्रुकलिन रेप्टाइल फ़िल्म्स द्वारा तैयार किया गया असली ~$200,000 फ़िल्म के बजट का PDF दिया गया है।

फ़िल्म बजट टेम्पलेट:

इन लाइन आइटमों को किसी एक्सेल स्प्रेडशीट या दूसरे दस्तावेज़ में कॉपी और पेस्ट करें, और खाली जगहों को भरें। ऐसे किसी भी लाइन आइटम को हटा दें जो आपके प्रोडक्शन के लिए प्रासंगिक नहीं हैं। ज़्यादा से ज़्यादा विवरण डालें, भले ही यह बकवास क्यों न लगे। आप अपने लोन रेंजर के किरदार के लिए प्रॉप बजट में "टूथपिक" लिखने के लिए बाद में ख़ुद को धन्यवाद करेंगे।

  • अबव-द-लाइन:
    • पटकथा/पटकथा लेखक की लागत
    • पटकथा लेखक की दैनिक दर (अगर सेट पर प्रयोग करते हैं) x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • निर्माता की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • निर्देशक की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • फोटोग्राफी निर्देशक की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • कास्ट की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
  • प्रोडक्शन:
    • कैमरे की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • निरंतरता की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • कॉस्ट्यूम की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • कॉस्ट्यूम और प्रॉप की लागत
    • प्रोडक्शन स्टाफ x आवश्यक क्रू की # x दैनिक दर = लागत
    • ग्रिप की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • लाइटिंग की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • मेकअप आर्टिस्ट की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • हेयरस्टाइलिस्ट की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • साउंड की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • परिवहन की दैनिक दर x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • अन्य प्रोडक्शन क्रू x क्रू की संख्या x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • आवास x क्रू की संख्या x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • खानपान x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • अन्य यात्रा संबंधी खर्च (जैसे, खाना, गैस) x कास्ट और क्रू की # x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • उपकरणों का किराया x शूटिंग के दिनों की # = लागत
    • बीमा
    • सेट
  • पोस्ट प्रोडक्शन:
    • कलरिस्ट की दैनिक दर x दिनों की # = लागत
    • संगीतकार की दैनिक दर x दिनों की # = लागत
    • संपादक और संपादन सहायक की दैनिक दर x दिनों की # = लागत
    • संगीत के अधिकार
    • कार्यालय की लागत x दिनों की # = लागत
    • साउंड डिज़ाइन की दैनिक दर x दिनों की # = लागत
    • हार्ड ड्राइव और अन्य उपकरण
  • अन्य:
    • कास्ट रिहर्सल का समय
    • कास्ट रिहर्सल का स्थान
    • प्रोडक्शन डिज़ाइन जैसे प्रोडक्शन से पहले की लागत

आप एक आकस्मिक बजट भी शामिल कर सकते हैं; कुल बजट का दस प्रतिशत सुरक्षित रखना सबसे अच्छा होता है। इस श्रेणी में विज्ञापन और मार्केटिंग, फ़िल्म समारोह में प्रवेश और संबंधित लागतें, अगर आप इसे बड़े स्तर पर करना चाहते हैं तो पब्लिक रिलेशंस टीम, और सेल्स एजेंट को भी शामिल किया जाना चाहिए।

अपने आपको कम न आंकें। आप इतनी दूर तक आये हैं तो अपने लिए सही बजट की योजना बनाकर वो फ़िल्म बनाएं जो आप बनाना चाहते हैं। अगर आपको अभी फंडिंग नहीं मिल पा रही है तो पटकथा को किनारे रखें और उसके बजाय छोटे बजट वाले विकल्प का चुनाव करें। या फिर अपनी फ़िल्म के लिए दो बजट बनाएं - एक सबसे बुरी परिस्थिति वाला कम बजट और एक सबसे अच्छी परिस्थिति वाला ज़्यादा बजट। इस तरह, आप किसी भी एक तरीके का प्रयोग करके अपनी परियोजना पर काम शुरू कर सकते हैं। आप (और मैं) अपनी फाइनल फ़िल्म के नतीजे में जान फूंक देना चाहते हैं, इसलिए पहले से योजना बनाएं और सारी चीज़ें सही से करें।

इसके लिए पैसों और समझ की ज़रूरत है,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

निर्माण के बजट को ध्यान में रखकर कोई पटकथा कैसे लिखें

निर्माण के बजट को ध्यान में रखकर कोई पटकथा कैसे लिखें

आपने शायद यह सुना होगा कि पटकथा लेखकों को बजट को ध्यान में रखकर नहीं लिखना चाहिए या आपके बजट से यह निर्धारित नहीं होना चाहिए कि आपकी पटकथा कैसी होगी। हालाँकि, यह बात काफी हद तक सही है, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि किसी भी लेखक के लिए बजट बहुत ज़रूरी होता है। एक पटकथा लेखक के रूप में, आपको यह पता होना चाहिए कि आप $150 मिलियन ब्लॉकबस्टर की पिच दे रहे हैं या $2 वाली फ़िल्म की। बजट ध्यान में रखने पर आपको अपनी पटकथा उसके अनुसार बेचने में मदद मिल सकती है और आप इसे ऐसे लोगों के पास ला सकते हैं जो इसे सच्चाई में बदल सकते हैं या आप इसे ख़ुद बनाने के लिए पैसे इकट्ठा कर सकते हैं। किसी पटकथा में कौन सी चीज़ें बजट को प्रभावित करती हैं? आप अपनी कीमतों...

कमाएं अपनी शॉर्ट फ़िल्मों से पैसे

अपनी शॉर्ट फ़िल्मों से पैसे कैसे कमाएं

शॉर्ट फ़िल्में पटकथा लेखकों के लिए अपनी कोई पटकथा निर्मित करने, नए लेखक-निर्देशकों के लिए अपना काम सबके सामने लाने, और किसी ऐसी लम्बी परियोजना के लिए प्रूफ-ऑफ़-कांसेप्ट के रूप में पेश करने का बहुत अच्छा तरीका है, जिसे आप बनाना चाहते हैं। शॉर्ट फ़िल्मों को फ़िल्म समारोहों, विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफॉर्मों, और यहाँ तक कि स्ट्रीमिंग सेवाओं पर भी प्रस्तुत किया जा सकता है और उन्हें दर्शक मिल सकते हैं। पटकथा लेखक अक्सर पटकथा लेखन सीखने के लिए शॉर्ट फ़िल्में लिखने और उसके बाद उन्हें निर्मित करने के साथ शुरुआत करते हैं। अब आपके पास अपनी शॉर्ट फ़िल्म को दुनिया के सामने लाने के पहले से कहीं ज़्यादा अवसर हैं...

पाएं रचना के लिए भुगतान

रचना के लिए भुगतान कैसे पाएं

सच्चाई: अगर आप रचनाकार के रूप में पैसे कमाना चाहते हैं तो आपको अपना दायां और बायां दोनों दिमाग इस्तेमाल करना होगा। उफ़, जानती हूँ, जानती हूँ। अगर आप उन रचनात्मक लोगों में से हैं जो जोड़-घटाना (बताइये मुझे, मैं ऐसी अकेली नहीं हूँ!) या कुछ भी टेक्निकल (जैसे, अपनी वेबसाइट बनाना? ओह, नहीं) करने के बजाय, अपने स्वतंत्र रचनात्मक करियर के लक्ष्य को छोड़ना ज़्यादा पसंद करेंगे तो मेरे पास आपके लिए एक अच्छी खबर है। अगर आप अपनी रचनात्मक स्वतंत्रता और पैसे पाने की चाह रखते हैं तो आपको अपनी कला के लिए भुगतान मिल सकता है – उसके लिए आपको थोड़े से धैर्य, व्यावसायिक कौशल, और थोड़ी-बहुत गणित की ज़रूरत पड़ती है...