पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक विक्टोरिया लूसिया

पटकथा लेखक कहाँ रहते हैं: दुनिया भर में पटकथा लेखन के केंद्र

पटकथा लेखक कहाँ रहते हैं:
दुनिया भर में पटकथा लेखन के केंद्र

दुनिया भर में फ़िल्मों के प्रमुख केंद्र कौन से हैं? कई शहरों, राज्यों, और देशों में फ़िल्म उद्योग का फलता-फूलता कारोबार मौजूद है, और अब तकनीक की वजह से किसी ख़ास जगह रहे बिना पटकथा लेखक के रूप में काम करना पहले से कहीं ज़्यादा आसान हो गया है, हॉलीवुड के अलावा, उन स्थानों के बारे में जागरूक रहने में कोई हर्ज़ नहीं है जिन्हें फ़िल्म और टीवी के लिए जाना जाता है। यहाँ आपके लिए दुनिया भर में मौजूद फ़िल्म निर्माण और पटकथा लेखन के केंद्रों की सूची दी गयी है!

  • लॉस एंजेल्स

    हम सभी जानते हैं कि 100 साल से भी ज़्यादा पुरानी संरचना, बेमिसाल शिक्षा कार्यक्रमों, और बेहतरीन फ़िल्म इतिहास के साथ एलए को दुनिया की फ़िल्म राजधानी के रूप में जाना जाता है। अगर आप इस उद्योग में आना चाहते हैं तो उसके लिए यह आज भी पहले स्थान पर स्थित है। हालाँकि, तकनीक की वजह से एलए के बाहर रहने वाले लेखकों को ज़्यादा अवसर मिल रहे हैं, लेकिन अगर आपको ख़ास तौर पर टेलीविज़न के लिए लिखने में दिलचस्पी है तो आपको हॉलीवुड आने की ज़रूरत पड़ सकती है।

  • न्यूयॉर्क

    फ़िल्म निर्माण के लिए महंगी जगह होने के बावजूद, अपनी असली और सच्ची न्यूयॉर्क छवि की वजह से यह फ़िल्म का केंद्र बना हुआ है। टेलीविज़न और फ़िल्मों को समान तरीके से आकर्षित करते हुए, न्यूयॉर्क अमेरिका में फ़िल्म निर्माण का दूसरा सबसे बड़ा केंद्र है। ट्रिबेका जैसे मशहूर उत्सवों और बड़े फ़िल्म स्कूलों के साथ, न्यूयॉर्क एलए के बाहर स्थित फ़िल्मों का शानदार केंद्र है।

  • मुंबई

    बॉलीवुड का दिल। हॉलीवुड के मुक़ाबले हर साल कहीं ज़्यादा फ़िल्मों का निर्माण करने वाली, मुंबई, फ़िल्मों का बेहद व्यस्त केंद्र है। जहाँ बॉक्स ऑफिस पर कमाई के मामले में हॉलीवुड सबसे बड़ा फ़िल्म निर्माता है, वहीं बॉलीवुड फ़िल्म निर्माण और बेचे जाने वाले टिकट के मामले में सबसे बड़ा है।

  • अटलांटा, जॉर्जिया

    अटलांटा कुछ समय से फ़िल्म निर्माण के बड़े स्थान के रूप में विकसित हो रहा है और संयुक्त राज्य अमेरिका में यहाँ पर तीसरा सबसे बड़ा फिल्म निर्माण उद्योग मौजूद है। जॉर्जिया में फ़िल्म कर पर मिलने वाले प्रोत्साहनों के बारे में सबको पता है और इसे देश में सर्वश्रेष्ठ में से एक माना जाता है। अटलांटा के विशाल पाइनवुड स्टूडियोज, और हाल ही में आधिकारिक तौर पर खोले गए टायलर पेरी स्टूडियोज के साथ, अटलांटा एक ऐसी बुनियादी संरचना का निर्माण कर रहा है जो निश्चित रूप से आने वाले कल में वहां नया काम लाती रहेगी। लॉस एंजेल्स या न्यूयॉर्क के मुक़ाबले रहने के कम खर्च के साथ, यह अच्छी तरह से समझ आता है कि क्यों उद्योग के लोगों ने अपना रुख अटलांटा की ओर किया है।

  • नाइजीरिया

    अक्सर "नॉलिवुड" के नाम से पुकारे जाने वाले, नाइजीरिया का 19वीं सदी से ही एक दिलचस्प और लंबा फ़िल्म इतिहास रहा है। लोकप्रियता के मामले में तेज़ी से बढ़ता हुआ, नाइजीरिया, फिल्मकार जिनेविव नाजी का घर भी है, जिनकी फ़िल्म "लायनहार्ट" 2020 के अकादमी पुरस्कारों में फ़िल्म की प्रमुख भाषा अंग्रेज़ी होने के कारण अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म की श्रेणी से बाहर होने की वजह से थोड़ी विवादित हो गयी थी। नॉलीवुड की फ़िल्में अब नेटफ्लिक्स पर चलाई जा रही हैं, जिससे नाइजीरियन फ़िल्मों को ज़्यादा बड़े पैमाने पर दर्शकों तक पहुंचने में और फ़िल्मों के इस केंद्र के विकास में ज़रूर मदद मिलेगी।

  • टोरंटो, कनाडा

    टोरंटो तेज़ी से ज़्यादा स्टूडियो निर्माण में लगा हुआ है, और फ़िल्म निर्माण के स्थान के रूप में बहुत ज़्यादा मांग में है। कर में मिलने वाले शानदार प्रोत्साहनों की वजह से टोरंटो फ़िल्मों की शूटिंग के लिए आर्थिक रूप से आकर्षक जगह बना हुआ है, जिसकी वजह से यहाँ कई लोकप्रिय कार्यक्रमों और फ़िल्मों का निर्माण होता है। ख़ास तौर पर, अब जबकि सीबीएस टेलीविज़न स्टूडियोज ने टोरंटो में अपना नया स्टूडियो, सीबीएस स्टूडियोज कनाडा, खोल दिया है, तो "उत्तर का हॉलीवुड" बढ़ना और फलना-फूलना जारी रहेगा।

  • अल्बुकर्क, न्यू मैक्सिको

    पिछले तीन सालों में 50 से भी ज़्यादा बड़े निर्माणों को लाकर, अल्बुकर्क तेज़ी से फ़िल्म निर्माण के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले छोटे से स्थान से तीसरे सबसे बड़े विकल्प के रूप में उभरकर सामने आया है। नेटफ्लिक्स ने अपनी नयी निर्माण कंपनी के स्थान के रूप में अल्बुकर्क को चुना है, और एनबीसी यूनिवर्सल भी वहां एक स्टूडियो स्पेस खोल रहा है।

  • लंदन

    फ़िल्मों के लंबे-चौड़े इतिहास वाले एक और स्थान, लंदन, को "यूरोप के हॉलीवुड" के रूप में जाना जाता है। पाइनवुड स्टूडियोज और वॉर्नर ब्रदर्स यहीं पर स्थित है, और कई बड़ी ब्लॉकबस्टर फ़िल्में लंदन में फिल्माई गयी हैं, जिनमें नयी "स्टार वार्स" फ़िल्में, "बैटमैन वर्सेस सुपरमैन: डॉन ऑफ़ जस्टिस," और "वंडर वुमन" शामिल हैं। हालाँकि, अभी तक यह नहीं पता कि ब्रेक्सिट ब्रिटिश फ़िल्म उद्योग को किस तरह से प्रभावित करेगा, फिर भी यह अभी तक यूरोप के सबसे बड़े फ़िल्म केंद्रों में से एक के रूप में अपनी जगह पर कायम है।

  • दक्षिण कोरिया

    कोरियाई मीडिया की लोकप्रियता में वृद्धि के साथ, दुनिया भर के लोगों के बीच इसे लेकर दिलचस्पी बढ़ने की वजह से वहां के फ़िल्म और टेलीविज़न उद्योगों को भी फ़ायदा हुआ है। बोंग जून-हो की पैरासाइट जैसी प्रतिष्ठित फ़िल्में बाकी की दुनिया का ध्यान भी इसकी तरफ़ खींच रही हैं, और दक्षिण कोरिया के फ़िल्म उद्योग में अच्छा समय लाने की दिशा में काम कर रही हैं। सिनेमाघरों में घरेलू फ़िल्मों का एक अच्छा-ख़ासा प्रतिशत रखने पर सरकार के ज़ोर देने के कारण, दक्षिण कोरिया एक प्रमुख निर्माण केंद्र बन गया है।

ये दुनिया भर में मौजूद फ़िल्म निर्माण के केवल कुछ रोचक केंद्र हैं। SoCreate में, हम भी अपनी हर चीज़ को चीनी, स्पेनिश, पुर्तगाली, जर्मन, हिंदी, फ्रेंच, और जल्द ही जापानी भाषाओं में अनुवादित करते हैं ताकि हम दुनिया भर में मौजूद लेखकों को संसाधन प्रदान कर सकें! जैसा कि मैंने पहले ही कहा है, तकनीक की वजह से पटकथा लेखक एक ऐसी स्थिति में पहुंच गए हैं जहाँ वो किसी विशेष जगह पर रहे बिना ही कहीं से भी अपना काम कर सकते हैं। अगर हम इस तरह से सोचें तो इंटरनेट हमारे सबसे बड़े फ़िल्म निर्माण केंद्रों में से एक बन गया है। आप जहाँ रहते हैं वहां से बाहर संपर्क और संबंध बनाने के लिए ऑनलाइन नेटवर्किंग बहुत बढ़िया तरीका है। तो, जब आप अपने ट्विटर पर जाएँ, तो फ़िल्म कारोबार में मौजूद किसी ऐसे व्यक्ति से संपर्क करने से न डरें जिसे आप पसंद करते हैं, क्या पता बस इतने से काम से आप कहाँ से कहाँ पहुंच जाएँ! मैं @VICTORIANLUCIA हैंडल से ट्विटर पर मौजूद हूँ।

नेटवर्किंग करते रहें और लिखते रहें!

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

केवल यह महत्वपूर्ण है कि आप किसे जानते हैं: लेखक सहायक नेटवर्क

हॉलीवुड में, वास्तव में केवल यह महत्वपूर्ण है कि आप किसे जानते हैं! पटकथा लेखक, ब्रैंडन तनोरी, ने लेखक सहायक नेटवर्क के माध्यम से नए लेखकों के करियर को आगे बढ़ाने में सहायता करने को अपना लक्ष्य बना लिया है। हमारे पिछले ब्लॉग पोस्ट में, हमने आपको पटकथा लेखक और लेखक सहायक नेटवर्क के संस्थापक , ब्रैंडन तनोरी, के बारे में बताया। यदि आपको ब्रैंडन और हॉलीवुड में उनके सफर के बारे में पढ़ने का मौका नहीं मिला तो कृपया इसे यहाँ देखें! लेकिन आज, हम उस शानदार नेटवर्किंग समूह के बारे में बताने वाले हैं जिसे ब्रैंडन और उनकी टीम ने पिछले चार वर्षों के दौरान बनाया है - लेखक सहायक नेटवर्क। 2014 में स्थापित किया गया लेखक सहायक नेटवर्क (WAN) प्राइमटाइम टीवी में काम करने वाले सहायक ...
एक सफेद काउंटर टॉप पर डॉलर का बिल

टीवी लेखन उद्योग में स्पष्टता और समानता लाने के लिए अनाम गूगल सर्वेक्षण के प्रयास

क्या आपने नया अनाम रूप से निर्मित गूगल सर्वेक्षण देखा जो सोशल मीडिया नेटवर्कों पर अपनी जगह बना रहा है? यदि आपको अभी तक इसे देखने का मौका नहीं मिला तो पूरे दस्तावेज़ के लिए यहाँ लिंक दिया गया है। पिछले हफ्ते की शुरुआत में हॉलीवुड के पटकथा लेखकों का अनाम सर्वेक्षण शुरू हुआ। चूँकि, इसे मंगलवार, 23 जनवरी को इंटरनेट पर प्रकाशित किया गया था, इसलिए इसे सैकड़ों प्रतिक्रियाएं प्राप्त हुई हैं। प्रतिक्रिया देने वालों में नए से लेकर अनुभवी लेखकों तक, निर्माता, और विभिन्न स्टूडियो, नेटवर्कों के निर्देशक, और टीवी कर्मचारी, लेखन कर्मचारी, समन्वयक, और सहायक जैसे पदों पर काम करने वाले लोग शामिल हैं। यह सर्वेक्षण मनोरंजन उद्योग में "वेतन के कुछ रहस्यों" को उजागर करने में सहायता करता है, और नए एवं स्थापित ...
How Do Screenwriters Network? Take This Advice from Filmmaker Leon Chambers

पटकथा लेखक नेटवर्क कैसे बनाते हैं? फिल्म निर्माता लीओन चैम्बर्स से यह सलाह लें

नेटवर्किंग। यह अकेला शब्द ही मुझे सिकुड़कर अपने पास मौजूद पर्दे या झाड़ियों में छिपने पर मजबूर कर देता है। मेरे पुराने दिनों में, मेरा करियर इसपर निर्भर था। और पता है क्या? चाहे मैं कितनी बार भी "नेटवर्क" करती थी, यह कभी भी मेरे लिए आसान नहीं हुआ। यह हमेशा अजीब, मजबूरी भरा, और बेहतर चर्चा के बिना, नकली होता था। मैं हम सभी के लिए नहीं बोल सकती, लेकिन मैं इतना शर्त जरूर लगा सकती हूँ कि बहुत सारे लेखकों की स्थिति भी ऐसी ही होगी। ऐसा तब तक था जब तक कि मैंने भावुक फिल्म निर्माता लीओन चैम्बर्स की नीचे दी गयी सलाह जैसी एक सलाह नहीं सुनी, इसके बाद नेटवर्किंग परिस्थितियों में मेरा दबाव कम होना शुरू हुआ। मैंने सीखा कि मुझे खुद को बेचने की जरूरत नहीं थी; मुझे बस वैसी ही रहना था जैसी मैं ...

टिप्पणियां