पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

पटकथा लेखिका एश्ली स्टॉर्मो के साथ, पटकथा की सबसे अच्छी रूपरेखा के 18 चरण

हम यह दिखाने के लिए महत्वाकांक्षी लेखिका एश्ली स्टॉर्मो के साथ एकजुट हुए हैं कि पटकथा लेखन के सपने असली दुनिया में कैसे लगते हैं। इस हफ़्ते, वो रूपरेखा बनाने की प्रक्रिया, और उन 18 चरणों के बारे में बताने वाली हैं जिनकी मदद से आप पटकथा लिखना शुरू करने से पहले अपनी कहानी की योजना बना सकते हैं।

"हैलो दोस्तों! मेरा नाम एश्ली स्टॉर्मो है, और SoCreate के साथ मिलकर मैं आपको दिखाने वाली हूँ कि एक महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका के रूप में मेरी ज़िन्दगी कैसी है, और आज मैं आपको बताऊंगी कि मैं किसी पटकथा के लिए रूपरेखा कैसे तैयार करती हूँ। समय के साथ मुझे इस बात का एहसास हुआ कि कहानी कहने में मेरे साथ जो समस्या आती है वो यह कि मैं लिखती रहती हूँ, और लिखते-लिखते ही मैं अपने अंत की तलाश करती रहती हूँ। फिर मुझे यह किताब मिली, "द एनाटॉमी ऑफ़ स्टोरी: 22 स्टेप्स टू बिकमिंग अ मास्टर स्टोरीटेलर," जिसे जॉन ट्रूबी ने लिखा है।

मैं यहाँ उन सभी 22 चरणों के बारे में नहीं बताने वाली क्योंकि वो यह पहले ही बता चुके हैं, और उन्होंने इसे बहुत अच्छे से बताया है। (आप उन चरणों का PDF यहाँ डाउनलोड कर सकते हैं।) आपको यह किताब ज़रुर पढ़नी चाहिए। लेकिन, मैं अपनी रूपरेखा कैसे बनाती हूँ, और उससे मुझे अपनी पटकथा को मनचाही दिशा देने की योजना बनाने में कैसे मदद मिलती है यह बताने के लिए, मैं यहाँ उन उपायों को शामिल करुँगी जिन्हें मैंने इस किताब से सीखा है और साथ ही कुछ ऐसे उपाय भी बताऊंगी जिन्हें मैंने पटकथा लेखन के पाठ्यक्रमों के दौरान कॉलेज में सीखा था।

यह रूपरेखा सवालों के रूप में एक सूची है। अगर आप अरेखीय कहानी लिख रहे हैं तो आप इसे दोबारा व्यवस्थित कर सकते हैं। आप एक ग्राफ बना सकते हैं। अगर आप दृश्यात्मक हैं तो आप इन सभी चरणों को ले सकते हैं और इसके बाद इसे एक टाइमलाइन पर व्यवस्थित कर सकते हैं। मूल रूप से, मैं आपको बस वो टूल्स दे रही हूँ, जिन्हें आप अपनी सुविधा के अनुसार अपनी मनचाही प्रक्रिया के अनुरूप बना सकते हैं।"

  1. अपने लिए एक सवाल लिखें

    ठीक है तो पहले चरण में आप अपने लिए एक सवाल लिखते हैं। यह कुछ ऐसा हो सकता है कि, "अगर मैं A फ़िल्म का कथानक लेकर, इसे B फ़िल्म के एक बिल्कुल अलग कथानक के साथ मिला दूँ तो क्या होगा?" नयी पटकथा, नयी कहानी में वो कैसा लगेगा? या, अभी मैं जिस पटकथा पर काम कर रही हूँ, उसके लिए मैंने अपने आपसे सवाल किया था कि, "मुझे किस चीज़ से डर लगता है?" और अपने लिए आपने जो भी सवाल रखा है उसका जवाब एक से तीन वाक्यों में देने की कोशिश करें। यह तेज़ होना चाहिए। अगर आपको फ़िल्म के लिए कोई आईडिया समझ नहीं आ रहा है तो यह बस आपके लिए वो आईडिया खोजने का तरीका हो सकता है।

  2. विचार-मंथन का छोटा विवरण लिखें

    कभी-कभी इसमें कुछ दिन लग जाते हैं। मैं पांच वाक्य लिखती हूँ और इसमें कुछ दिन इसलिए लगते हैं क्योंकि आप इससे शुरुआत करते हैं कि आपकी कहानी कैसी लगने वाली है और आप उसमें होने वाली हर एक चीज़ का संरचनात्मक तरीके से पता लगाते हैं – मेरा मुख्य किरदार कौन है, उसकी समस्या क्या है, उसके लिए यह समस्या इतनी महत्वपूर्ण क्यों है, वो इसका क्या हल निकालता है और यह कैसे ख़त्म होता है। एक बार फिर, आपको तेज़, संक्षिप्त रहना पड़ता है, क्योंकि आप इसे जल्दी से पूरा करना चाहते हैं। यह प्रक्रिया का तेज़ वाला भाग है।

  3. आधार और डिज़ाइनिंग सिद्धांत का पता लगाएं

    हम सबको पता है कि कहानी का आधार क्या होता है। डिज़ाइनिंग सिद्धांत का मतलब है कि आप बिल्कुल अलग तरीके से उस आधार तक कैसे पहुँचने वाले हैं? आप उस कहानी को दूसरों से अलग तरीके से कैसे कहने वाले हैं? और एक बार फिर, अगर आपको ये चीज़ें या इस वीडियो में मैं जो भी भाषा प्रयोग कर रही हूँ वो समझ नहीं आ रही है तो यह किताब पढ़ें या उन शब्दों को ऑनलाइन देखें जिन्हें मैं बोल रही हूँ। दूसरे संसाधन खोजने की कोशिश करें।

  4. अंत में आपके नायक को क्या मिलेगा?

    आपने ध्यान दिया होगा कि मैं आपकी पटकथा की रूपरेखा तैयार करने की शुरुआत में ही आपसे यह सवाल पूछ रही हूँ, क्योंकि मैं आपको उस गड्ढे में गिरते हुए नहीं देखना चाहती जिसके बारे में मैंने बताया था, जिसमें मैं हमेशा गिरती हूँ जहाँ मुझे यह पता ही नहीं होता कि अंत में मेरे नायक को क्या मिला। तो, पता करें कि अंत में आपका नायक क्या सीखने वाला है।

  5. शुरुआत में आपका किरदार किस चीज़ पर भरोसा करता है?

    शुरुआत में वो क्या जानता है? उसे किस चीज़ पर भरोसा है? और इसके बाद, अंत में वो अलग होना चाहिए और आपके चरित्र में साफ तौर पर बदलाव दिखाई देना चाहिए।

  6. आपके किरदार की असली कमजोरी क्या है?

    इस कमजोरी को दूर करने के लिए उसे किस चीज़ की ज़रुरत है? उदाहरण के लिए, इस किताब के पेज नंबर 40 पर, अगर आपने "टूटसी" फ़िल्म देखी है तो आपको पता होगा कि माइकल की कमजोरी यह है कि वह घमंडी, मतलबी, और झूठा है। और उसे महिलाओं के प्रति अपने इस घमंड को दूर करने और वो जो चाहता है उसे पाने के लिए झूठ बोलना और महिलाओं का इस्तेमाल करना बंद करने की ज़रुरत होती है। तो, कमजोरी और ज़रुरत। मैं यहाँ विशेष रूप से एक टिप्पणी शामिल करना पसंद करती हूँ कि आपके किरदार को इस कमजोरी को दूर करने में परेशानी क्यों हो रही है। अगर आपने इसके बारे में सोच रखा है तो आप पूरी कहानी में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

  7. उकसाने वाली घटना क्या है?

    उकसाने वाली घटना क्या है जो आपकी कहानी को आगे बढ़ाती है? वो कौन सी चीज़ है जिसकी वजह से सबकुछ होता है?

  8. आपका किरदार क्या चाहता है?

    “सेविंग प्राइवेट रायन" के उदाहरण के लिए मैं पेज नंबर 44 पर जा रही हूँ। ज़रुरत : यहाँ नायक जॉन मिलर को अपने डर के बावजूद अपना कर्तव्य निभाने की ज़रुरत है। और वो प्राइवेट रायन को खोजकर उसे ज़िंदा वापस लाना चाहता है। ये सभी बहुत आसान चरण हैं। ये सभी बस कुछ आसान से सवाल हैं जिनका आप जवाब दे रहे हैं। लेकिन कहानी कहने की प्रक्रिया में जाने से पहले आपके लिए इन्हें जानना ज़रुरी है।

  9. आपके किरदार का विरोधी कौन है?

    यहाँ सबसे ज़रुरी चीज़ यह होती है कि आपको इस बात का ध्यान रखना पड़ता है कि आपके विरोधी का कोई उद्देश्य होना चाहिए, तो यह बस कोई ऐसा किरदार नहीं होना चाहिए जो हमें बिल्कुल पसंद नहीं है। यह वो किरदार है जो कहानी को आगे बढ़ाता है और इसका एक काम है।

  10. पहला खुलासा/नयी जानकारी

    आप अपने किरदार को एक नयी जानकारी देना चाहते हैं। इस नयी जानकारी की वजह से उसे अपनी कार्यवाही बदलनी चाहिए। तो, वो पहले कोई और कार्यवाही करने वाला था। और बाद में, इस जानकारी की वजह से, उसकी दिशा बदल जाती है, हालाँकि उसका लक्ष्य अभी भी वही है।

  11. योजना/विरोधी को हराएं

    उन घटनाओं की एक सूची बनाएं, जिनसे गुजरते हुए आपका किरदार विरोधी को हराने की कोशिश करने वाला है। यह बड़ी सूची हो सकती है, और इसे ही ट्रूबी "प्रेरणा" के रूप में बताते हैं। "प्रेरणा" के दौरान, जिन गतिविधियों से वो गुजर रहा होता है, वो कुछ अनैतिक फ़ैसले करना शुरू कर सकता है, और उस समय उसके साथ कुछ ऐसा होगा जिसे ट्रूबी साथी के हमले के रूप में बताते हैं। तो, उसका साथी उससे सवाल करेगा कि तुम ऐसा काम क्यों कर रहे हो, तुम वो नहीं हो, तुम ऐसे नहीं हो, तुम यह गलत कर रहे हो। और इससे आपको अपने किरदार को आगे लाने में मदद मिलेगी, और इससे आपको यह विकसित करने में मदद मिलेगी कि आपके चरित्र में यह परिवर्तन क्यों हो रहा है। इसमें मूल रूप से ऐसा होता है कि उसका साथी उसे बताता है कि उसका लक्ष्य अभी भी सही है, लेकिन वो जिस तरीके से अपना लक्ष्य पाने की कोशिश कर रहा है, वो तरीका गलत है।

  12. दूसरा खुलासा + जुनूनी प्रेरणा

    आपकी कहानी में एक दूसरा खुलासा होगा जहाँ एक नयी जानकारी मिलती है, किरदार एक फ़ैसला करता है, और इसके बाद उसके अंदर एक जुनूनी प्रेरणा उत्पन्न होती है। तो, जिस प्रेरणा के बारे में हमने बात की थी, यानी जो चीज़ें वो करते हैं, वो अब और भी ज़्यादा गुस्से से भरी हुई और जुनूनी होंगी। तो, मूल रूप से, यहाँ से कथानक थोड़ा और उग्र और तेज़ होना शुरू होता है। जोखिम बढ़ता है। और यह सही भी है, क्योंकि अगर आपने वो कथानक त्रिकोण वाली चीज़ देखी है जिसे सब बनाते हैं तो यह उसके अनुसार सही जा रहा है।

  13. दर्शकों के लिए खुलासा

    आपके दर्शकों के सामने वो खुलासा होता है, जो किरदारों के लिए नहीं होता। तो, दर्शकों के लिए खुलासा तब होता है जब आप अपने दर्शकों को एक ऐसी छोटी सी जानकारी देते हैं जिसके बारे में आपके मुख्य किरदार को नहीं पता होगा। और इससे आपके मन में उसके लिए सहानुभूति आएगी, या फिर इसकी वजह से आपके मन में डर उत्पन्न होगा कि अब इस किरदार के साथ क्या होगा क्योंकि उसे यह महत्वपूर्ण जानकारी पता ही नहीं है।

  14. तीसरा खुलासा, बदली हुई इच्छा, बदला हुआ उद्देश्य

    मैंने पाया है कि कभी-कभी आपको तीसरे खुलासे की ज़रुरत नहीं होती, लेकिन कभी-कभी होती है।

  15. लड़ाई

    आपकी कहानी में एक लड़ाई होगी, चाहे यह असली लड़ाई हो या बस क्लाइमेक्स, जहाँ आपकी कहानी का विषय बाहर आना चाहिए।

  16. आपके किरदार का अपने लिए खुलासा

    अपना लक्ष्य हासिल करने की कोशिश में की जाने वाली सभी गतिविधियों की वजह से आपके किरदार में क्या बदलाव आने वाला है, क्योंकि एक बार फिर से, कहानी का उद्देश्य होता है, किसी व्यक्ति में बदलाव देखना।

  17. नैतिक फ़ैसला

    इसके बाद एक नैतिक फ़ैसला होगा। वो A राह पर जायेगा या B राह पर, और इस नैतिक फ़ैसले से साबित होता है कि किरदार में बदलाव हुआ है, चाहे यह अच्छा हो या बुरा। यह इसपर निर्भर करता है कि आप किस तरह की कहानी लिख रहे हैं।

  18. नयी साम्यावस्था

    इस किताब के पेज नंबर 304 पर मेरे पास आपके लिए एक उदाहरण है। नयी साम्यावस्था में, इच्छा और ज़रुरत पूरी होने, या दुखद रूप से अधूरी रह जाने के बाद, सबकुछ वापस से सामान्य हो जाता है। लेकिन, यहाँ एक बड़ा अंतर होता है। अपने ख़ुद के खुलासे के कारण, नायक या तो पहले से ज़्यादा ऊँचे स्तर पर होता है या फिर नीचे स्तर पर चला जाता है।

"मैं बहुत विज़ुअल इंसान हूँ, और मैंने यह रूपरेखा बनाई जहाँ मैंने जॉन ट्रूबी के इन सभी सवालों का जवाब दिया। लेकिन, फिर भी इसकी योजना बनाने के लिए मुझे एक दिखाई देने वाली चीज़ की ज़रुरत थी। इसलिए, मैंने एक त्रिकोणीय ग्राफ बनाया जिसे आप हर समय देखते हैं। और मैंने उन जगहों पर निशान लगाया है जहाँ ये सारे चरण होते हैं। जैसा कि मैंने आपको SoCreate के दूसरे वीडियो में पहले ही बताया है, मैं अभी नयी हूँ, और क्या पता मैं जो बोल रही हूँ वो बिल्कुल सही है या नहीं, लेकिन यह मेरी पटकथाओं के लिए बहुत अच्छे से काम करता है।"

तीन अंक वाली संरचना का ग्राफ

"मुझे बताएं कि आप किसी पटकथा की रूपरेखा कैसे बनाते हैं। क्या यह ज़्यादा आसान है? क्या यह मेरे बताये गए तरीके से थोड़ा ज़्यादा बेहतर है? क्या मेरे रूपरेखा बनाने के तरीके में आपको कोई समस्या दिखाई देती है? क्या आपके पास मेरे लिए कोई उपाय है? कृपया नीचे कमेंट्स में इसके बारे में हमें बताएं।

SoCreate को इसके सभी चैनलों पर फॉलो करना न भूलें। उनके पास पेशेवरों के भी काफ़ी मूल्यवान टूल्स मौजूद हैं, जबकि मैं बस एक नौसिखिया हूँ, इसलिए उन्हें देखना न भूलें। विडियो देखने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!"

एश्ली स्टॉर्मो, महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

Ashlee Stormo: A Day in the Life of An Aspiring Screenwriter

एश्ली स्टॉर्मो: एक महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका की ज़िंदगी का एक दिन

हैलो, पटकथा लेखकों! एश्ली स्टॉर्मो एक महत्वाकांक्षी पटकथा लेखिका हैं, और वो अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी को रिकॉर्ड करके हमारे साथ शेयर करने वाली हैं। आप उनसे कुछ सीख सकते हैं, या शायद पटकथा लेखन में नया संपर्क बना सकते हैं! जो भी हो, हमें उम्मीद है कि अगले कुछ महीनों के दौरान उनके साप्ताहिक सीरीज़ से आपको कुछ सीखने का मौका मिलेगा। आप @AshleeStormo पर उनसे इंस्टाग्राम या ट्विटर के माध्यम से जुड़ सकते हैं, और आप हमारे यूट्यूब चैनल पर "महत्वाकांक्षी लेखिका की ज़िन्दगी का एक दिन" पर जाकर उनकी पूरी सीरीज़ भी देख सकते हैं। "आज मैं आपको दिखाना चाहती थी कि दो नौकरियां करते हुए भी...
Vlog #2: SoCreate 90-Day Screenplay Challenge with Zachary Rowell

Week 1 of Zachary Rowell’s 90-Day Screenplay Challenge: Character Descriptions, Comedy vs. Drama, and Title Suggestions

Zachary Rowell is now a full week into his 90-Day Screenplay Challenge as the winner of SoCreate’s “So Write Your Bills Away” Sweepstakes. We’ve promised to pay his bills through December if he promises to write! And guess what? He’s ahead of schedule. Zachary needs to finish a minimum of 30 pages per month as part of the challenge. In week one, he’s completed 20 pages already. But, now comes the tough part. Watch Zachary’s weekly vlog below to learn more about what he thinks he’ll struggle with over the next couple of weeks, why writing funny dialogue doesn’t always have to be funny, and...

टिप्पणियां