पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

महत्वाकांक्षी लेखक के रूप में काम और जीवन में सही संतुलन कैसे बैठाएं

मुझे लोगों से काम और जीवन के संतुलन के बारे में बात करना अच्छा लगता है। सच कहूं तो मेरे वर्तमान काम और जीवन की परिस्थिति बहुत सरल है। लेकिन, मैंने इसे ऐसा बनाया है। पहले मैं बहुत ज़्यादा काम करती थी, तनाव में रहती थी, अक्सर चिड़चिड़ी हो जाती थी, और मुझे अपनी पसंद की चीज़ें करने के लिए भी बहुत कम समय मिलता था। मैं हमेशा "व्यस्त" रहती थी, लेकिन बहुत कम उत्पादक हो पाती थी, और अपने ज़्यादातर दिनों में मुझे अधूरापन महसूस होता था।

अब, लेखक एक विशेष नस्ल के लोग होते हैं। आपमें से ज़्यादातर लोग फुल-टाइम नौकरियां करते हैं, या कुछ लोग फ्रीलांस काम करते हैं, जहाँ आप आठ घंटे तक पहले ही किसी और की परियोजना के लिए लिख रहे होते हैं या कुछ ऐसा कर रहे होते हैं जो आपके अंदर की सारी प्रेरणा बाहर निकाल लेती है। इसके बाद, आप अपने घर आकर अपने थोड़े समय में अपनी ख़ुद की परियोजना पर काम करते हैं। कुछ लोग ये कर पाते हैं, वहीं कुछ को इसमें बहुत मुश्किल आती है। ऊपर से बच्चे, जीवनसाथी, दोस्त और दूसरी प्रतिबद्धताएं भी होती हैं, जिसकी वजह से कुछ अच्छा लिखने का मुश्किल काम और भी ज़्यादा मुश्किल हो जाता है। आप। अकेले। नहीं। हैं। और, इसमें आपकी कोई गलती नहीं है।

लेकिन, अपनी कोशिशों से आप इस बुरे चक्र को बदल सकते हैं।

हमने पटकथा लेखक और पत्रकार ब्रायन यंग (HowStuffWorks.com, ScyFy.com, StarWars.com) से पूछा कि वो इतना उत्पादक और प्रेरित कैसे रह लेते हैं। उन्होंने कहा, इसके लिए अनुशासन और समय की योजना बनाना बहुत ज़रुरी है, और मैं उनकी इस बात से सहमत हूँ।

"लेखक होने के नाते, मैं अपने लिखने का काम सुबह के समय पूरा करके अपने काम और जीवन में संतुलन बनाये रखने की कोशिश करता हूँ। मेरा मतलब है, मैं 9:30 के आसपास सोने जाता हूँ," उन्होंने हमें बताया।

उन्होंने आगे कहा कि चाहे कुछ हो जाए वो हर रोज़ लिखते हैं। हमने यह पहले भी सुना है, लेकिन यहाँ पर ब्रायन की सलाह थोड़ी अलग है: अगर किसी दिन उनका लिखने का मन नहीं होता, तो भी वो अपनी दिनचर्या बनाये रखते हैं, और लिखने से संबंधित किसी चीज़ पर काम करते हैं – चाहे यह लिखने की दिनचर्या को अपडेट करना हो, शोध करना हो, फ़ोन कॉल करने हो, पूछताछ लिखने हों, या फिर पॉडकास्ट सुनना हो।

"और इस तरह, मैं अपना काम सुबह कर सकता हूँ, और इसके बाद जब मैं अपने परिवार और बच्चों के साथ समय बिताने के लिए घर आता हूँ या अगर मुझे अपने दोस्तों या अपनी पत्नी के साथ बाहर कहीं घूमने जाना होता है तो मैं वो आराम से कर सकता हूँ।"

अगर उनके अंदर लिखने की प्रेरणा नहीं आती तो वो अपने ऊपर अपराधबोध हावी नहीं होने देते। लेकिन ऐसा भी नहीं है कि वो खाली बैठ जाते हैं।

"सुबह जल्दी उठने और 9 या 10 बजे के आसपास अपना लिखने का ज़्यादातर काम पूरा करने के बारे में मेरे लिए सबसे अच्छी चीज़ ये है कि उसके बाद मेरे पास पूरा दिन रहता है, और उस समय में मैं वो सब कर सकता हूँ जो मुझे करने की ज़रुरत है।"

दिनचर्या बनाना बहुत ज़रुरी है, लेकिन जहाँ आप नियमित रूप से अपना समय बिताते हैं, उसका ध्यान रखने से भी आपको अपने रचनात्मक कामों और दूसरी ज़िम्मेदारियों के बीच संतुलन बनाये रखने में मदद मिल सकती है।

काम और जीवन में संतुलन हासिल करने के दूसरे उपाय?

  • लिखने को काम की श्रेणी में रखने के बजाय "जीवन" की श्रेणी में रखें। हालाँकि, लिखने के सभी हिस्से बहुत आनंददायक नहीं होते, लेकिन फिर भी पैसों से संबंधित लक्ष्य को ध्यान में रखे बिना केवल अपनी ख़ुशी के लिए लिखने की कोशिश करें। इसलिए लिखें क्योंकि आपको यह पसंद है।

  • हदें तय करें ताकि आप काम को काम पर छोड़ सकें और बिना किसी भटकाव के पूरी तरह से अपने रचनात्मक लक्ष्यों पर ध्यान दे पाएं। ख़ुद के लिए और अपने परिवार के सदस्यों के लिए भी सीमाएं तय करें। भले ही यह दिन में बस 20 मिनट ही क्यों न हो, लेकिन अगर आप ख़ुद के लिए और अपने लक्ष्यों के लिए थोड़ा समय निकाल पाते हैं तो आपको ज़्यादा संतुलन का अनुभव होगा।

  • अपना ख्याल रखें। अच्छा महसूस करने पर स्पष्टता खोजना, ऊर्जा पाना, दिनचर्या पर टिके रहना, और प्रेरित रहना कहीं ज़्यादा आसान होता है।

अगर आपको अपना अनुशासन सुधारने की ज़रुरत है (जो हम सबको होती है!) तो अनुशासित पटकथा लेखक बनने के बारे में दिए गए अपने साक्षात्कार में ब्रायन के पास उसके लिए भी कुछ बहुत अच्छे उपाय हैं।

और जहाँ तक दिनचर्या बनाने की बात है तो लिखने की दिनचर्या बनाने और काम की मुश्किल दिनचर्या को संतुलित करने में पटकथा लेखिका एश्ली स्टॉर्मो का कोई जवाब नहीं

इन सभी उपायों के साथ, मुझे उम्मीद है, आपको अपनी अगली शानदार पटकथा लिखने के लिए भरपूर समय और ऊर्जा पाने में मदद मिलेगी।

कड़ी मेहनत से नहीं, बल्कि बुद्धिमानी से काम करें।

टिप्पणियां