पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

दिग्गज टीवी लेखक रॉस ब्राउन पटकथा लेखकों को यह मुफ़्त व्यावसायिक सलाह देते हैं

एक ऐसे इंसान की सलाह लें जिसने आज तक के कुछ सबसे सफल टेलीविज़न कार्यक्रम लिखे हैं: शो बिज़नेस में सफल होने के केवल कुछ अचूक तरीके हैं और वहीं असफल होने के अनगिनत तरीके हैं। आपके लिए अच्छी बात यह है कि दिग्गज टीवी लेखक रॉस ब्राउन पटकथा लेखन के व्यवसाय के अपने राज़ बताने के लिए तैयार हैं। दरअसल, वो सांता बारबरा में स्थित एंटिऑक विश्वविद्यालय में अपने छात्रों को लगभग हर रोज़ इसके बारे में बताते हैं, जहाँ वह लेखन और समकालीन मीडिया के लिए एमएफए कार्यक्रम के कार्यक्रम निदेशक हैं।

आपको टीवी के हिट कार्यक्रमों पर दिए जाने वाले लेखन और निर्माण के क्रेडिट्स से रॉस का नाम जाना-पहचाना सा लग रहा होगा, जिनमें "द कॉस्बी शो," "द फैक्ट्स ऑफ़ लाइफ," "हूज़ द बॉस?" और "स्टेप बाई स्टेप" शामिल हैं। हालाँकि, इन दिनों वो नए लेखकों को पढ़ाने में जुटे हैं, ताकि उन्हें सफल होने में मदद मिल सके।

"पटकथा लेखक के रूप में शुरुआत करने और उद्योग में प्रवेश करने के व्यावसायिक दृष्टिकोण के संबंध में, मुझे लगता है आपको ख़ुद को एक पेशेवर के रूप में लेकर चलना चाहिए। अपने पास एक कार्ड रखें जो आपको उस रूप में पेश करता है। अपनी एक वेबसाइट रखें।"

दिग्गज टीवी लेखक रॉस ब्राउन

लेकिन ख़ास तौर पर अगर आप एक पटकथा लेखक बनना चाहते हैं तो आपको कुछ और चीज़ें करने की ज़रूरत पड़ेगी जो आपकी सफलता के रास्ते में मील का पत्थर साबित हो सकती हैं, उन्होंने कहा।

"सच कहूँ तो मुझे ऐसा लगता है कि नए लेखकों के लिए अपनी कोई शॉर्ट फ़िल्म बनाने के बारे में सोचना बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है। लोगों को विडियो दिखाना उन्हें कुछ पढ़वाने से ज़्यादा आसान होता है।"

और फ़िल्मांकन का यही एक फ़ायदा नहीं है।

"आपने जो लिखा है उसे शूट करने का दूसरा फ़ायदा यह है कि जब आप अपने शब्दों को अभिनय में बदलते हुए देखना शुरू करते हैं तो उससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलता है," उन्होंने कहा।

"पटकथा लेखन इसी बारे में है कि उन शब्दों को किस तरीके से तस्वीर में क़ैद किया जाएगा और प्रदर्शित किया जायेगा। जब आप उन लंबे संवादों को देखना शुरू करते हैं जो आपको बहुत शानदार लगे थे और जब आप एडिटिंग रूम में इसे चलते हुए देखते हैं तो आपको ऐसा लगता है कि हे भगवान! क्या कोई ऐसा है जो इस भाषण को काटकर छोटा कर सकता है?! आपको अपने संवादों को चुस्त बनाने का सिद्धांत तेज़ी से समझ आने लगता है।"

रॉस ब्राउन और दूसरे दिग्गज टीवी और फ़िल्म लेखकों के और अधिक वीडियो देखने के लिए, SoCreate के यूट्यूब चैनल पर सब्सक्राइब करना न भूलें। और अगर आप रॉस की सलाह मानते हैं, तो शायद हम वहां आपकी फ़िल्म परियोजना भी देख सकते हैं!

अब अपने कैमरे से धूल हटाने का समय आ गया है,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

A Screenwriter's Guide to Character Development from Disney Writer Ricky Roxburgh

चरित्र के विकास के लिए डिज्नी लेखक रिकी रॉक्सबर्ग का मार्गदर्शन

मेरी राय में, जहाँ तक कहानी कहने की बात आती है, ऐसी बहुत सारी चीज़ें हैं जो डिज्नी बहुत अच्छे से करता है, और बहुत कम ही लोग इस बात से असहमत होंगे कि उनमें से एक चरित्र का विकास नहीं है। यही कारण है कि बच्चों और मेरे जैसे बड़ों का ओलाफ, राजकुमारी टियाना, लिलो और स्टिच, मोआना, इत्यादि जैसे चरित्रों से मन नहीं भरता। इसलिए, हमें नहीं लगता कि रिकी रॉक्सबर्ग के अलावा कोई भी हमें इस उद्योग में डिज्नी के उपायों के बारे में ज़्यादा अच्छी तरह से सीखा सकता है, जो "टैंगल्ड द सीरीज़," "बिग हीरो 6 द सीरीज़", "मॉन्स्टर्स एट वर्क" , "मिकी शॉर्ट्स" इत्यादि सहित वॉल्ट डिज्नी एनीमेशन स्टूडियो...
3 Serious Mistakes Screenwriters Can Make, According to the Hilarious Monica Piper

मज़ेदार मोनिका पाइपर के अनुसार, वो 3 गंभीर गलतियां जो पटकथा लेखक कर सकते हैं

मुझे हैरानी है कि आपने मुझे एमी-विजेता लेखिका, कॉमेडियन और निर्मात्री, मोनिका पाइपर, के साथ मेरे हालिया साक्षात्कार के ज़्यादातर हिस्से में मुझे ठहाके लगाते हुए नहीं सुना, जिनका नाम आपने "रोज़ीन," "रगरैट्स," "आह! रियल मॉन्स्टर्स," और "मैड अबाउट यू" जैसे हिट कार्यक्रमों से सुना होगा। वो बहुत मज़ाकिया हैं, और उनके मज़ाक बहुत आसानी माहौल में घुलते हैं। उनके पास इसका काफ़ी अनुभव है कि मज़ेदार क्या होता है, और पटकथा लेखन करियर के बारे में कुछ गंभीर सलाह देने के लिए उन्होंने काफ़ी गलतियां भी देखी हैं। मोनिका ने अपने पूरे करियर के दौरान लेखकों को देखा है, और वो कहती हैं...
Danny Manus Describes a Perfect Screenplay Pitch Meeting

पूर्व कार्यकारी डैनी मानस पटकथा लेखकों के लिए सबसे अच्छी पिच बैठक के 2 चरण बताते हैं

पिच। आप जिस तरह के लेखक हैं उसके आधार पर, ये शब्द या तो आपको डराता है या रोमांचित करता है। लेकिन दोनों मामलों में, आपको अपनी घबराहट या रोमांच को शांत करने की ज़रूरत होगी ताकि आप उन लोगों को अपनी बात समझा सकें जिनके पास आपकी पटकथा का निर्माण करने का सामर्थ्य है। डैनी मानस भी उन्हीं लोगों में से एक हुआ करते थे। लेकिन अब, इस पूर्व विकास कार्यकारी ने अपने अनुभव को नए लेखकों के लिए सफल कोचिंग करियर के रूप में बदल दिया है, जिसे नो बुलस्क्रिप्ट कंसल्टिंग के नाम से जाना जाता है। उन्होंने सर्वश्रेष्ठ पिच बैठक के बारे में बहुत स्पष्ट तरीके से बताया है, भले ही, वो यह कहते हैं...

टिप्पणियां