पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक कर्टनी मेजरनिच

3 का नियम, साथ ही आपकी पटकथा में चरित्र के विकास के लिए और ज़्यादा उपाय

पटकथा में चरित्रों के विकास के लिए सभी मार्गदर्शकों में से पटकथा लेखक, ब्रायन यंग, से मैंने इन दो उपायों के बारे में कभी नहीं सुना था। ब्रायन एक पुरस्कार विजेता कहानीकार हैं, जो फ़िल्मों, पॉडकास्ट, किताबों और StarWars.com, Scyfy.com, HowStuffWorks.com, आदि पर पोस्ट लिखने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने अपने समय में बहुत कुछ पढ़ा और लिखा है, इसलिए कहानी कहने की कला के फॉर्मूले की बात आने पर उन्होंने यह पता लगा लिया है कि उनके लिए कौन सी चीज़ कारगर साबित होती है। उनके चरित्र विकास के उपायों पर ध्यानपूर्वक विचार करके देखें कि वो आपके काम के हैं या नहीं!

1. 3 का नियम

तीन का नियम केवल कहानी कहने की कला में ही नहीं, बल्कि कई जगहों पर मौजूद होता है। सामान्य तौर पर, यह नियम कहता है कि तीन तत्वों का इस्तेमाल – चाहे यह चरित्र हो या घटनाएं – दर्शकों के लिए समझना और याद रखना ज़्यादा आसान बनाता है। अपनी सरलता के कारण, यह आपके आईडिया को ज़्यादा आकर्षक बनाता है और आपकी कहानी को एक लय देता है। यह इस बात का संकेत भी देता है कि आपके चरित्र के विवरण में दर्शक को क्या खोजना चाहिए।

"चरित्र के विकास में जो चीज़ सबसे महत्वपूर्ण होती है वो यह कि हमें यह दिखाने कि ज़रुरत होती है कि वो कहाँ से शुरू कर रहे हैं, और वो कैसे सीख रहे हैं, और इसके बाद वो कैसे बढ़ रहे हैं। और यह करने के लिए हमें बस तीन दृश्यों की ज़रुरत पड़ती है," ब्रायन ने कहा। "मान लीजिये, उन्हें कुत्तों से डर लगता है। पहले दृश्य में, आपको दिखाना होगा कि उन्हें कुत्तों से डर लगता है। फ़िल्म के बीच में कहीं पर, आपको यह दिखाना होगा कि वो अपने इस डर पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वो निश्चित नहीं हैं। और फिर अंत में, उन्हें कुत्ते का सामना करना होगा। वहां आपको चरित्र के विकास की एक बहुत स्पष्ट रेखा मिल जाती है क्योंकि आपने इसे पूरी कहानी के दौरान देखा है। तीन का यह नियम चरित्र का विकास करते समय सचमुच आपका साथी होता है।"

2. मरे हुए कलाकारों के लिए चरित्र लिखें

“तो, शुरुआत में जब मैंने पटकथा लेखक के रूप में काम शुरू किया था तो चरित्रों के विकास के लिए मेरा उपाय यह था कि मैं मरे हुए कलाकारों के लिए चरित्र लिखता था, तो मेरी शुरुआत की सारी पटकथाएं मूल रूप से कैरी ग्रांट के लिए लिखी गयी थीं," ब्रायन ने बताया। "और उसके बाद मैं इसे पढ़ता था, और अपने संशोधनों में, उन्हें समकालीन कलाकारों के लिए दोबारा लिखता था। पहला ड्राफ्ट कैरी ग्रांट का होगा, और उसके बाद दूसरा मैट डेमन का। और इससे चरित्र बदल जाता था, और इससे मुझे एक तरह से चीटिंग जंपस्टार्ट मिल जाता था।"

तो, शुरुआत में जब मैंने पटकथा लेखक के रूप में काम करना शुरू किया था तो चरित्रों के विकास के लिए मेरा उपाय यह था कि मैं मरे हुए कलाकारों के लिए चरित्र लिखता था, तो मेरी शुरुआत की सारी पटकथाएं मूल रूप से कैरी ग्रांट के लिए लिखी गयी थीं। और उसके बाद मैं इसे पढ़ता था, और अपने संशोधनों में, उन्हें समकालीन कलाकारों के लिए दोबारा लिखता था।
ब्रायन यंग
पटकथा लेखक और पत्रकार

मैंने उन पटकथा लेखकों के बारे में सुना है जो किसी ख़ास कलाकार को दिमाग में रखकर लिखते हैं, यहाँ तक कि वो अपनी पटकथा में चरित्र को उसी रूप में वर्णित भी करते हैं ("वो जो पेस्की-जैसा था")। लेकिन इसे दूसरे तरीके से करना पूरी तरह से खेल पलट सकता है! किसी ऐसे कलाकार को दिमाग में रखकर लिखें जो अब इस दुनिया में नहीं है, ताकि आपको यह न सोचना पड़े कि, "क्या यह कलाकार इस फ़िल्म में काम भी करना चाहेगा?" या फिर आपके दिमाग में दूसरे बेकार के ख्याल नहीं आएंगे। इसके बाद, अपनी पटकथा दोबारा लिखते समय, अपने दिमाग में मौजूद चरित्र को किसी जीवित कलाकार से बदल दें। नए कलाकार में फिट होने के लिए आपके चरित्र को कैसे विकसित होने की ज़रुरत है? क्या यह आपके चरित्र में कोई अन्य आयाम जोड़ता है और आपकी कहानी को बेहतर बनाता है?

"यह मेरा इसे करने का तरीका है, या मैं यह इन दोनों तरीकों से करता हूँ, लेकिन मुझे लगता है इनमें से कोई भी, या, दोनों पटकथा लेखक के रूप में आपके सफर में आपकी बहुत मदद कर सकते हैं," ब्रायन ने अंत में कहा।

इसे बदलें,

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

चुनें अपनी पटकथा के लिए किरदार का नाम

अपनी पटकथा के लिए किरदार का नाम कैसे चुनें

क्या किसी और के पास भी उनके नोट्स ऐप में उन नामों की लंबी फेहरिस्त मौजूद है, जिनसे आपको कुछ अलग एहसास होता है, या वो सुनने में अच्छे लगते हैं? नहीं, बस मैं ही ऐसी हूँ? मैं अपने कई किरदारों के लिए इस सूची को देखती हूँ, जिसमें मैं अपनी पसंद के नाम नियमित रूप से जोड़ती रहती हूँ। कभी-कभी, ख़ासकर मुख्य किरदार के लिए, मैं कोई ऐसा नाम चाहती हूँ जिसमें कुछ गहराई हो, और नाम चुनते समय मुझे थोड़ा ज़्यादा सोच-विचार करने की ज़रुरत पड़ती है। आज मैं आपको बताने वाली हूँ कि किसी किरदार का नाम कैसे चुना जाता है। वैसे नाम में क्या रखा है? वो कौन हैं? अपने किरदार...
Veteran TV Writer & Producer Monica Piper's Expert Tips for Developing Characters in your Screenplay

पटकथा लेखिका और निर्माता मोनिका पाइपर के साथ, चरित्रों का विकास कैसे करें

सबसे अच्छी कहानियां चरित्रों के बारे में होती हैं। वो यादगार, अनोखे होते हैं, और आप उनसे जुड़ाव महसूस करते हैं। लेकिन अपने चरित्रों को व्यक्तित्व और उद्देश्य देना उतना आसान नहीं है जितना कि लगता है। इसीलिए जब अनुभवी लेखक अपने राज़ हमारे साथ शेयर करते हैं तो हमें बहुत अच्छा लगता है, जैसे एमी विजेता लेखिका मोनिका पाइपर ने यहाँ किया है। आपने "रोज़ीन," "रुग्रेट्स," "आह! रियल मॉन्स्टर्स," और "मैड अबाउट यू," जैसे कार्यक्रमों से उनका नाम सुना होगा। उन्होंने हमें बताया कि बेहतरीन चरित्रों के लिए उनकी रेसिपी उसपर निर्भर होती है जो वो जानती हैं, और देखती हैं, एवं इसमें थोड़ा सा संघर्ष शामिल होता है...
A Screenwriter's Guide to Character Development from Disney Writer Ricky Roxburgh

चरित्र के विकास के लिए डिज्नी लेखक रिकी रॉक्सबर्ग का मार्गदर्शन

मेरी राय में, जहाँ तक कहानी कहने की बात आती है, ऐसी बहुत सारी चीज़ें हैं जो डिज्नी बहुत अच्छे से करता है, और बहुत कम ही लोग इस बात से असहमत होंगे कि उनमें से एक चरित्र का विकास नहीं है। यही कारण है कि बच्चों और मेरे जैसे बड़ों का ओलाफ, राजकुमारी टियाना, लिलो और स्टिच, मोआना, इत्यादि जैसे चरित्रों से मन नहीं भरता। इसलिए, हमें नहीं लगता कि रिकी रॉक्सबर्ग के अलावा कोई भी हमें इस उद्योग में डिज्नी के उपायों के बारे में ज़्यादा अच्छी तरह से सीखा सकता है, जो "टैंगल्ड द सीरीज़," "बिग हीरो 6 द सीरीज़", "मॉन्स्टर्स एट वर्क" , "मिकी शॉर्ट्स" इत्यादि सहित वॉल्ट डिज्नी एनीमेशन स्टूडियो...

टिप्पणियां