पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक विक्टोरिया लूसिया

पारंपरिक पटकथा में हॉरर स्क्रीनप्ले लिखने के 6 उपाय

टॉप 6 हॉरर स्क्रीनप्ले लिखने के उपाय

हॉरर! यह एक ऐसी शैली है जो अगर अच्छी हुई तो बहुत अच्छी है, लेकिन अगर गलती से यह बुरी हुई तो यह बहुत ज़्यादा बुरी हो सकती है। तो, कोई इंसान अच्छी हॉरर मूवी कैसे लिखता है? एक हॉरर लेखक को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? आपको कैसे पता चलेगा कि आपकी हॉरर कहानी किसी और के लिए डरावनी है या नहीं? अपने अंदर के स्टीफन किंग को बाहर निकालने के लिए और अपनी अगली हॉरर पटकथा लिखने में आपकी मदद करने के लिए यहाँ पर कुछ उपाय दिए गए हैं!

अपनी जगह पर बने रहें!

SoCreate पटकथा लेखन सॉफ़्टवेयर का पहले ऐक्सेस पाएं। साइन अप करनामुफ़्त है!

हॉरर शैली क्या है?

हॉरर शैली प्राचीन समय से हमारे साथ है। इस प्रकार की स्टोरीटेलिंग पहला ज्ञात उदाहरण ग्रीक पौराणिक कथाओं में पाया गया था, जहां साइक्लोप या गॉर्गोन जैसे राक्षसों की कहानियां थीं जो रात में लोगों पर हमला करते थे। ये पौराणिक कहानियां स्टीफन किंग की "इट" जैसी आधुनिक कहानियों में विकसित हुई हैं।

आपके पसंदीदा हॉरर लेखक कौन हैं?

कोई ऐसा लेखक या पटकथा लेखक खोजें जिसकी हॉरर कहानियां आपको अच्छी लगती हैं। उनकी स्टाइल में ऐसा क्या है जो आपको अच्छा लगता है, आपको डराता है, और आपको उनकी तरफ खींचता है? अगर आपके पास पहले से उनके द्वारा लिखी गई कोई किताब नहीं है, तो उन्हें अभी ख़रीदें ताकि आपके पास पढ़ने के लिए हमेशा कुछ न कुछ नया हो। आप इन लेखकों के काम पर आधारित फ़िल्में भी देख सकते हैं। उदाहरण के लिए, मुझे स्टीफन किंग के उपन्यासों पर बनी फ़िल्में देखना पसंद है क्योंकि वे अक्सर बहुत ही रहस्यपूर्ण और डरावनी होती हैं। शानदार फिक्शन रचनाओं वाले कई दूसरे लेखक भी हैं जिनमें एडगर एलन पो, एच.पी. लवक्राफ्ट, क्लाइव बार्कर, रॉबर्ट बलोच और जोनाथन मैबेरी शामिल हैं। डरवाने पटकथा लेखकों के लिए, मैं अल्फ्रेड हिचकॉक, रिचर्ड मैथेसन, डैन ओ'बैनन, वेस क्रेवेन और जॉन कारपेंटर की ओर रुख करती हूँ।

अपनी हॉरर पटकथा को दूसरों से अलग बनाने के 6 उपाय

अगर आप एक हॉरर कहानी लिख रहे हैं, तो संभावना है कि आप अकेले ऐसे नहीं होंगे। असल में, सबसे सफल हॉरर पटकथाओं में कुछ एक समान विशेषताएं होती हैं। सभी अच्छी हॉरर पटकथाओं में एक चीज़ समान होती है, वो है तनाव। तनाव चरित्रों के बीच के संघर्ष से आता है, जो हमें यह जानने पर मजबूर कर देता है कि उनके साथ क्या होता है। हम उन चरित्रों में ख़ुद को देखने लगते हैं, और हम चाहते हैं कि उन्हें सफलता मिले।

1) हॉरर पटकथा की संरचना जानें

क्या आपकी हॉरर फ़िल्म किसी हत्यारे की मूवी है? मनोवैज्ञानिक हॉरर है? राक्षस वाली मूवी है? अलौकिक हॉरर है? साइंस फिक्शन है? ऐसी दूसरी पटकथाओं के बारे में जानें। आप हॉरर शैली को जितना ज़्यादा जानेंगे, दर्शक की उम्मीदों को उतने ही अच्छे से समझ पाएंगे और उन्हें अपने फायदे के लिए इस्तेमाल का पाएंगे।

उदाहरण के लिए, "स्क्रीम" को ले लीजिये, यह केविन विलियम्सन द्वारा लिखी गयी एक हॉरर कहानी है, जो काफी हद तक एक हत्यारे की मूवी है। "स्क्रीम" एक आत्म-जागरूक फ़िल्म है, जो अपनी फ़िल्म की शैली और प्रकार को स्वीकार करती है। इसलिए, यह उन चीज़ों का मज़ाक उड़ा पाती है जो आम तौर पर हत्यारे वाली फ़िल्मों में होती हैं, या अप्रत्याशित चीज़ें करके इस शैली की ठेठ विशेषताओं को पूरी तरह बदल देती है। यह फ़िल्म ऐसा केवल इसलिए कर पाती है क्योंकि हॉरर लेखक इससे पहले आयी ऐसी फ़िल्मों से अच्छी तरह वाकिफ था।

2) आपको किस चीज़ से डर लगता है? आपकी मनपसंद हॉरर स्टोरी कौन सी है?

व्यक्तिगत अनुभव और सच्ची कहानियों के साथ काम करना हमेशा अच्छा होता है, और इसकी काफी संभावना होती है कि जिस चीज़ से आपका दिल दहलता है उससे दूसरों को भी डर लगता होगा! इसके अलावा, लोग सच्ची चीज़ें देखना पसंद करते हैं। अगर आपको बंद जगहों से डर लगता है और आप अपनी कहानी में उसे एक्स्प्लोर करते हैं तो दर्शक आपकी कहानी में समाहित किये गए असली डर को ख़ुद भी अनुभव कर सकते हैं।

यह एहसास कि नियंत्रण हमारे हाथ में नहीं है, डर का माहौल लाता है। अच्छे हॉरर लेखक केवल भयानक और चौंकाने वाली चीज़ों पर निर्भर नहीं होते, बल्कि पाठक को याद दिलाते हैं कि हमारी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी हमेशा बिखरने की कगार पर होती है।

नीचे, मैंने कुछ प्रसिद्ध हॉरर फ़िल्मों की पटकथाएं शामिल की हैं, लेकिन ऑनलाइन ऐसी और भी बहुत सारी पटकथाएं उपलब्ध हैं।

  • अ नाईटमेयर ऑन एल्म स्ट्रीट

    वेस क्रेवेन द्वारा लिखित

  • एलियंस

    जेम्स कैमरून, डेविड गिलर और वॉल्टर हिल द्वारा लिखित (डैन ओ'बैनन और रोनाल्ड शुसेट के चरित्रों पर आधारित)

  • गेट आउट

    जॉर्डन पीले द्वारा लिखित

  • आई नो व्हाट यू डीड लास्ट समर

    केविन विलियम्सन द्वारा लिखित (लोइस डंकन के एक उपन्यास पर आधारित)

  • सॉ

    लेह वाननेल और जेम्स वान द्वारा लिखित

  • द रिंग

    कोजी सुजुकी के उपन्यास के आधार पर एहरेन क्रूगर द्वारा लिखित

  • द शाइनिंग

    स्टीफन किंग के उपन्यास के आधार पर स्टैनले कुब्रिक और डायने जॉनसन द्वारा लिखित

3) चरित्रों के लिए सहानुभूति

चरित्रों के लिए और उनके माध्यम से महसूस करना किसी भी हॉरर फ़िल्म के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। दर्शक दूर होते हुए भी चरित्रों के माध्यम से कुछ डरावना और भयानक महसूस कर सकते हैं। जब दर्शक मुख्य चरित्र के लिए सहानुभूति महसूस करते हैं और उसके साथ खड़े होते हैं, तो हॉरर मूवी के लिए उससे ज़्यादा संतोषजनक अनुभव और कुछ नहीं हो सकता है।

किसी डरावनी फ़िल्म के लिए यह ज़रूरी है कि उसके दर्शक इस बात की परवाह करें कि चरित्र बचते हैं या मर जाते हैं। अपने चरित्रों को अच्छे से निर्मित करें, ताकि दर्शक उनसे जुड़ सकें और उनका समर्थन कर सकें!

4) हॉरर मूवी में अपने खलनायक पर ध्यान दें

अपने खलनायक पर ध्यान दें! क्योंकि हॉरर मूवी में खलनायक ही सबकुछ होता है! अपने खलनायक की ताकत के आधार पर हॉरर मूवी आबाद या बर्बाद हो सकती है (बॉक्स ऑफिस पर)। अपने खलनायक के लिए आपको बहुत सारी चीज़ों पर विचार करना होता है: आप दर्शकों को उसका विवरण बताते हैं या अँधेरे में रखते हैं? क्या वो हमेशा परछाइयों में छिपे रहते हैं, या हमें उनके अच्छे शॉट देखने को मिलते हैं?

क्या वो किसी ऐसी चीज़ पर आधारित हैं जो पहले से मौजूद है, या कोई असली प्राणी हैं?

काम पर लग जाएं और आज तक का सबसे यादगार खलनायक बनाएं।

5) परिवेश

दर्शकों के लिए तनाव पैदा करने के मामले में परिवेश बहुत बड़ी भूमिका निभा सकता है। ऐसी कोई दूसरी शैली नहीं है जहाँ महसूस करने योग्य परिवेश का इतना ज़्यादा फायदा होता हो।

आप डराने के लिए मंच तैयार करने के लिए परिवेश का उपयोग करना चाहते हैं! एक ऐसी दुनिया का निर्माण करें जिसमें दर्शकों को घबराहट, बेचैनी और डर महसूस हो। एक ऐसा परिवेश बनाने के लिए समय निकालें जो बाद में दर्शकों को डराने के काम आएगा।

6) इसे दोस्तों और परिवार पर परखें!

यह दोस्तों और परिवार पर आजमाने के लिए एक बेहतरीन शैली है। हालाँकि, ज़रूरी नहीं है कि वो पटकथा लेखन में विशेषज्ञ हों, लेकिन उन्हें आपकी पटकथा पढ़ने भर से डर का अनुभव होना चाहिए। इनमें से लगभग सभी उपाय डरावने उपन्यास लिखने में भी काम आते हैं!

भगवान करे आपके शब्द डरवाने और खौंफ से भरपूर हों!

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

लेखक के अवरोध को दूर करें

अपनी रचनात्मकता दोबारा शुरू करने के 10 उपाय

लेखक के अवरोध को दूर करें - अपनी रचनात्मकता दोबारा शुरू करने के 10 उपाय

चलिए, हम सभी मान लेते हैं कि हम ऐसी स्थिति में रह चुके हैं। आखिरकार, आप आराम से बैठकर लिखने का समय निकालते हैं। आप पेज खोलते हैं, कीबोर्ड पर उंगली रखते हैं, और इसके बाद...कुछ नहीं। एक भी रचनात्मक विचार आपके दिमाग में नहीं आता। लेखक का भयानक अवरोध एक बार फिर से वापस आ गया, और आप अटक गए। यह याद रखना जरुरी है कि आप ऐसे अकेले नहीं हैं! दुनिया भर के लेखक हर दिन इस अवरोध का सामना करते हैं, लेकिन इस खालीपन की भावना पर काबू पाकर आगे बढ़ना संभव है! यहाँ अपनी रचनात्मकता को दोबारा प्रवाहित करने के लिए हमारे 10 पसंदीदा उपाय दिए गए हैं: 1. किसी अलग जगह लिखने का प्रयास करें। क्या आप हमेशा अपने डेस्क पर लिखते हैं? या अपने किचन टेबल पर लिखते हैं? इसे बदलें! ...

अपनी पटकथा के पहले 10 पन्ने लिखने के 10 उपाय

अपनी पटकथा के पहले 10 पन्ने लिखने के 10 उपाय

हमारे पिछले ब्लॉग पोस्ट में, हमने आपको पटकथा लेखन के पहले 10 पन्नों के बारे में "मिथक" या वास्तव में कहें तो तथ्य के बारे में बताया। ऐसा नहीं है कि केवल वे महत्वपूर्ण होते हैं, लेकिन जहाँ तक आपकी पूरी पटकथा पढ़े जाने की बात आती है तो निश्चित रूप से वो सबसे ज्यादा मायने रखते हैं। इसपर ज्यादा जानकारी पाने के लिए कृपया हमारे पिछले ब्लॉग पर जाएँ: "मिथक का खंडन: क्या केवल पहले 10 पन्ने अहमियत रखते हैं?" अब जबकि हमें उनकी महत्ता के बारे में अच्छी समझ है तो चलिए उन कुछ तरीकों के बारे में जानते हैं जिनका ध्यान रखकर हम अपनी पटकथा के पहले कुछ पन्नों को शानदार बना सकते हैं! 1. वो दुनिया तैयार करें जिसके चारों ओर आपकी कहानी घूमती है। अपने पाठकों को कुछ संदर्भ प्रदान करें। दृश्य तैयार करें। ...
6

करने के उपायमजबूतलेखन लक्ष्य

मजबूत लेखन लक्ष्य निर्धारित करने के 6 उपाय

चलिए मान लेते हैं कि हम सभी ऐसी स्थिति में रह चुके हैं। हम अपने लिए लेखन के लक्ष्य निर्धारित करने का प्रयास करते हैं, और हम पूरी तरह से विफल हो जाते हैं। जब आपके पास एक दूसरी फुल-टाइम नौकरी होती है, आपको परिवार का ध्यान रखना पड़ता है, या आपके पास दुनिया के सबसे बड़े भटकाव, अर्थात इंटरनेट, का कोई भी एक्सेस होता है तो अपनी पटकथा पर काम करना मुश्किल हो सकता है। आपको बुरा महसूस करने की कोई जरुरत नहीं है; यह हम सबके साथ होता है। चलिए भविष्य की ओर देखते हैं और निराशा की उन भावनाओं को पीछे छोड़ना शुरू करते हैं! चलिए इन 6 उपायों के प्रयोग से कुछ मजबूत लेखन संबंधी लक्ष्य निर्धारित करते हैं! 1. एक कैलेंडर बनाएं - हालाँकि ऐसा लग सकता है कि यह बहुत ज्यादा समय ले रहा है, लेकिन...