पटकथा लेखन ब्लॉग
पर प्रविष्ट किया लेखक विक्टोरिया लूसिया

फ़िल्म का ट्रीटमेंट कैसे लिखें

फ़िल्म का ट्रीटमेंट कैसे लिखें

फ़िल्म का ट्रीटमेंट बैठकर पूरी स्क्रिप्ट लिखने की ज़रूरत के बिना पटकथा के विचारों को बाहर लाने में लेखक की मदद करता है। पटकथा का ट्रीटमेंट किसी कार्यकारी या निर्माता से मिलने पर उसे अपनी स्क्रिप्ट का आईडिया तेज़ी से और छोटे में समझाने के लिए भी एक सहायक सामग्री के रूप में काम करता है। अब जबकि आपको पता चल गया है कि यह कितना फायदेमंद है तो फ़िल्म का ट्रीटमेंट कैसे लिखा जाता है यह जानने के लिए आगे पढ़ें!

अपनी जगह पर बने रहें! हम जल्द ही नए लोगों से लेकर पेशेवरों तक, सीमित संख्या में बीटा टेस्टरों के लिए SoCreate का पटकथा लेखन सॉफ्टवेयर लॉन्च करने वाले हैं। इस पेज से बाहर निकले बिना,

फ़िल्म ट्रीटमेंट क्या है?

फ़िल्म ट्रीटमेंट या स्क्रिप्ट ट्रीटमेंट एक उपयोगी दस्तावेज़ है, जो आपकी स्क्रिप्ट की परिकल्पना को एक लॉगलाइन, कहानी के सारांश और चरित्र विवरणों में बदल देता है। फ़िल्म का ट्रीटमेंट पिचिंग टूल के रूप में प्रयोग करने के लिए या अपनी लेखन प्रक्रिया में योजना बनाने वाले तत्व के रूप में इस्तेमाल करने के लिए पटकथा पूरी होने के बाद या उससे पहले लिखा जा सकता है।

फ़िल्म ट्रीटमेंट कितना लंबा होता है?

फ़िल्म ट्रीटमेंट की लंबाई काफी अलग-अलग हो सकती है। फीचर ट्रीटमेंट 5 से 12 पेजों के बीच हो सकता है, कुछ तो 20 जितने (या उससे भी ज़्यादा) लंबे हो सकते हैं। कुछ लेखक ट्रीटमेंट का छोटा संस्करण बना सकते हैं, जो केवल 1 से 3 पेज लंबा होता है। एपिसोड या सारे सीज़न के आर्क्स के बारे में जानकारी शामिल करने के लिए टीवी का ट्रीटमेंट थोड़ा लंबा हो सकता है।

हालाँकि, ट्रीटमेंट लिखने के बारे में कोई कड़े नियम नहीं हैं, इसलिए लेखक ख़ुद इसकी लंबाई का फैसला कर सकता है। आपको अपना ट्रीटमेंट बस इतना लंबा बनाने की ज़रूरत होती है कि यह आपकी कहानी को किसी व्यक्ति तक अच्छे से पहुंचा सके। व्यक्तिगत तौर पर, मैं अपने ट्रीटमेंट ज़्यादा से ज़्यादा छोटा रखने की कोशिश करती हूँ; मैं किसी दस्तावेज़ को बहुत ज़्यादा लंबा-चौड़ा बनाकर पाठक की दिलचस्पी कम नहीं करना चाहती। मैं अपने ट्रीटमेंट में केवल ज़रूरी जानकारी शामिल करती हूँ ताकि पाठक कहानी को समझ सके और इसके लिए उत्साहित हो सके।

पटकथा का ट्रीटमेंट कैसे लिखें?

ज़्यादातर ट्रीटमेंट में निम्नलिखित सेक्शन और फॉर्मेट होते हैं:

लॉगलाइन

आपकी फ़िल्म का एक वाक्य वाला सारांश होता है।

चरित्र विवरण

अपने मुख्य चरित्रों का विश्लेषण करें और दर्शकों को यह बताकर प्रभावित करें कि उन्हें उन लोगों की परवाह क्यों करनी चाहिए। उन्हें कौन सी चीज़ दिलचस्प बनाती है? उन्हें लोग क्यों पसंद या नापसंद करते हैं? यहाँ पर चरित्र का पूरा विकास ज़रूरी नहीं है।

सारांश

अपनी फ़िल्म का सारांश प्रदान करके अपनी लॉगलाइन बढ़ाएं। आप फ़िल्म की थीम या किसी ऐसे ड्रामेटिक सवाल को शामिल कर सकते हैं, जिसपर आपकी फ़िल्म फोकस कर रही है। आप अपनी कहानी से संबंधित टोन, महत्वपूर्ण परिवेश कारकों, या किसी भी महत्वपूर्ण बैकग्राउंड कारकों का भी उल्लेख कर सकते हैं।

अपने कथानक के प्रत्येक अंक का विश्लेषण

अपनी कहानी को तीन-चरणों में रखने पर पाठक को शुरुआत, मध्य और अंत के बारे में तेज़ी से बताने में मदद मिल सकती है। यह फॉर्मेट लेखक के रूप में, हर अंक में होने वाली चीज़ों को समझने में आपकी भी मदद करता है। किसी अंक का विश्लेषण यह दिखाता है कि कैसे सभी प्रमुख कथानक सूत्र एक साथ आते हैं और लेखकों को अपनी कहानी की बेहतर समझ प्रदान करते हैं - हर एक दृश्य का विश्लेषण करने की कोई ज़रूरत नहीं है।

याद रखें, हर ट्रीटमेंट अलग होता है, इसलिए कुछ में दूसरों से अलग तत्व शामिल हो सकते हैं! यह लेखक के ऊपर है कि वो अपनी परिकल्पना को दूसरों तक पहुंचाने में मदद करने के लिए कौन सी जानकारी शामिल करना चाहता है। उदाहरण के लिए, आपकी पटकथा के साथ किसी बहुत जटिल और विशेष दुनिया का निर्माण जुड़ा हो सकता है। अगर ऐसी बात है तो आपके पास इस दुनिया के बारे में बताने के लिए अलग से एक भाग होना चाहिए, जिसमें कुछ विज़ुअल ट्रीटमेंट के उदाहरण भी शामिल हो सकते हैं।

अंत शामिल करें

आपका ऐसा मन हो सकता है कि आप पाठक को सस्पेंस में रखने के लिए अंत के बारे में ठीक से न बताएं या इसे बीच में छोड़ दें, लेकिन यह सबसे आम गलतियों में से एक है! ट्रीटमेंट में आपको ऐसा नहीं करना चाहिए। आप चाहते हैं कि आपका पाठक शुरू से अंत तक आपकी पूरी पटकथा को समझ सके। इसलिए अंत के बारे में बताना न भूलें। कहानी कैसे ख़त्म होती है? चरित्रों के साथ क्या होता है? क्या फाइनल दृश्य सीक्वल का अवसर देते हैं?

फ़िल्म ट्रीटमेंट चेकलिस्ट

हालाँकि, ट्रीटमेंट की संरचना मुख्य रूप से इसे लिखने वाले व्यक्ति के ऊपर होती है, इसलिए यह बताना मुश्किल है कि इसमें सभी चीज़ों को शामिल कर लिया गया है या नहीं। आपके पास प्रभावशाली ट्रीटमेंट है या नहीं यह जानने का एक असरदार तरीका है इसे अपने दोस्तों या परिवार से पढ़वाना और आपकी फ़िल्म के बारे में उनकी राय जानना।

मेरे पास अपने ट्रीटमेंट के प्रभाव की जांच करने के लिए सवालों की एक श्रृंखला भी है। अगर एक ट्रीटमेंट उनका जवाब दे देता है तो इसका मतलब है कि यह परियोजना की अच्छे से व्याख्या कर रहा है।

  • थीम क्या है?

  • कहानी किस बारे में है?

  • मुख्य चरित्र क्या चाहता है, और संघर्ष उनकी इच्छाओं और चाहतों के साथ कैसे इंटरैक्ट करता है?

  • संघर्ष की वजह से दांव पर क्या लगा है?

  • संघर्ष कैसे सुलझाया जाता है?

  • अंत में चरित्र क्या सीखते, पाते, या खोते हैं?

फ़िल्म स्क्रिप्ट ट्रीटमेंट के उदाहरण और फ़िल्म ट्रीटमेंट टेम्पलेट

जानना चाहते हैं कि यह कैसे किया जाता है? हमने वास्तविक, निर्मित फ़िल्मों से तीन अलग-अलग फ़िल्म स्क्रिप्ट ट्रीटमेंट के उदाहरणों को शामिल किया है ताकि आप देख सकें कि लेखकों ने इसे कैसे तैयार किया है। आप इन्हें फ़िल्म ट्रीटमेंट टेम्पलेट के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं!

पटकथा का ट्रीटमेंट लेखकों के लिए वास्तविक लेखन प्रक्रिया से पहले किसी कहानी के कथानक का पता लगाने और इसे समझने के लिए या विकास प्रक्रिया से पहले दूसरों को अपना विचार दिखाने के लिए एक बेहतरीन उपकरण हो सकता है। एक कहानी का ट्रीटमेंट एक बहुत ही व्यक्तिवादी दस्तावेज़ है, और प्रत्येक लेखक को यह ख़ुद तय करना होगा कि उन्हें ऐसा क्या शामिल करना है जो उनकी कहानी को सबसे अच्छी तरह से व्यक्त करे।

लिखने के लिए शुभकामनाएं!

आपको इसमें भी दिलचस्पी हो सकती है...

पटकथा का सार कैसे लिखें

पटकथा का सार कैसे लिखें

पटकथा का सार लिखने में ऐसा क्या है जो मुझे इसमें इतनी परेशानी होती है? मुझे हाल ही में एक पटकथा का सार लिखना पड़ा था, और मुझे बताते हुए बहुत शर्मिंदगी हो रही है कि इसे पूरा करने में मुझे बहुत ज़्यादा समय लगा। मैं बैठकर यही सोचती रह गयी कि मुझे इसमें क्या शामिल करना चाहिए, मैं परियोजना की भावना को कैसे ज़ाहिर करूँ, और यह सबकुछ तब जबकि ये बस एक पन्ने तक सिमटा हुआ था। कोई भी असली लेखन का काम करने के बजाय मैंने ख़ुद को पहले से कहीं ज़्यादा बेकार में सोशल मीडिया पर खोया हुआ पाया। यह बहुत बुरा था, लेकिन प्यारे पाठकों, मैंने इतना सब इसलिए सहा ताकि...

खोजें अपनी पटकथा में उच्च अवधारणा

अपनी पटकथा में उच्च अवधारणा कैसे खोजें

आपने शायद किसी को यह कहते सुना होगा कि, "वो उच्च अवधारणा वाली फ़िल्म है," लेकिन इसका वास्तव में क्या मतलब होता है? इतने सारे कार्यकारी और स्टूडियो उच्च अवधारणा वाले काम की तलाश में क्यों हैं? आज मैं आपको समझाने वाली हूँ कि असल में उच्च अवधारणा का क्या मतलब होता है और साथ ही आपको यह भी बताऊंगी कि आप अपनी पटकथा में उच्च अवधारणा कैसे ढूंढ सकते हैं। उच्च अवधारणा का क्या मतलब है? किसी "उच्च अवधारणा" वाली फ़िल्म का विचार किसी यादगार और अनोखे हुक का मूलभूत पहलू होता है। यह फ़िल्म किसी चरित्र के बजाय विचार या दुनिया से प्रेरित होती है। इसे बताना आसान होता है, और सबसे बड़ी बात...

खोजे जाएँ पटकथा लेखक के रूप में

पटकथा लेखक के रूप में कैसे खोजे जाएँ

पटकथा लिखने वाले कई महत्वाकांक्षी लोग हॉलीवुड में पटकथा लेखक बनने का सपना देखते हैं। मान लीजिये, आपका सपना भी यही है। ऐसे में, आपके पास निम्नलिखित होने की संभावना है – फ़िल्म या टेलीविज़न के लिए पक्का जुनून, कई पूरी की गयी पटकथाएं जिन्हें आप दुनिया के सामने लाने के लिए बेताब हैं, और अपने मन में करियर से जुड़े लक्ष्य जिन्हें आप अपने लेखन के माध्यम से पूरा करना चाहते हैं। आपको लगता है कि आप सही रास्ते पर जा रहे हैं! लेकिन सफलता के नुस्खे में एक अप्रत्यक्ष चीज़ भी शामिल है: इंडस्ट्री में घुसना! मैं इस इंडस्ट्री में कैसे आऊं? पटकथा लेखक के रूप में खोजे जाने के तरीकों के बारे में सुझाव पाने के लिए आगे पढ़ें...